पत्नी छोड़कर गई तो शख्स ने उठाया खौफनाक कदम, तीन बच्चों की हत्या कर बाद में खुद दी जान

आरोपी कैलाश परमार पिछले काफी समय से परेशान चल रहा है औऱ 45 दिन पहले जब पत्नी छोड़कर चले गई तो वह और परेशान हो उठा था।

A 35-year-old man from Mumbai ended his life around 45 days after his wife left him
पत्नी छोड़कर गई तो शख्स ने उठाया खौफनाक कदम 

मुख्य बातें

  • 35 साल का आरोपी कैलाश परमार पिछले काफी समय से चल रहा था परेशान
  • 45 दिन पहले कैलाश की पत्नी घर छोड़कर चले गई थी, तीन बच्चों के साथ रहता था कैलाश
  • आरोपी ने सोए हुए बच्चों पर चाकू से हमला कर उतारा मौत के घाट

मुंबई: मुंबई से सटे नालासोपारा में शनिवार रात एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई हैं जहां एक शख्स ने अपने तीन बच्चों की धारदार हथियार से बेरहमी से हत्या कर दी और बाद में खुद आत्महत्या कर ली। मारे गए शख्स की पहचान कैलाश परमाार के रूप में हुई है। कैलाश की पत्नी कुछ दिन पहले उसे छोड़कर चली गई थी जिसके बाद वह उदास रहने लगा और इसी वजह से उसने शनिवार को ये खौफनाक कदम उठाते हुए अपनी जीवन लीला भी समाप्त कर दी।   

बच्चों की निर्मम तरीके से हत्या

कैलाश नालासोपारा में किराये के घर में रहता है। यह घटना शनिवार को रात करीब 8.30 बजे सामने आई। कैलाश की पत्नी करीब 45 दिन पहले घर छोड़कर चले गई थी। कैलाश ने कथित तौर पर अपने तीन बच्चों- 12 वर्षीय बेटे,और दो बेटियों को भी चाकू मार दिया। संदेह जताया जा रहा है कि कैलाश ने बच्चों पर उस समय चाकू से हमला किया जब वो नींद में थे। पुलिस के अनुसार कैलाश  ने पहले छत के पंखे से लटककर अपनी जीवन लीला समाप्त करने का प्रयास किया। हालांकि, जब जब वह इसमें सफल नहीं हुआ, तो उसने अपने जीवन को समाप्त करने के लिए चाकू का इस्तेमाल किया।

पत्नी के जाने के बाद था उदास

कैलाश के पिता विजु ने दावा किया कि पत्नी के उनके चले जाने के बाद कैलाश उदास हो गया था। दरअसल एक महीने पहले कैलाश उस समय परेशान हो गया था जब उसने देखा कि उसकी पत्नी की तस्वीर सोशल मीडिया पर आई है और वह किसी अन्य शख्स के साथ थी। शनिवार की शाम लगभग 4 बजे, विजु ने कैलाश के दरवाजे पर दस्तक दी, उसे चाय पीने के लिए कहा। हालांकि, कैलाश ने अपने पिता को बताया कि उनके बच्चे सो रहे थे और वह बाद में आएगा।

आरोपी के पिता पहुंचे थे घर पर

 द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, रात लगभग 8.30 बजे, विजू फिर से कैलाश के घर गए। जब विजु ने दरवाजा खटखटाया तो कोई आवाज नहीं आई फिर उन्होंने पड़ोसियों को मदद के लिए बुलाया। पड़ोसियों ने दरवाजा खोलने में विजू की मदद की। जैसे ही दरवाजा खुला तो कैलाश खून से लथपथ था और साथ में तीन बच्चों के खून से लथपथ शव भी बगल में पड़े थे।

अगली खबर