OTT प्लेटफार्म पर अश्लील फिल्मों का पाकिस्तानी कनेक्शन, मध्य प्रदेश से सामने आया मामला

Men run porn OTT service in MP: मध्य प्रदेश में अश्लील ओटीटी सेवा प्लेटफार्म का भंडाफोड़ हुआ है,इससे जुड़े छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है, इसका पाकिस्तान से भी कनेक्शन निकला है।

Madhya Pradesh Men run porn OTT service with help of Pakistan man six arrested in connection with this
ओवर-द-टॉप (OTT) मीडिया सेवा है जो इंटरनेट के माध्यम से दर्शकों तक सीधे पेश की जाती है 

मध्य प्रदेश पुलिस ने एक ओवर-द-टॉप (OTT) सर्विस का भंडाफोड़ किया है, जिसका इस्तेमाल पोर्न सामग्री प्रसारित करने के लिए किया जा रहा था,पोर्न ओटीटी सेवा पाकिस्तान के एक नागरिक की मदद से चलाई जा रही थी। पुलिस ने एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया। आरोपियों की पहचान ग्वालियर के सॉफ्टवेयर इंजीनियर 30 वर्षीय दीपक सैनी और मुरैना जिले के 27 वर्षीय केशव सिंह के रूप में हुई है।

मध्यप्रदेश की साइबर पुलिस ने बुधवार को खुलासा किया कि अश्लील फिल्मों का एक ओटीटी प्लेटफॉर्म चलाने वाले दो आरोपियों ने आठ महीने में ग्राहकी शुल्क के रूप में करीब 1.4 करोड़ रुपये कमाये हैं।

राज्य साइबर सेल की इंदौर इकाई के पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह ने बताया, 'हमने संबंधित ओटीटी प्लेटफॉर्म के सर्वर का लेखा-जोखा हासिल किया है। इसके मुताबिक ओटीटी प्लेटफॉर्म के ग्राहकी शुल्क के रूप में इस साल एक जनवरी से 26 अगस्त के मध्य लगभग 1.4 करोड़ रुपये ऑनलाइन वसूले गये हैं।'

"ग्वालियर से अश्लील फिल्मों का कारोबार चला रहे थे"

ओवर-द-टॉप (OTT) मीडिया सेवा है जो इंटरनेट के माध्यम से दर्शकों तक सीधे पेश की जाती है। सिंह ने बताया कि ओटीटी प्लेटफॉर्म चलाने वाली एक निजी कम्पनी के दो निदेशकों - दीपक सैनी और केशव सिंह  को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के संबद्ध प्रावधानों के तहत मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था। वे ग्वालियर से अश्लील फिल्मों का कारोबार चला रहे थे।कोविड-19 की लॉकडाउन अवधि के दौरान दोनों आरोपियों को ओटीटी प्लेटफॉर्म से सबसे ज्यादा कमाई हुई। वे इस प्लेटफॉर्म के ग्राहकों से हर महीने 249 रुपये का शुल्क वसूलते थे। 

इन्स्टाग्राम और ट्विटर पर इस ओटीटी प्लेटफॉर्म की ब्रांडिंग की जा रही थी

पुलिस अधीक्षक ने बताया, 'आरोपियों के ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अश्लील फिल्मों का प्रसारण किया जाता है। अब तक की जांच से पता चला है कि इसके ग्राहक भारत समेत 20 से ज्यादा देशों में फैले हैं।' उन्होंने बताया कि इन्स्टाग्राम और ट्विटर जैसे बड़े सोशल मीडिया मंचों पर इस ओटीटी प्लेटफॉर्म की ब्रांडिंग भी की जा रही थी, ताकि दुनिया भर में नये ग्राहक बनाये जा सकें। सिंह ने बताया, "हमें पता चला है कि दोनों आरोपी साइबर संसार में अश्लील फिल्मों का एक और ओटीटी प्लेटफॉर्म उतारने की तैयारी में थे।"

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि वेब सीरीज बनाने का झांसा देकर युवतियों से अश्लील फिल्मों में काम कराने वाले अंतरप्रांतीय गिरोह के खिलाफ जारी जांच में मिले सुरागों के आधार पर दोनों आरोपियों को पकड़ा गया। इस गिरोह के चार सदस्यों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि जांच के घेरे में आये ओटीटी प्लेटफॉर्म को पाकिस्तान के हुसैन अली नामक व्यक्ति की कथित तकनीकी मदद से विकसित किया गया था और पड़ोसी मुल्क का यही नागरिक इसके रख-रखाव का काम भी कर रहा था ।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर