MP: गुना में शिकारियों ने SI समेत 3 पुलिसकर्मियों को गोलियों से भूना, शिवराज ने किया 1 करोड़ मुआवजे का ऐलान

मध्य प्रदेश के गुना में पुलिस और काले हिरण के शिकारियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई है, जिसमें तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। मामले पर सीएम ने खुद संज्ञान लिया है।

3 Police personnel including SI of Aron police station shot dead by poachers in the forest in Guna, MP
MP:गुना में काले हिरण के शिकारियों का कहर, SI समेत 3 पुलिसकर्मियों को गोलियों से भूना 
मुख्य बातें
  • मध्य प्रदेश के गुना फॉरेस्ट में में पुलिस और बदमाशों की बीच मुठभेड़
  • शिकारियों ने पुलिसकर्मियों पर गोलियां बरसाई, तीन की मौत
  • आरोपी शिकारी काले हिरण का शिकार कर ले जा रहे थे

Guna News: मध्य प्रदेश के गुना के आरोन थाना क्षेत्र के जंगल में शिकारियों ने कत्लेआम मचाया है। काले हिरन के शिकारियों ने गुना के आरोन थाने के एसआई, हेड कांस्टेबल व आरक्षक समेत 3 पुलिस कर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी। गुना के एसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि पुलिस टीम पर शिकारियों ने अचानक से हमला किया जिसमें तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। मृतकों के नाम सब इंस्पेक्टर राजकुमार जाटव, आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम हैं।

गुना गोलीबारी: IG पर गिरी गाज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने मुआवजे का ऐलान करते हुए कहा, 'मारे गए पुलिसकर्मियों को शहीद का दर्जा दिया जाएगा और उनके परिवारों को 1 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। उनके प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी। उनका अंतिम संस्कार पूरे सम्मान के साथ किया जाएगा। घटना के बाद देर से पहुंचने पर ग्वालियर के आईजी को तत्काल हटाने का फैसला किया गया है। अपराधियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा, उनके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। तीनों पुलिस कर्मियों - राजकुमार जाटव, नीरज भार्गव और संतराम का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। मैं उनके बलिदान का सम्मान करता हूं।'

गृह मंत्री का बयान

इस घटना पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, 'घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। पुलिस को कुछ अपराधियों के बारे में सूचना मिली थी और उन्होंने उन्हें घेर लिया। खुद को घिरा पाकर अपराधियों ने फायरिंग शुरू कर दी। ड्यूटी के दौरान एक एसआई सहित 3 पुलिसकर्मियों की जान चली गई। हम  अपराधियों को जल्द ही पकड़ लेंगे और सख्त कार्रवाई की जाएगी। एक मोर के शव के साथ हिरण के 5 सिर और 2 शव बरामद किए गए। ऐसा लगता है कि वे शिकारी थे।'

सीएम ने बुलाई बैठक

घटना शुक्रवार देर रात की बताई जा रही है। पुलिस और शिकारियों के बीच हुईं भिडंत की दुर्भाग्यपूर्ण घटना को लेकर मुख्यमंत्री ने  मुख्यमंत्री आवास पर आज सुबह 9.30 बजे आपात उच्चस्तरीय बैठक बुलाई थी। इस बैठक में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा और डीजीपी सहित तमाम पुलिस अधिकारी मौजूद रहे। गुना जिले के अधिकारियों ने भी इस दौरान वर्चुअल माध्यम से बैठक में शिरकत की। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि गुना के पास अपराधियों की गोलीबारी में पुलिस के तीन जांबाज अफसर और कर्मचारी ने बलिदान दे दिया। अपराधियों को छोड़ा नहीं जाएगा। 

गुप्ता सूचना के आधार पर पुलिस गई पकड़ने

जो खबर सामने आ रही है उसके मुताबिक देर रात पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि कुछ लोग काला हिरण का शिकार करने आए हैं, जिसके बाद पुलिस गुना के आरोन इलाके में शिकारियों पर दबिश देने पहुंची और, इसी दौरान शिकारी औऱ पुलिस आमने सामने आ गए। शिकारियों ने पुलिस टीम पर ही हमला बोल दिया औऱ दनादन फायर कर दिए। घटना में कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।

Shocking Video: एक शिकार 6 शिकारी, जब एक साथ हिरण पर टूट पड़े कई शेर, दिल थामकर देखें वीडियो

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर