गाजियाबाद: पति-पत्नी ने किया सुसाइड, 8 महीने के बच्चे को छोड़ गए अकेला, रिलेटिव को किया था ये मैसेज

Ghaziabad couple suicide: गाजियाबाद में पति और पत्नी दोनों ने आत्महत्या कर ली और अपने 8 महीने के बच्चे को अकेला छोड़ गए। मरने से पहले महिला ने अपनी बहन को एक मैसेज भी किया।

suicide
पति पत्नी ने की आत्महत्या 

मुख्य बातें

  • पति और पत्नी दोनों के शव घर में पाए गए
  • सुसाइड ने पहले महिला ने अपनी बहन को मैसेज कर जानकारी दी
  • पुलिस कारण पता करने की कोशिश कर रही है

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के इंदिरापुरम इलाके में शुक्रवार सुबह एक 30 वर्षीय सेल्स मैनेजर और उसकी 28 वर्षीय पत्नी को उनके फ्लैट में मृत पाया गया। पुलिस ने कहा कि दंपति का 8 महीने का बच्चा है। इसके अलावा इतना बड़ा कदम उठाने से पहले दंपति ने ग्रेटर नोएडा में एक रिश्तेदार को मैसेज भेजा, जिसमें लिखा था कि वो बच्चे को ले जाएं। दोनों ने फांसी लगाकर आत्महत्या की।

पुलिस ने कहा कि दंपति बिहार के पटना के मूल निवासी थे और लगभग 8-10 महीने पहले इंदिरापुरम में किराए के फ्लैट में शिफ्ट हुए थे। नोएडा में एक कंपनी में नौकरी करने वाला यह शख्स लॉकडाउन के दौरान घर से काम कर रहा था, जबकि उसकी पत्नी गृहिणी थी।

अंशु जैन, सर्कल ऑफिसर (इंदिरापुरम) ने कहा, 'उसके (महिला के) फोन से ग्रेटर नोएडा में उसकी बहन को 3.45 बजे के आसपास एक एसएमएस भेजा गया था। संदेश में उसने अपनी बहन को सुबह जल्दी आने और बच्चे को लेने के लिए कहा। मैसेज मिलने के बाद उसकी बहन घबरा गई और उसने शुक्रवार सुबह 6 बजे के आसपास इंदिरापुरम में रहने वाली अपनी एक दोस्त को उनके फ्लैट में भेजा।'

दोस्त जब दंपति के फ्लैट पहुंची तो उसने मुख्य दरवाजे को खुला पाया और अंदर जाकर देखा कि महिला अपने कमरे में मृत थी और बच्चा पास में ही था। इसके बाद उसने पड़ोसियों को बुलाया और पुलिस को जानकारी दी। निरीक्षण के बाद पुलिस ने पाया कि आदमी भी दूसरे कमरे में मृत पड़ा था। पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। 

जैन ने कहा, 'हमें अभी तक इसके पीछ कोई मकसद समझ नहीं आया है। बच्चे को मृतक महिला की बहन द्वारा ले जाया गया और दोनों शवों को शव परीक्षण के लिए भेज दिया गया। हमें परिवार के किसी भी सदस्य द्वारा इस घटना की अब तक कोई शिकायत नहीं मिली है।'

अगली खबर