'व्हाट्सऐप ग्रुप, पांच सितारा होटल और...' सेक्स रैकेट में फंसी पीड़िता की दास्तां

क्राइम
किशोर जोशी
Updated Mar 19, 2021 | 12:28 IST

दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे ऑनलाइन सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है जिसका संचालन व्हाट्स ऐप के जरिए होता था। पुलिस ने 2 महिलाओं समेत 4 को गिरफ्तार किया है।

Delhi Online sex racket busted, including 2 women four arrested
सेक्स रैकेट में फंसी पीड़िता ने सुनाई अपनी दास्तां 

मुख्य बातें

  • दिल्ली पुलिस ने किया एक सेक्स रैकेट का पर्दाफाश
  • ऑनलाइन व्हाट्सऐप ग्रुप्स के जरिए ग्राहकों को सेवा मुहैया कराता था यह गिरोह
  • नाबालिग लड़की के अपहरण की गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस को मिली सफलता

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ किया है जो अपने ग्राहकों को ऑनलाइन सेवा मुहैया कराता था। पुलिस ने इस गिरोह का खुलासा करते हुए 2 लड़कियों समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। दरअसल इसी साल जनवरी में दिल्ली के रजौरी गार्डन से एक नाबालिग बच्ची का अपहरण हो गया था जिसके बाद उसके परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी और इस मामले की जांच करते करते पुलिस के हाथ सेक्स रैकेट के सरगनाओं तक पहुंच गए। पीड़ित नाबालिग को पुलिस ने छुड़ा लिया है।

नाबालिग के अपहरण की गुत्थी सुलझाई

पुलिस ने नाबालिग लड़की अपहरण की गुत्थी सुलझाते हुए ऑनलाइन के जरिए चलने वाले देशव्यापी सेक्स रैकेट का खुलासा किया है। इस गिरोह के लोग लड़कियों को अगवा कर उन्हें देह व्यापार के दलदल में धकेल देते थे और फिर उन्हें बंधक तक बना लेते थे। ये गिरोह बड़े ही शातिर तरीके से अपने काम को अंजाम देता था और लड़कियों को पांच सितारा होटलों से लेकर एस्कॉर्ट सर्विस तक के लिए भेजा जाता था।

150 से ज्यादा व्हाट्स ऐप ग्रुप
इस गैंग के मेंबर 150 से अधिक व्हाट्स ऐप ग्रुपों पर सक्रिय हैं जो ऑनलाइन के माध्यम से ग्राहकों की पहचान करते थे फिर उन्हें लड़कियों की तस्वीरें दिखाकर रकम वसूलते थे और तय जगह पर सुविधा मुहैया कराते थे। पुलिस ने जिन चार आरोपियों को इस मामले में अरेस्ट किया है उनमें दो शक्स यूपी के मुराबादबाद और मुजफ्फरनगर के हैं जबकि दो महिलाएं सपना गोयल तथा कनिका रॉय दिल्ली की रहने वाली हैं।

ऐसे आए पकड़ में
दरअसल दिल्ली के कापसहेड़ा के रहने वाले शख्स ने 22 जनवरी को अपनी 12 साल की बेटी को अगवा किए जाने की शिकायत थाने में दर्ज कराई थी जिसके बाद पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी की थी। पुलिस स्थानीय लोगों की मदद लेने के साथ- साथ सोशल मीडिया पर भी नजर बनाए हुए थी। पुलिस को इस दौरान पता चला कि लड़की को किसी एस्कॉर्ट गिरोह ने अगवा किया हैं। इसके बाद पुलिस ने मजनू का टीला पर छापा मारा तो अपह्रत लड़की मिली। इस गिरोह के व्हाट्स ग्रुप्स पर हजारों लोग जुड़े हुए हैं। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर