Tilak Verma Struggle : शतक लगा दो बल्ला तुम्हारा- मुंबई इंडियंस के स्टार ने ऐसे पाई सफलता

Tilak Verma: बाएं हाथ के बल्लेबाज तिलक वर्मा इस सीजन में मुंबई इंडियंस के लिए शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। सीजन में 2 अर्धशतक लगाकर वह दिग्गज प्लेयरों का विश्वास जीत चुके हैं। तिलक के लिए आईपीएल की राह इतनी आसान नहीं थी। कोच द्वारा लगाई गई शर्त जीतकर तिलक वर्मा की सफलता की कहानी आगे बढ़ी थी।

Player Tilak Verma
तिलक वर्मा की स्ट्रगलिंग लाइफ  |  तस्वीर साभार: Instagram

Tilak Verma Struggle : मेगा ऑक्शन के साथ ही आईपीएल की 10 टीमें अब युवा टेलेंट के भरोसे हैं। युवा तिलक वर्मा बेहतरीन प्रदर्शन कर पांड्या ब्रदर्स की गैर-मौजूदगी में मुंबई इंडियंस का मध्यक्रम संभाल रहे हैं। मुंबई के टॉप बल्लेबाज जब रन बनाने के लिए संघर्ष करते नजर आ रहे हैं। वहीं, तिलक अकेले ही अपनी टीम को आगे ले जाने में सक्ष्म दिख रहे है। अपने शॉट सिलेक्शन के लिए दिग्गजों की तारीफें बटोर रहे तिलक के लिए यहां तक पहुंचना इतना आसान नहीं था। उन्होंने बहुत संघर्ष किया है जिसमें आर्थिक स्थितियां खराब होना मुख्य था। 

क्लब स्तरीय मैच में जड़ा दोहरा शतक

तिलक के संघर्ष के बारे में उनके बचपन के कोच सलाम बयाश ने बताया कि वह शुरू से ही टेलेंटिड रहा है। लेकिन उसकी सफलता में बार-बार खराब आर्थिक स्थिति आड़े आती थी। बड़े टूर्नामैंट्स में खेलने के लिए आपके पास अच्छा क्रिकेट बैट होना जरूरी होता है लेकिन तिलक के पास शुरूआत में यह नहीं था। मुझे उसपर विश्वास था। ऐसे में मैंने उससे एक शर्त लगाई, कहा- अगर तुम आगामी टूर्नामेंट्स में कुछ सेंचुरी लगाओगे तो तुम्हारा बल्ला मैं स्पॉन्सर कर दूंगा। तिलक इससे काफी खुश था। उसने क्लब स्तरीय मैच में दोहरा शतक लगाकर अपनी प्रतिभा दिखाई। मैंने वादा पूरा कर उसे बैट लेकर दिया।

आज मेरे पास 5-6 बैट हैं

वहीं, कोच के खुलासे पर एक इंटरव्यू के दौरान तिलक वर्मा ने कहा कि तब मैं 11-12 साल का था जब अंडर-19 टूर्नामेंट खेलने के लिए मेरे पास अच्छा बैट नहीं था। मेरे कोच ने मुझे इलियास भाई का बैट दिया जिससे मैंने अपनी पहली सेंचुरी लगाई। आज की तारीख में मेरे पास 5-6 बैट हैं। अब मुझे गर्व महसूस होता है।

बेटे ने कभी शिकायत नहीं की

वहीं, दूसरी ओर बेटे के संघर्ष को याद कर उनके पिता नागराजू भी भावुक दिखे। उन्होंने कहा- हमारी आर्थिक स्थिति शुरूआत से ही अच्छी नहीं थी। मैं अक्सर सुबह से देर रात तक काम करता था ताकि बेटे के सपने को पूरा कर सकूं। मैंने ओवरटाइम किए ताकि तिलक को उसका फेवरेट बैट मिल जाए। लेकिन हर बार कुछ कमी रह जाती थी। एक दिन तिलक ने मुझसे बल्ले के लिए 5000 रुपए मांगे थे। यह बहुत ज्यादा थे। मैं उसे कहता था तुम ऐसा बल्ला लो जो 1000 रुपए का हो। तुम उससे भी खेल ही लोगे। तिलक कभी शिकायत नहीं करता था।

9 मैचों में 307 रन बना चुके तिलक


बता दें कि तिलक ने आईपीएल2022 की मेगा ऑक्शन में खुद को 20 लाख में रजिस्टर करवाया था। मुंबई इंडियंस ने उन्हें 1.70 करोड़ रुपए में खरीदा था। सीजन के 9 मैचों में 43 की औसत से उन्होंने अब तक 307 रन बनाए हैं जिसमें 2 अर्धशतक भी शामिल है।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर