ENG vs WI: जो रूट का पहले टेस्‍ट में खेलना मुश्किल, बेन स्‍टोक्‍स करेंगे कप्‍तानी

Ben Stokes to lead England: रूट की गैरमौजूदगी में स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स पहली बार टीम का नेतृत्व करेंगे। तीन टेस्ट मैचों की इस सीरीज का पहला मैच साउथैंप्‍टन में आठ जुलाई से खेला जाएगा।

joe root
जो रूट  

मुख्य बातें

  • जो रूट का वेस्‍टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्‍ट में खेलना मुश्किल
  • बेन स्‍टोक्‍स 8 जुलाई से पहले टेस्‍ट में इंग्‍लैंड की कमान संभालेंगे
  • जो रूट का वेस्‍टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्‍ट में खेलना भी मुश्किल है

लंदन: इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने अपने दूसरे बच्चे के जन्म के समय पत्नी के साथ रहने का फैसला किया है, जिससे अगले सप्ताह वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरूआती टेस्ट में उनका खेलने की संभावना काफी कम है। रूट की गैरमौजूदगी में स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स पहली बार टीम का नेतृत्व करेंगे। तीन टेस्ट मैचों की इस सीरीज का पहला मैच साउथैंप्‍टन में आठ जुलाई से खेला जाएगा और रूट की पत्नी इसी तारीख के आस-पास मां बनने वाली है।

रूट ने भी कप्तानी के लिए स्टोक्स का समर्थन करते हुए कहा कि वह 'नैसर्गिक कप्तान' है। रूट ने बीबीसी से कहा, 'वह हमारे लिए शानदार काम करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।' रूट का दूसरे टेस्ट में खेलना भी संदिग्ध है क्योंकि टीम से जुड़ने से पहले उन्हें सात दिनों तक पृथकवास में रहना होगा। पिछले सप्ताह इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के क्रिकेट निदेशक एशले जाइल्स ने कहा था कि बोर्ड से रूट सहित सीरीज के दौरान खिलाड़ियों को टीम के 'जैविक वातावरण' को छोड़ने और फिर से जुड़ने की अनुमति मिलने की उम्मीद है।

सीरीज पूरी तरह से 'जैविक रूप से सुरक्षित' स्थल पर खेली जाएगी। कोविड-19 महामारी के कारण तीन महीने बाद इस टूर्नामेंट के जरिये अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी होगी। 

ब्रॉड को स्‍टोक्‍स से काफी उम्‍मीदें

इंग्‍लैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज स्‍टुअर्ट ब्रॉड ने ऑलराउंडर स्‍टोक्‍स के टीम की कमान संभालने का समर्थन किया है। ब्रॉड का मानना है कि रूट की गैरमौजूदगी में स्‍टोक्‍स अच्‍छे से टीम की कमान संभालेंगे क्‍योंकि उनके पास क्रिकेट का अच्‍छा ज्ञान है और उन पर कोई दबाव नहीं होगा क्‍योंकि वह एक मैच के लिए कप्‍तानी करने वाले हैं।

ब्रॉड ने कहा, 'स्‍टोक्‍स सही रहेंगे। सबसे बड़ी चुनौती मैदान के बाहर होती है, जहां कई अतिरिक्‍त बैठक और योजना का हिस्‍सा बनना पड़ता है, वहां स्‍टोक्‍स को शामिल नहीं होना पड़ेगा। स्‍टोक्‍स के पास क्रिकेट का अच्‍छा ज्ञान है। पिछले कुछ सालों में उनकी प्रगति हुई और उनमें काफी परिपक्‍वता आई है। इसलिए एक मैच में कप्‍तानी करना मुश्किल नहीं होगा। स्‍टोक्‍स पर ज्‍यादा दबाव भी नहीं होगा क्‍योंकि उन्‍हें लंबे समय तक कप्‍तानी नहीं करनी है। मुझे कोई संदेह नहीं कि वो शानदार काम करेंगे।'

अगली खबर