Birthday Special: इन दो भारतीय खिलाड़ियों के बीच हुआ झगड़ा, बन गया था सौरव गांगुली के लिए 'जैकपॉट'

Happy Birthday Sourav Ganguly: सौरव गांगुली ने साल 1996 में अपना टेस्ट करियर शुरू किया था। जानिए किन परिस्थितियों में गांगुली को डेब्यू का मौका मिला था।

Sourav Ganguly Test debut
सौरव गांगुली  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • आज पूर्व कप्तान सौरव गांगुली का जन्मदिन हैं
  • उन्होंने टेस्ट में साल 1996 में डेब्यू किया था
  • गांगुली 15 साल तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेले

आज भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली अपना 49वां जन्मदिन मना रहे हैं। गांगुली का जन्म 8 जुलाई, 1972 को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में हुआ था। 15 सालों तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने वाले गांगुली का शुमार भारत के सबसे सफल कप्तानों में होता है। उन्होंने बतौर बल्लेबाजी भी अपनी खूब धाक जमाई। गांगुली ने भारत के लिए 1992 में वनडे में पदार्पण किया, लेकिन उन्हें टेस्ट करियर शुरू करने में चार और साल का वक्त लग गया था। उन्होंने 20 जून, 1996 को टेस्ट डेब्यू किया, मगर क्या आप जानते हैं कि गांगुली को यह मौका दो भारतीय खिलाड़ियों के बीच झगड़े के बाद मिला था।

सिद्धू-अजहर की वजह से लगा 'जैकपॉट' 

साल 1996 में विश्व कप सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर गई थी। भारत को इंग्लैंड से तीन टेस्ट मैच में भिड़ना था। भारत ने पहला टेस्ट गंवा दिया था और दूसरे टेस्ट से पहले सलामी बल्लेबाज नवजोत सिंह सिद्धू और कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन में विवाद हो गया। बताया जाता है कि दोनों खिलाड़ियों में किसी बात को लेकर अनबन हो गई थी। इतना ही नहीं सिद्धू सीरीज को बीच में छोड़कर भारत चले आए थे। सिद्धू ने अजहर पर बुरा व्यवहार करने का आरोप लगाया था। ऐसे में 16 सदस्यीय भारतीय टीम का हिस्सा गांगुली का 'जैकपॉट' लग गया था। उन्होंने दूसरे टेस्ट में डेब्यू किया। अजहर भी दूसरे टेस्ट में नहीं खेले थे।

गांगुली ने डेब्यू टेस्ट में ठोक दिया शतक

सौरव गांगुली ने ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर अपने टेस्ट करियर का आगाज किया था। उन्होंने डेब्यू टेस्ट में शतक ठोका था। मैच में भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और उसका पहला विकेट महज 25 के स्कोर पर गिर गया। गांगुली तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे और धैर्य के साथ खेले। उन्होंने 301 गेंदों में 20 चौकों की मदद से 131 रन की ऐतिहासिक पारी खेली थी। भारत ने पहली पारी में 429 रन बनाए और गांगुली 296 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौटे थे। यह टेस्ट ड्रॉ रहा था। हालांकि, गांगुली ने पहले टेस्ट से जाहिर कर दिया था कि वह लंबे समय तक टिकेंगे, जो सच भी साबित हुआ।

25 साल बाद टूटा गांगुली का ये रिकॉर्ड

गांगुली के नाम लॉर्ड्स में डेब्यू टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने के रिकॉर्ड 25 साल तक दर्ज रहा। हाल ही में इस रिकॉर्ड को न्यूजीलैंड के ओपनर डेवोन कॉन्वे ने तोड़ा। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में पदार्पण करते हुए दोहरा शतक जमाया। संयोग की बात यह है कि दोनों का जन्मदिन भी 8 जुलाई को है। साथ ही दोनों बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं। कॉन्वे और गांगुली के अलावा चार अन्य बल्लेबाज भी लॉडर्स में अपने डेब्यू टेस्ट में शतक लगा चुके हैं।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर