ईशांत शर्मा ने रचा इतिहास, कपिल देव के बाद ऐसा करने वाले दूसरे भारतीय पेसर बने

Ishant Sharma Completes 100 Test Matches: तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने तीसरे टेस्ट में एक बड़ी उपलब्धि अपने नाम कर ली है। वह दूसरे भारतीय पेसर हैं, जिसने ये कारनामा अंदाज दिया।

Ishant Sharma
ईशांत शर्मा (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • भारत और इंग्लैंड का तीसरा टेस्ट खेला जा रहा है
  • ईशांत शर्मा ने एक बड़ी उपलब्धि अपने नाम की है
  • उन्होंने मैदान पर उतरते ही इतिहास रच दिया

भारतीय तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने अपने क्रिकेट करियर में काफी उतार-चढ़ाव का सामना किया है। वह कई बार लंबे समय तक टीम से बाहर रहे तो कभी महीनों तक चोटों से जूझना पड़ा। हालांकि, ईशांत ने कभी हिम्मत नहीं हारी और डटे रहे। ईशांत की इसी मेहनत का परिणाम है कि उन्होंने बुधवार को इतिहास रच दिया। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में तीसरे टेस्ट में मैदान पर उतरते ही एक बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली। यह उनके करियर का 100वां टेस्ट मैच है। वह यहां तक पहुंचने वाले भारत के दूसरे तेज गेंदबाज बन गए हैं। उनसे पहले सिर्फ पूर्व दिग्गज क्रिकेट कपिल देव (131 टेस्ट) ने ही ऐसा किया है। वहीं, ईशांत 100 या उससे ज्यादा टेस्ट खेलने वाले ओवरऑल 12वें गेंदबाज हैं। 

पिछले साल बन जाता रिकॉर्ड, लेकिन...

ईशांत शर्मा ने 100 मैच खेलने की जो उपलब्धि इंग्लैंड के खिलाफ हासिल की, वह उसे पिछले साल अपने नाम कर सकते थे। लेकिन चोटिल होने के चलते ऐसा नहीं हो पाया। दरअसल, ईशांत इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 में दिल्ली कैपिटल (डीसी) की ओर से खेलते हुए चोटिल हो गए थे। उन्हें पूरे आईपीएल से बाहर बैठना पड़ा। इसके बाद भी वह फिट नहीं हुए और भारतीय टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया दौरे पर नहीं जा सके। उन्हें चार टेस्ट मैचों की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से हटना पड़ा था। ईशांत ने इंग्लैंड के खिलाफ इसी महीने शुरू हुई टेस्ट सीरीज से वापसी की है। उन्होंने अब तक 5 विकेट लिए हैं।

ये है ईशांत के लंबे टेस्ट करियर का राज

अक्सर देखा जाता है कि तेज गेंदबाजों का टेस्ट करियर ज्यादा लंबा नहीं चल पाता, लेकिन ईशांत का सफर इसके उलट रहा। ईशांत ने हाल ही में अपने लंबा टेस्ट करियर का राज बताया था। ईशांत ने कहा कि उनका टेस्ट कैरियर इतना लंबा इसलिए ही हो सका कि वह समझते थे कि कप्तान उनसे क्या चाहते हैं। उन्होंने कहा कि यह काफी महत्वपूर्ण है कि कप्तान मुझसे क्या चाहते हैं। यह स्पष्ट होने पर संवाद आसान हो जाता है। बता दें कि ईशांत ने बांग्लादेश के खिलाफ साल 2007 में 18 वर्ष की उम्र में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था। इसके बाद वह अनिल कुंबले, महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में खेले।

300 से ज्यादा विकेट झटके चुके हैं ईशांत

ईशांत 100 टेस्ट मैचों में 3.16 की इकॉनमी से अब तक 302 विकेट झटक चुके हैं। उन्होंने टेस्ट करियर में 11 बार पांच विकेट और एक मर्तबा 10 विकेट लेने अपने खाते में डाले हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 300 का आंकड़ा इंग्लैंड के विरुद्ध पहले टेस्ट में हासिल किया था। इशांत भारत की ओर से 300 विकेट लेने वाले तीसरे तेज गेंदबाज बन गए। उनके अलावा कपिल देव और पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान ने टेस्ट मैचों में 300 विकेट लिए हैं। ईशांत के टेस्ट टीम में रहते भारत को 45 मैचों में जीत मिली है जबकि 30 में हार का सामना करन पड़ा। वहीं, 24 मैच ड्रॉ रहे। 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर