12 साल बाद टेस्‍ट क्रिकेट में वापसी करने को तैयार सौरव गांगुली, तैयारी के लिए मांगा इतना समय

Sourav Ganguly comeback in Test Cricket: 2008 में अपना आखिरी टेस्‍ट खेलने वाले सौरव गांगुली ने कहा कि अगर ट्रेनिंग करने का समय दिया जाए तो वह टेस्‍ट क्रिकेट में रन बनाने के लिए फिट हैं।

sourav ganguly
सौरव गांगुली 

मुख्य बातें

  • टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली ने टेस्‍ट क्रिकेट में वापसी का दावा किया
  • दादा ने 2008 में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट से संन्‍यास लिया था
  • गांगुली ने अपना आखिरी प्रथम श्रेणी मुकाबला 2011 में खेला था

कोलकाता: टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान और मौजूदा बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली ने कहा है कि अगर उन्‍हें तीन महीने ट्रेनिंग का समय मिले और कुछ रणजी ट्रॉफी मैच खेलने को मिले तो टेस्‍ट क्रिकेट में अब भी रन बना सकते हैं। 12 साल पहले यानी 2008 में अपना आखिरी अंतरराष्‍ट्रीय टेस्‍ट और 2011 में आखिरी प्रथम श्रेणी मैच खेलने वाले गांगुली ने कहा कि वह टेस्‍ट क्रिकेट में रन बना सकते हैं, बस ट्रेनिंग के लिए उन्‍हें कुछ समय की जरूरत है।

गांगुली ने बंगाली अखबार संगबद प्रतिदिन को दिए इंटरव्‍यू में अपने करियर के आखिरी चरण को याद करते हुए यह बयान दिया है। 48 साल के गांगुली ने कहा, 'अगर मुझे वनडे में दो सीरीज और मिलती तो मैं रन बनाता। अगर मैं नागपुर में संन्‍यास नहीं लेता तो अगली दो सीरीज में और रन बनाता। अगर इस समय भी मुझे ट्रेनिंग के लिए 6 महीने मिल जाएं और तीन रणजी ट्रॉफी मैच मिल जाएं तो मैं भारत के लिए टेस्‍ट क्रिकेट में रन बना सकता हूं। मुझे 6 महीने की भी जरूरत नहीं, तीन महीनें चलेंगे, मैं रन बना दूंगा।'

पूर्व भारतीय कप्‍तान ने आगे कहा, 'मुझे आप खेलने का मौका नहीं भी दें, लेकिन आप मेरे अंदर के विश्‍वास को कैसे तोड़ सकते हैं?' बता दें कि 2007-08 में सौरव गांगुली को वनडे टीम से अचानक बाहर कर दिया गया था। इस बारे में बात करते हुए गांगुली ने कहा, 'वो अविश्‍वसनीय था। मुझे उस साल वनडे टीम से बाहर कर दिया गया जबकि साल में मैं सर्वश्रेष्‍ठ रन बनाने वालों में से एक था। यह मायने नहीं रखता कि आपने कितना ही अच्‍छा प्रदर्शन किया हो, लेकिन अगर आपसे मंच छीन लिया जाए तो आप क्‍या साबित कर पाओगे? किसको करोगे? मेरे साथ यही चीज हुई।'

चैपल युग के बाद उतार-चढ़ाव

2005 में ग्रेग चैपल युग के दौरान सौरव गांगुली को सबसे पहले टीम से बाहर करते हुए कप्‍तानी से हटाया गया। बाएं हाथ के बल्‍लेबाज ने हालांकि, 2006 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में दमदार वापसी की और फिर ढेरो रन बनाए। महान बल्‍लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कहा कि उन्‍होंने गांगुली को तब सबसे बेहतर रूप में देखा।  2007-08 में ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर प्रिंस ऑफ कोलकाता को राहुल द्रविड़ के साथ वनडे टीम से बाहर कर दिया गया। अगले साल गांगुली ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट से संन्‍यास की घोषणा कर दी। पूर्व कप्‍तान ने हालांकि घरेलू क्रिकेट और आईपीएल में खेलना जारी रखा। गांगुली ने 113 टेस्‍ट में 16 शतकों की मदद से 7212 रन बनाए। वनडे में गांगुली ने 311 वनडे में 22 शतकों की मदद से 11,363 रन बनाए।

IPL(आईपीएल) 2020 से जुड़ी सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर