सबा करीम की टीम इंडिया को कड़वी सलाह, विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचना है तो ये दिक्कत दूर करें

Saba Karim on Team India Middle-Order: पूर्व क्रिकेटर सबा करीम ने टीम इंडिया को एक अहम सलाह दी है। करीम ने साथ ही कहा कि टीम को कुछ सख्त कदम भी उठाने होंगे।

Saba Karim on Team India middle order
भारतीय क्रिकेट टीम (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: AP
मुख्य बातें
  • भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका टेस्ट सीरीज
  • दोनों टीमें सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं
  • भारत ने पहला टेस्ट जीता और दूसरा गंवाया

भारत के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज सबा करीम ने लंबे समय से संघर्ष कर रहे भारतीय मध्यक्रम को लेकर कड़वी सलाह दी है। उनका कहना है कि अगर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचना है तो बड़ी पारी खेलने वाले खिलाड़ियों को मौका देकर इस दिक्कत को दूर करना होगा। बता दें कि चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज के दो मैचों में भी कोई खास छाप नहीं छोड़ पाए हैं। पुजारा ने चार पारियों में जहां 72 रन जुटाए वहीं रहाणे ने इतनी ही पारियों में 126 रन बनाए हैं। हालांकि, दोनों पर टीम मैनेजमेंट का भरोसा बना हुआ है। 

करीम ने खेलनीति के पॉडकास्ट में कहा, 'मेरा मानना ​​है कि हमें इस बात पर ध्यान देने में बहुत देर हो चुकी है कि हमारा मध्यक्रम जिसे बल्लेबाजी लाइनअप में रीढ़ माना जाता है, वर्षों से संघर्ष कर रहा है। जितनी जल्दी हो सके हमें इस ओर ध्यान देना होगा। खिलाड़ियों के पास इतना अनुभव है कि हर 3-4 पारियों के बाद आसानी से 40-50 रन बना सकते हैं लेकिन क्या इसका मतलब यह है कि हम सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं?' 

उन्होंने आगे कहा, 'हमें नए टेस्ट चैंपियनशिप चक्र की तैयारी करनी होगी। हमें फाइनल के लिए क्वालीफाई करना है। अगर टीम वहां पहुंचना चाहती है तो उसे कठोर कदम उठाने की जरूरत है? राहुल द्रविड़, विराट कोहली और चयनकर्ता को इसपर सोचना होगा। उन्हें यह तय करने की जरूरत है कि जिस बल्लेबाजी क्रम के साथ हम खेल रहे हैं, क्या वो उम्मीदों पर खरा उतरा रहा है या नहीं? क्या हम उनकी जगह कुछ युवाओं को मौका दे सकते हैं, जिन्हें घरेलू क्रिकेट का अच्छा अनुभव है। क्या वो और अधिक फाएदेमंद साबित होंगे या नहीं?

यह भी पढ़ें: सुनील गावस्कर ने दिया था दबाव बढ़ाने वाला बयान, अब चेतेश्वर पुजारा ने कुछ ऐसा कहकर दिया जवाब

करीम ने कहा, 'रहाणे हों या पुजारा, वे कभी-कभी रन बनाएंगे क्योंकि उनके पास काफी अनुभव है। लेकिन हमें यह सोचने की जरूरत है कि क्या वे पर्याप्त भूमिका निभा रहे हैं। क्या कोई अन्य खिलाड़ी उनसे बेहतर प्रदर्शन कर सकता है?' गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में हनुमा विहारी को विराट कोहली के चोटिल होने पर मौका मिला था। उन्होंने दूसरी पारी में मुश्किल वक्त में नाबाद 40 रन बनाए थे। वहीं, श्रेयस अय्यर भी टेस्ट टीम में जगह के मजबूत दावेदार बनकर उभरे हैं। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ डेब्यू टेस्ट में शतक और अर्धशतक जमाया था। 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर