Haryana : 10 साल की बच्ची के साथ 7 लड़कों ने किया गैंगरेप, 6 की उम्र 10 से 12 साल के बीच 

हरियाणा के रेवाड़ी में एक शर्मनाक घटना सामने आई है। यहां सात लड़कों ने 10 साल की एक मासूम लड़की को अपनी हवस का शिकार बनाया। हैरान करने वाली बात यह है कि इनमें से छह लड़के 10 से 12 साल के हैं।

Haryana : Seven boys gangrape 10 years old girl in Rewari
रेवाड़ी में मासूम के साथ सामूहिक दुष्कर्म। -प्रतीकात्मक तस्वीर  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • हरियाणा के रेवाड़ी में 10 साल की लड़की के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है
  • लड़की के साथ 7 लड़कों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, एक आरोपी की उम्र 18 साल
  • लड़कों ने घटना का वीडियो बनाकर सर्कुलेट किया, मेडिकल में दुष्कर्म की पुष्टि हुई

गुरुग्राम : हरियाणा के रेवाड़ी में एक बच्ची के साथ दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां गत 24 मई को लड़कों के एक समूह ने स्कूल की इमारत में 10 साल की एक बच्ची के साथ गैंगरेप किया। इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद यह मामला सामने आया है। गैंगरेप में शामिल एक या उससे ज्यादा लड़कों ने घटना का वीडियो शेयर किया जिसके बाद यह वीडियो पीड़ित लड़की के एक पड़ोसी तक पहुंचा। बाद में पड़ोसी ने पीड़ित परिवार को इस बारे में सूचित किया। 

पुलिस ने केस दर्ज किया
टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक लड़की की पिता की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। रेवाड़ी (मुख्यालय) के डीएसपी हंसराज ने कहा कि सभी सातों आरोपियों के खिलाफ आईटी एक्ट, एससी,एसटी एक्ट, पॉक्सो एक्ट,आईपीसी की धारा  376डी, 354सी और 506 के तहत केस दर्ज किया गया है। हैरान करने वाली बात यह है कि सात आरोपियों में से महज एक की उम्र 18 साल है बाकी लड़कों की उम्र 10 से 12 साल के बीच है।    

सर्कुलेट हुआ वीडिया लड़की के पड़ोसी तक पहुंचा 
पुलिस अधिकारी ने बताया कि वीडियो देखने के बाद पड़ोसियों ने आरोपी लड़कों की पहचान कर ली। उन्होंने कहा, 'हमारे सामने मामला सामने आने पर हमने तुरंत मामले को दर्ज करते हुए आरोपियों को पकड़ लिया। आरोपी और पीड़ति लड़की एक ही इलाके मेंं रहते हैं।' पुलिस ने छह आरोपियों को पुलिस हिरासत में रखा है, इनमें 18 साल का लड़का भी शामिल है। छह नाबालिग लड़कों को जुवेनाइड जस्टिस बोर्ड में पेश करने के बाद इन्हें सुधार गृह भेज दिया गया। जबकि 18 साल के नाबालिग लड़के को कोर्ट ने जेल भेज दिया। पुलिस वीडियो में नजर आए नाबिलग लड़के की तलाश कर रही है। 

रेवाड़ी के एक गांव में रहता है आरोपी और लड़की का परिवार
डीएसपी ने कहा, 'वीडियो शेयर करने वाले व्यक्ति की पुलिस पहचान करने में जुटी है।' पुलिस अधिकारी का कहना है कि इस तरह का वीडियो शेयर करना आपराधिक कृत्य है। पीड़ित लड़की का परिवार और आरोपी रेवाड़ी के एक गांव में रहते हैं और सभी एक-दूसरे को जानते हैं। गांव के लड़के जहां खेलते हैं, स्कूल की इमारत उसके बगल में है। कोरोना महामारी की वजह से स्कूल बंद है। 

मेडिकल में दुष्कर्म की पुष्टि
पुलिस का कहना है कि किसी भी लड़के ने इस वारदात की जानकारी अपने घरवालों को नहीं दी। लड़की ने भी अपने साथ हुए दुष्कर्म की इस घटना को किसी से नहीं बताया। घटना के बाद आरोपी लड़के बाकी दिनों की तरह अपनी दिनचर्या में लग गए। कुछ दिन बाद उन्होंने गैंगरेप का वीडियो आपस में सर्कुलेट किया। इसी दौरान यह वीडियो लड़की के पड़ोसी के फोन पर आया। पड़ोसी ने इस घटना की जानकारी लड़की के पिता को दी। पुलिस का कहना है कि उसने लड़की का मेडिकल कराया जिसमें उसके साथ दुष्कर्म होने की पुष्टि हुई। 

(सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देश और निजता का पालन करते हुए पीड़ित लड़की की पहचान उजागर नहीं की गई है।)

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर