फेक कस्टमर केयर पर कॉल करना पड़ा भारी, मोबाइल का लिया एक्सेस और निकाल लिए 75000 रुपए

Gurugram: साइबर धोखाधड़ी के शिकार रूपेंद्र कुमार ने कहा कि धोखेबाज ने उसे एक रिमोट ऐप डाउनलोड करने के लिए कहा, जिसके माध्यम से उसने उनके फोन की पहुंच प्राप्त की और पैसे निकाल लिए।

Cyber crime
ठगी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं 

देशभर में ऑनलाइन ठगी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। नया मामला हरियाणा के गुरुग्राम से आया है। यहां एक शख्स से करीब 75000 रुपए की लूट हुई है। गुरुग्राम निवासी ने एक ई-कॉमर्स वेबसाइट के रूप में विज्ञापित एक नकली ग्राहक सेवा नंबर पर कॉल किया, जिसके बाद उसके साथ कथित तौर पर 74,966 रुपए की धोखाधड़ी की गई।

पीड़ित की पहचान 45 साल के रूपेंद्र कुमार के रूप में हुई है, जिसने सेक्टर 10 पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। मंगलवार शाम को भारतीय दंड संहिता की धारा 379 (चोरी) और 420 (धोखाधड़ी) के तहत मामला दर्ज किया गया है।
 पीड़ित ठेकेदार के रूप में काम करता है। उन्होंने 13 जनवरी को एक स्मार्टफोन ऑनलाइन ऑर्डर किया था। हालांकि, उन्हें मैसेज मिला कि 17 जनवरी को ई-कॉमर्स वेबसाइट पर तकनीकी त्रुटि के कारण प्रेषक को ऑर्डर वापस कर दिया गया। 

पीड़ित ने बताया कि उसने इंटरनेट से कथित कस्टमर केयर नंबर प्राप्त किया और उसे डायल किया। रूपेंद्र कुमार के अनुसार, दूसरे पक्ष के व्यक्ति ने उसे बताया कि उसने राशि वापस करने का प्रयास किया लेकिन दो बार असफल रहा। बाद में धोखेबाज ने रूपेंद्र को एक और नंबर दिया और नेटवर्क समस्या के बहाने उस नंबर पर कॉल करने के लिए कहा।

Delhi: भारत सरकार की फर्जी वेबसाइट बनाकर लोगों के साथ कर रहे थे ठगी, चढ़े पुलिस के हत्थे

ठगी के पीछे एक गिरोह

वो कहते हैं कि जब मैंने नए नंबर पर कॉल किया, तो उसने मुझे एक एप्लिकेशन डाउनलोड करने के लिए कहा, जिससे उसे मेरे फोन का रिमोट एक्सेस मिल सके। फिर फोन करने वाले ने मेरे फोन को हैक कर लिया और तीन लेनदेन में मेरे खाते से 74,966 रुपए अलग-अलग खातों में स्थानांतरित कर दिए। पुलिस के अनुसार, साइबर ठग इंटरनेट पर प्रमुख ई-कॉमर्स वेबसाइटों के 'कस्टमर केयर नंबर' के रूप में शुल्क देकर अपने नंबरों का विज्ञापन करते हैं। पुलिस ने कहा कि कई लोगों को इसी तरह से ठगा गया है और माना जाता है कि धोखाधड़ी के पीछे एक ही गिरोह है।

तेजप्रताप यादव के साथ धोखाधड़ी, कंपनी स्टाफ ने की 71,000 रुपए की ठगी

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर