कोरोना वायरस पेरोल पर जेल से बाहर आया शख्स, पुलिसकर्मी की पत्नी को उतार दिया मौत के घाट

Man stabbed a policeman’s wife to death: आरोपी ने पुलिसकर्मी की पत्नी की सिर्फ इसलिए हत्य कर दी क्योंकि उसने अपने बेटे से मिलने की अनुमति नहीं दी।

knife
सांकेतिक फोटो  |  तस्वीर साभार: Getty Images

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के नागपुर में एक अंडर ट्रायल कैदी द्वारा एक पुलिसकर्मी की पत्नी की हत्या करने का मामला सामने आया है। आरोपी कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर हाल ही में पैरोल पर रिहा हुआ था। आरोपी की पुलिसकर्मी के बेटे से दोस्ती थी। वह पुलिसकर्मी के बेटे से मिलने उसके घर गया था जहां उसने वारदात को अंजाम दिया। पुलिसकर्मी की पत्नी ने आरोपी को अपने बेटे से मिलने की इजाजत नहीं दी जिसके बाद उसने चाकू से हमला कर दिया। इस दौरान पुलिसकर्मी का बेटा भी घायल हो गया। आरोपी की पहचान नवीन गोटाफोडे के तौर पर हुई है।

केंद्रीय कारागार से रिहा हुआ

पुलिस इंस्पेक्टर संदीपन पवार ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया, 'आरोपी नवीन गोटाफोडे ने शनिवार को शहर के नंदनवन इलाके में कॉन्स्टेबल अशोक मुले की पत्नी पर चाकू से हमला किया। उसने यह हमला पुलिसकर्मी के बेटे से मिलने की इजाजत देने से इंकार करने के बाद सुबह करीब 10.30 बजे किया। इसके बाद महिला को अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।' गोटाफोडे वाहन चोरी के आरोप में जेल में था और हाल ही में केंद्रीय कारागार से पैरोल पर रिहा हुआ था।

'मुले का बेटा आरोपी का क्लासमेट है'

पवार ने कहा, 'शनिवार की सुबह आरोपी अशोक मुले के घर उसके बेटे नवीन से मिलने गया। मुले का बेटा नवीन आरोपी का क्लासमेट है। अशोक की 52 वर्षीय पत्नी सुशीला ने आरोपी को अपने बेटे से मिलने की अनुमति देने से इंकार कर दिया। इसके बाद गोटाफोडे नाराज हो गया और उसने महिला की गर्दन पर चाकू से हमला कर दिया। उसके बेटे नवीन ने आरोपी को पकड़ने की कोशिश की लेकिन उसने उस पर भी हमला कर दिया, जिससे वह घायल हो गया। आरोपी हमला करने के बाद मौके से भागने में सफल रहा।'

पुलिस ने चलाया तलाशी अभियान

अशोक मुले क्राइम ब्रांच से जुड़े कॉन्स्टेबल हैं। संयुक्त पुलिस आयुक्त रवींद्र कदम ने कहा, 'हत्या के मामले में गोटाफोडे पहले ही जमानत पर था।' यह पूछे जाने पर कि ऐसे अपराधी का कॉन्स्टेबल का बेटा दोस्त कैसे हो सकता है, इसपर कदम ने कहा, 'हम इसकी आगे जांच कर रहे हैं।' पुलिस ने गोटाफोडे को पकड़ने के लिए एक तलाशी अभियान चलाया है। बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस खतरनाक वायरस से बचाव के लिए राज्य में कई कैदियों को पैरोल पर छोड़ा गया।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर