ENG vs WI: कौन हैं ओली रॉबिनसन, जिन्हें दूसरे टेस्ट के लिए मिली है इंग्लैंड की टीम में जगह 

Who is Ollie Robinson ENG vs WI 2nd Test: जानिए कौन हैं वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के लिए इंग्लैंड की टीम में शामिल किए गए ओली रॉबिनसन, क्यों मिली है उन्हें मुश्किल दौर में टीम में जगह।

Ollie Robinson
Ollie Robinson 

मुख्य बातें

  • ओली रॉबिनसन पिछले दो सीजन से काउंटी क्रिकेट में मचा रहे हैं धमाल
  • तेज गेंदबाजी के साथ कर लेते हैं शानदार स्पिन गेंदबाजी और बल्लेबाजी
  • प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अब तक ले चुके हैं 236 विकेट

मैनचेस्टर: इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच गुरुवार से मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर खेला जाना है। पहले मैच में 4 विकेट से हार का सामना करने के बाद इंग्लैंड की टीम के ऊपर सीरीज बचाने का खतरा मंडराने लगा है ऐसे में नियमित कप्तान जो रूट की टीम में वापसी होते ही बड़े बदलाव हुए हैं। 

बुधवार को दूसरे टेस्ट के लिए इंग्लैंड ने जिस टीम की घोषणा की उसमें दिग्गज तेंज गेंदबाज जेम्स एंडरसन और मार्क वुड का नाम नहीं है। दोनों ही गेंदबाजों ने पिछले मैच में निराशाजनक प्रदर्शन किया था। एंडरसन और वुड की जगह टीम में सैम कुरेन और 26 साल के युवा तेज गेंदबाज ओली रॉबिनसन को शामिल किया गया है। रॉबिनसन ने अबतक इंग्लैंड के लिए कोई मैच नहीं खेला है ऐसे में बेहद अहम मौके पर उन्हें टीम में शामिल किया गया है। हालांकि उन्हें अंतिम एकादश में जगह मिलती है या नहीं इसका फैसला टॉस के बाद होगा।

प्रथम श्रेणी में है शानदार गेंदबाजी रिकॉर्ड, साथ ही जड़ चुके हैं शतक 
26 वर्षीय ओली रॉबिनसन दाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज हैं और वो ससेक्स की टीम के लिए घरेलू क्रिकेट में खेलते हैं। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उनका रिकॉर्ड बेहद शानदार है। अब तक खेले 56 मैच में उन्होंने 22.33 के शानदार औसत से 236 विकेट हासिल किए हैं। इस दौरान उन्होंने अपने खाते में 13 बार पारी में पांच विकेट और चार बार एक मैच में 10 या उससे ज्यादा विकेट डालने में सफल हुए हैं। ओली रॉबिनसन एक अच्छे गेंदबाज होने के साथ-साथ अच्छे बल्लेबाज भी हैं। उन्होंने ससेक्स के लिए अपने डेब्यू मैच में डरहम के खिलाफ शतक जड़ा था। उन्होंने इस मैच में 110 रन की पारी खेली थी और दसवें विकेट के लिए मैच हॉबडेन के साथ 164 रन की साझेदारी की थी। 

सौतेले पिता रह चुके हैं इंग्लैंड के सहायक कोच 
ओली रॉबिनसन के सौतेले पिता पॉल फार्ब्रास साल 2017 तक इंग्लैंड क्रिकेट टीम के सहायक कोच रह चुके हैं। 13 साल की उम्र में उन्होंने केंट के लिए अंडर 13 क्रिकेट खेलनी शुरू की थी और धीरे-धीरे टीम के साथ आगे बढ़ते गए। इसके बाद उन्होंने केंट के लिए एंडर 15 और अंडर 17 स्तर की क्रिकेट खेली इसके बाद केंट की सेकेंड डिवीजन की टीम में उनका चयन हो गया। केंट की सेंकेंड डिवीजन टीम के लिए महज एक मैच खेलने के बाद वो यॉर्कशर की टीम से जुड़ गए। कई तरह की शुरुआती गलतियों के बाद रॉबिनसन को 20 साल की उम्र में यॉर्कशर की टीम ने रिलीज कर दिया। एसेक्स और हैंपशर के साथ कम -कम समय के साथ जुड़ने के बाद वो अंतत: ससेक्स पहुंचे जहां उनके करियर को नई दिशा मिली। पहले मैच में शतक जड़ने के बाद उनके करार को दो सीजन के लिए बढ़ा दिया गया। 

पिछले दो साल के काउंटी क्रिकेट में मचा रहे हैं धमाल 
रॉबिनसन तेज गेंदबाजी के अलावा स्पिन गेंदबाजी करने में भी सक्षम हैं उन्होंने स्पिन गेंदबाजी करते हुए प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 18 विकेट भी लिए हैं। 
ससेक्स के लिए अपने पहले सीजन में उन्होंने 46 विकेट लिए थे और उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 33 रन देकर 6 विकेट था जो कि वॉरविकशर के खिलाफ उन्होंने किया था। 2017 में उन्होंने 4 मैच में 19 विकेट लिए। 2018 का सीजन उनके लिए शानदार रहा और इस दौरान वो सेकेंड डिवीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में दूसरे पायदान पर रहे। उन्होंने 18.66 की औसत से 74 विकेट झटके। 

पिछले साल एक बार फिर उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया और 11 मैच में 16.44 की औसत से 63 विकेट लेकर चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। इस दौरान मिडिलसेक्स के खिलाफ उन्होंने एक मैच में 135 रन देकर 14 विकेट लिए। पहली पारी में 34 रन देकर 8 और दूसरी पारी में 101 रन देकर 6 विकेट लिए। इस प्रदर्शन के बाद उन्हें इंग्लैंड लॉयन्स की टीम में जगह मिली। इस दौरान उन्होंने ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ फरवरी में 147 रन देकर 7 विकेट लेकर अपनी टीम को जीत दिलाई। 

आगाज के लिए करना होगा इंतजार 
ओली रॉबिनसन के सामने टेस्ट टीम में जगह पाने के बाद सबसे कड़ी चुनौती अपनी जगह बनाए रखने की है। जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड, जोफ्रा आर्चर, मार्कवुड, क्रिस वोक्स और सैम कुरेन के होते हुए उनके लिए टीम में अपनी जगह बनाए रखना आलान नहीं होगा। ये सभी खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट में अपनी क्षमता और काबीलियत साबित कर चुके हैं और वर्तमान में भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें अंतरराष्ट्रीय करियर के आगाज के लिए फिलहाल इंतजार करना पड़ेगा। पिछले दो साल में उन्हें काउंटी क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया है उनकी शानदार गेंदबाजी इंग्लैंड की परिस्थितियों के अनुकूल है वो केवल 26 साल के हैं और आने वाले वक्त में उन्हें कई शानदार मौके मिलेंगे। 


 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर