वीरेंद्र सहवाग ने चुने आईपीएल 2020 के पांच सबसे फिसड्डी खिलाड़ी, कहा 'देसी कट्टा बन गई स्टेन गन'

आईपीएल 2020 में कई धाकड़ खिलाड़ी अपने खेल का जादू दिखाने में नाकाम रहे। वीरेंद्र सहवाग ने अपनी बैठक में ऐसे ही पांच सबसे फिसड्डी खिलाड़ियों का चुनाव किया है।

Virendra Sehwag
वीरेंद्र सहवाग( साभार IPL/BCCI) 

मुख्य बातें

  • वीरेंद्र सहवाग ने चुने हैं आईपीएल 2020 के पांच सबसे फिसड्डी खिलाड़ी
  • इन पांच खिलाड़ियों में सबसे ज्यादा तीन ऑस्ट्रेलिया के हैं
  • ये सभी खिलाड़ी अपने कद और प्रतिभा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके

नई दिल्ली: आईपीएल 2020 का समापन मुंबई इंडियन्स की पांचवीं खिताबी जीत के साथ दुबई में हुआ। शारजाह, अबुधाबी और दुबई के क्रिकेट मैदान पर खेले गए इस टूर्नामेंट में पिछले 12 सीजन की तुलना में ज्यादा प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेली गई। टीमों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि चार सुपर ओवर इस बार खेले गए। एक मैच तो डबल सुपर ओवर तक चला गया। आखिरी तीन पायदान पर रहने वाली टीमों के 12-12 अंक रहे। कौन सी टीम अंक तालिका में किस पायदान पर रही इस बात का फैसला नेट रन रेट से हुआ। 

कई युवा खिलाड़ियों ने अपनी चमक बिखेरी लेकिन कुछ नाकाम रहे। लेकिन कई दिग्गज खिलाड़ी भी अपने कद और नाम के हिसाब से प्रदर्शन नहीं कर सके। ऐसे में टीम इंडिया के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने आईपीएल 2020 में फिसड्डी साबित हुए पांच दिग्गज खिलाड़ियों का चुनाव किया है। इन पांच खिलाड़ियों में 3 ऑस्ट्रेलिया के, एक वेस्टइंडीज और एक दक्षिण अफ्रीका का है।

एरोन फिंच 
सहवाग की नजर में आए फिसड्डी खिलाड़ियों में सबसे पहला नाम ऑस्ट्रेलिया की सीमित ओवरों की टीम के कप्तान एरोन फिंच का है। आरसीबी के लिए खेलने वाले फिंच ने आईपीएल 13 में 12 मैच खेले और इस दौरान 22.33 की औसत से कुल 268 रन बनाए। जिसमें 52 सर्वाधिक स्कोर रहा। सहवाग ने कहा, मैंने फिंच को विराट ठाकुर का वीरू नाम दिया था लेकिन उनके प्रदर्शन का बेंगलोर के प्रदर्शन पर सीधा असर पड़ा। 

आंद्रे रसेल 
नजफगढ़ के नवाब की नजर में दूसरा सबसे फिसड्डी खिलाड़ी केकेआर के लिए खेलने वाले आंद्रे रसेल रहे। कैरेबियाई ऑलराउंडर इस बार अपने खेल का जादू नहीं दिखा पाए। रसेल 10 मैच में केवल 117 रन बनाए और 6 विकेट ले  सके। एक भी मैच में वो मैच जिताऊ प्रदर्शन नहीं कर सके। इसका असर केकेआर के प्रदर्शन पर पड़ा और केकेआर अपनी दबंगई नहीं दिका सकी। पिछले सीजन में उनका औसत 56 का था जो इस बार गिरकर 13 का हो गया है। वो पूरे सीजन फॉर्म और फिटनेस के लिए संघर्ष करते रहे। अबतक अनहोने अंदाज में केकेआर को मैच जिताने वाले रसेल फेल हो गए। 

शेन वॉटसन
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान शेन वॉटसन का जादू इस बार आईपीएल में नहीं चला। पिछले दो सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स को फाइनल तक पहुंचाने वाले वॉटसन ने 11 मैच नें 299 रन बनाए जो कि उनके जैसे कद के खिलाड़ी से मेल नहीं खाए। उतार-चढ़ाव भरे प्रदर्शन के बीच उन्हें तीन मैच के लिए प्लेयिंग 11 से भी बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। ऐसे निराशाजनक प्रदर्शन के बाद उन्होंने संन्यास का ऐलान कर दिया। 

ग्लैन मैक्सवेल
ग्लैन मैक्सवेल को 10.75 करोड़ रुपये खर्च करके किंग्स इलेवन पंजाब ने खरीदा था लेकिन मैक्सवेल पूरे सीजन फ्लॉप रहे। जिन मैचों में उन्हें बल्लेबाजी का मौका मिला वो उसमे नाकाम रहे। 13 मैच में 15.42 के औसत से 108 रन बनाए। इतनी मोटी राशि में खरीदने के कारण टीम मैनेजमेंट ने उन्हें एकादश से ड्रॉप करने से इनकार कर दिया। सहवाग ने कहा, पिछले कुछ सालों में उनका प्रदर्शन खराब रहा लेकिन इस बार तो उन्होंने खुद को ही रेस से बाहर कर दिया। इसे आप हाईली पेड वोकेशन कह सकते हैं।'

डेल स्टेन
दिग्गज दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज डेल स्टेन पिछले सीजन चोट के कारण आईपीएल में भाग नहीं ले सके थे। पिछले सीजन के बाद से स्टेन ने खुल को फिट रखा था लेकिन वो गेंद के साथ फॉर्म हासिल नहीं कर सके और उनके जैसे खिलाड़ी को केवल 3 मैच खेलने का मौका मिला जिसमें वो केवल 133 रन के औसत से केवल 1 विकेट ले सके। जो कि आईपीएल 2020 में सबसे खराब रहा। सहवाग ने स्टेन के बारे में मजाक करते हुए कहा कि इस बार स्टेन गन देसी कट्टा बनकर रह गई। 


 

IPL(आईपीएल) 2020 से जुड़ी सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर