IPL बबल में कैसे आया कोरोना वायरस? जानिए BCCI अध्‍यक्ष सौरव गांगुली ने क्‍या दिया जवाब

Sourav Ganguly: बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली ने भरोसा दिलाया है कि आईपीएल में हिस्‍सा लेने वाले विदेशी खिलाड़‍ियों का ध्‍यान रखा जाएगा और उन्‍हें सुरक्षित घर भेजा जाएगा।

sourav ganguly
सौरव गांगुली 

मुख्य बातें

  • सौरव गांगुली ने आईपीएल 2021 के आयोजन को लेकर दी बड़ी अपडेट
  • गांगुली ने कहा कि पता करना मुश्किल है कि आईपीएल बबल में कोविड-19 कैसे आया
  • गांगुली ने विदेशी खिलाड़‍ियों को सुरक्षित घर पहुंचाने का भरोसा दिलाया

नई दिल्‍ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्‍यक्ष सौरव गांगुली ने दावा किया है कि इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल 2021) का आयोजन भारत में करना गलती नहीं थी। गांगुली ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौर में आईपीएल को भारत में आयोजित कराने की प्रक्रिया सोची-समझी थी। बोर्ड ने आईपीएल-14 के आयोजन के लिए छह स्‍थानों को चुना और अब इस टूर्नामेंट के स्‍थगित होने के बावजूद घरेलू खिलाड़‍ियों को मुआवजा दिया जाएगा।

ध्‍यान दिला दें कि आईपीएल बबल में कोविड-19 मामले बढ़ने के कारण बीसीसीआई ने टी20 लीग को तत्‍काल प्रभाव से अनिश्चितकालीन समय के लिए स्‍थगित किया। दो दिनों में आईपीएल की विभिन्‍न टीमों से कोविड-19 के सात मामले सामने आए थे। दिल्‍ली कैपिटल्‍स ने आधिकारिक बयान जारी करके बताया कि अनुभवी लेग स्पिनर अमित मिश्रा को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली ने इंडियन एक्‍सप्रेस को दिए इंटरव्‍यू में आईपीएल 2021 से जुड़े कई मामलों पर अपने विचार प्रकट किए।

गांगुली ने कहा, 'जब हमने भारत में आईपीएल आयोजित कराने का फैसला किया था तो माहौल इतना खराब नहीं था। तब संक्रमितों की संख्‍या भी इतनी नहीं थी, हमने इंग्‍लैंड का सफल दौरा किया था। फरवरी में भारत में कोविड-19 मामलों की संख्‍या ज्‍यादा नहीं थी। पिछले तीन सप्‍ताह में मामले बहुत ज्‍यादा बढ़े। इससे पहले कुछ नहीं था। हमने यूएई को मेजबान को रूप में सोचा जरूर था, लेकिन फिर इसे भारत में ही आयोजित कराने का फैसला किया।'

आईपीएल बबल में कोविड-19 मामले कैसे आए, बता पाना मुश्किल: गांगुली

आईपीएल के लिए बायो-बबल तैयार किया था, जिसका 29 मैच के बाद उल्‍लंघन हुआ। इस बारे में बात करते हुए बीसीसीआई अध्‍यक्ष ने कहा, 'सुरक्षा की कमी के चलते ऐसा नहीं हुआ। हमें जो रिपोर्ट मिली है, उसमें कहा गया कि बबल का उल्‍लंघन नहीं हुआ। यह कैसे हुआ, इस बारे में कहना मुश्किल है। देश में इतने लोग कैसे संक्रमित हुए, इस बारे में कहना भी मुश्किल है।'

गांगुली ने बताया कि यूके की कंपनी रेसट्राटा को बबल बनाने की जिम्‍मदारी नहीं दी थी क्‍योंकि भारत में उनकी उपस्थिति विशाल नहीं है। गांगुली ने कहा, 'हमने जिसको जिम्‍मेदारी सौंपी, वह पेशेवर ही हैं। दुनिया भर में पेशेवर हाथ भी वायरस को बबल में आने से नहीं रोक सकते हैं। जब इंग्‍लैंड में दूसरी महामारी की लहर आई तो इंग्लिश प्रीमियर लीग में मामले सामने आए थे। मैनचेस्‍टर सिटी, आर्सेनल के खिलाड़ी संक्रमित हुए थे। मैचों की तारीख दोबारा तय हुई थी। चूकि उनका सीजन 6 महीने लंबा होता है तो वह ऐसा कर सके। मगर हमारा सीजन कड़ा होता है। हमें विदेशी खिलाड़‍ियों को रिलीज भी करना होता है तो दोबारा कार्यक्रम तय करना मुश्किल है।'

सौरव गांगुली ने भरोसा दिलाया कि विदेशी खिलाड़‍ियों को सुरक्षित घर पहुंचाया जाएगा। उन्‍होंने कहा, 'विदेशी खिलाड़‍ियों पर पूरा ध्‍यान दिया जा रहा है और वह सुरक्षित घर पहुंचेंगे। ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ी मालदीव्‍स जाकर पृथकवास होंगे, फिर वहां से सुरक्षित ऑस्‍ट्रेलिया पहुंचेंगे।' गांगुली ने साथ ही बताया कि भारतीय खिलाड़ी अपने-अपने घर में वैक्‍सीन लगवा सकते हैं क्‍योंकि उनके पास समय है। पूर्व भारतीय कप्‍तान ने कहा, 'भारतीय खिलाड़‍ियों के पास समय है, तो वह व्‍यक्तिगत स्‍तर पर वैक्‍सीन लगवा सकते हैं। सभी अपने घर गए हैं तो उनके लिए यह आसान विकल्‍प होगा।'

IPL(आईपीएल) 2021 से जुड़ी सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर