बदायूं गैंगरेप-मर्डर : ट्रॉमा में महिला का पति, पत्‍नी को बुलाने की जिद में फोड़ लिया सिर

क्राइम
Updated Jan 13, 2021 | 10:16 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

उत्‍तर प्रदेश के बदायूं में 50 वर्षीया महिला के साथ दरिंदगी और उसकी निर्मम हत्‍या के बाद उसके पति की हालत खराब हो रही है। उसे गहरा मानसिक आघात पहुंचा है और इसी सदमे में उसने दीवार से पटककर अपना सिर फोड़ लिया।

बदायूं गैंगरेप-मर्डर : ट्रॉमा में महिला का पति, पत्‍नी को बुलाने की जिद में फोड़ लिया सिर
बदायूं गैंगरेप-मर्डर : ट्रॉमा में महिला का पति, पत्‍नी को बुलाने की जिद में फोड़ लिया सिर  |  तस्वीर साभार: Representative Image

बदायूं : उत्‍तर प्रदेश के बदायूं में 50 वर्षीय महिला के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म और बेरहमी से उसकी हत्या की वारदात से हर काई सकते में है। महिला के प्राइवेट पार्ट में रॉड डालकर कपड़ा ठूंस दिया गया था और दरिंदों ने उसकी पीठ और पैर भी तोड़ दिए थे। महिला की इस हालत से उसका परिवार भयानक सदमे से गुजर रहा है। खास तौर पर उसके पति की हालत बहुत खराब है और वह पत्‍नी को वापस बुलाने की जिद पर अड़ा है। इसी सदमे में उसने दीवार पर पटककर अपना सिर भी फोड़ लिया।

मेंटल ट्रॉमा की हालत में पति को मंगलवार को बरेली के मानसिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। डॉक्‍टर्स का कहना है कि उन्‍हें गहरा मानसिक आघात पहुंचा है, जिसके कारण उन्‍होंने यह गंभीर कदम उठाया। फिलहाल डॉक्‍टर्स ने उन्‍हें 15 दिनों के लिए दवा दी है और परिजनों को उनकी हालत पर नजर रखने के लिए कहा है। शख्‍स के दामाद ने बताया कि सोमवार को किस तरह उसके ससुर अचानक नींद से जगे और फिर बदहवाशी में अपनी पत्‍नी के बारे में पूछने लगे।

बदहावाशी की हालत में पति

'टाइम्‍स ऑफ इंडिया' की रिपोर्ट के मुताबिक, दामाद ने बताया कि सोमवार दोपहर ससुर अपने कमरे में सो रहे थे। अचानक उन्‍होंने जोर से चीखना शुरू कर दिया और अपनी पत्‍नी के बारे में पूछताछ करने लगा। बदहवाशी की हालत में वह इधर-उधर हर जगह अपनी पत्‍नी की तलाश करने लगे। घरवालों ने उन्‍हें पकड़ने और शांत करने की बहुत कोशिश की, लेकिन वे उन्‍हें संभाल नहीं पा रहे थे। इसी बीच उन्होंने कोयले से भरी अंगीठी उठा ली और घर से बाहर निकल गए।

उनकी इस हालत से घबराए घरवाले किसी तरह उन्‍हें पकड़क भीतर लाए, लेकिन वह अंदर आकर भी शांत नहीं हुए और दीवार पर अपना सिर पटकना शुरू कर दिया। घर वालों ने किसी तरह उन्‍हें रोका। लेकिन इससे उनके सिर में गहरी चोट लगी। उन्‍हें स्‍थानीय अस्‍पताल ले जाया गया, जहां से मंगलवार को उन्‍हें बरेली के मानसिक अस्‍पताल रेफर कर‍ दिया गया। वहां डॉक्‍टर ने बताया कि उन्‍हें गहरा मानसिक आघात लगा है और वह पोस्‍ट-ट्रॉमेटिक शॉक की स्थिति में हैं।

पत्‍नी से थी जबरदस्‍त बॉन्डिंग

डॉक्‍टर्स के मुताबिक, फिलहाल उन्‍हें 15 दिन दवा पर रखना होगा। इसके बाद ही उनकी हालत को देखते हुए आगे का निर्णय लिया जाएगा। इस दवा से उनकी हालत में फौरी सुधार बताया जा रहा है। अस्पताल में उनका सीटी स्कैन भी कराया गया। शख्‍स के दामाद का कहना है कि उन्‍होंने अपनी शादी के बाद सास और ससुर के बीच जबरदस्‍त बॉन्डिंग देखी। सास, ससुर का पूरा ध्‍यान रखती थीं। एक तरह से उन्‍हें उनकी आदत सी पड़ी है।

दामाद ने यह भी बताया कि कुछ साल पहले जब ससुर बीमार पड़ गए थे, तबसे सास ने उनका और ज्यादा ध्यान रखना शुरू कर दिया था। परिवार चलाने, बच्चों को संभलने, पति की देखभाल जैसे सारे काम सास की करती थीं। उन्‍होंने पत्‍नी का जब से खून से लथपथ शव देखा है, उनके दिमाग पर इसका गहरा असर हुआ है। बताया जा रहा है कि महिला का शव इसी अवस्‍था में 48 घंटे तक घर के बाहर पड़ा रहा, जिसने उन्‍हें अंदर से तोड़कर रख दिया।

यहां उल्‍लेखनीय है कि बीते रविवार को महिला मंदिर में पूजा करने के लिए गई थी, जिसके बाद से ही उसके बारे में कोई जानकारी घरवालों को नहीं मिल सकी थी। बाद में महिला का शव उसके घर के बाहर मिला था। वारदात के पीछे मंदिर के पुजारी और उसके साथियों का हाथ बताया जा रहा है। पुलिस ने मुख्‍य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। परिजनों का आरोप है कि बार-बार बुलाने पर भी पुलिस नहीं पहुंची और पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में दरिंदगी की पुष्टि के बाद ही केस दर्ज किया गया।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर