दिग्गज का खुलासा- '2007 विश्व कप में शर्मनाक हार के बाद द्रविड़ मुझे और धोनी को फिल्म दिखाने ले गए थे'

Irfan Pathan on Rahul Dravid: भारत के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने 2007 वनडे विश्व कप को लेकर खुलासा किया है। टीम इंडिया इस टूर्नामेंट से जल्द बाहर हो गई थी।

Rahul Dravid and MS Dhoni
राहुल द्रविड़ और एमएस धोनी  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • इरफान पठान इंटरनेशल क्रिकेट से रिटायर हो चुके हैं
  • उन्होंने भारत के लिए 173 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले
  • इरफान 2007 वनडे विश्व कप टीम का हिस्सा थे

साल 2007 का वनडे विश्व कप भारत के लिए बेहद निराशाजनक रहा था। टीम इंडिया को पहले दौर में ही टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा था। राहुल द्रविड़ के नेतृत्व वाली टीम से फैंस को बहुत उम्मीदें थीं, लेकिन भारत का सफर सिर्फ 3 मैचों तक ही सिमट गया। भारत को अपने पहले मैच में बांग्लादेश से शिकस्त मिली थी। भारत ने दूसरे मैच में बरमूडा को 257 रनों के बड़े अंतर से मात दी। वहीं, टीम तीसरे मैच में श्रीलंका से हारकर बाहर हो गई थी।

इरफान पठान ने विश्व कप को लेकर किया खुलासा

लाखों प्रशंसकों की तरह भारतीय खिलाड़ी भी नतीजों से परेशान थे लेकिन द्रविड़ ने सुनिश्चित किया कि किसी पर नकारात्मक असर ना पड़े। स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए भारत के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर इरफान पठान ने खुलासा किया है कि द्रविड़ उन्हें और एमएस धोनी को विश्व कप की शर्मनाक हार के बाद एक फिल्म दिखाने के लिए ले गए थे, जिससे खिलाड़ियों को वापसी करने की प्रेरणा मिली।

इरफान ने कि राहुल द्रविड़ स्पष्ट क्लीयर कम्यूनिकेशन में विश्वास रखा हैं। यहां तक ​​कि जब वह भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान थे... उस समय भी, वह किसी भी युवा खिलाड़ी के साथ बहुत स्पष्ट थे। अगर किसी को किसी भी तरह की समस्या है, तो वे उनके पास जा सकता था और खुलकर बात कर सकता था।

'हम सब परेशान हैं, चलो फिल्म के लिए चलते हैं'

उन्होंने कहा कि मुझे वेस्टइंडीज में 2007 विश्व कप की एक बहुत छोटा वाकया याद है। वह मेरे और एमएस धोनी के पास आए और कहा, 'देखो हम सब परेशान हैं। चलो फिल्म देखने के लिए चलते हैं'। हम फिल्म देखने गए और फिर उन्होंने कहा, 'देखो, हां हम विश्व कप हार गए। हम सभी कुछ करना चाहते थे। लेकिन यह अंत नहीं है। जीवन बहुत बड़ा है। हम कल वापस आएंगे'। 

'द्रविड़ हमेशा सकारात्मक सोच रखना चाहते हैं'

इरफान ने आगे कहा कि द्रविड़ इस तरह के इंसान हैं। वह हमेशा क्रिकेटरों की सकारात्मक सोच रखना चाहते हैं। अगर कोई दुर्भाग्य से श्रीलंका में ऑउट ऑफ फॉर्म हो जाता है ... अगर ऐसा होता है, तो वह उसका मार्गदर्शन करने और आत्मविश्वास बढ़ाने वाला पहले शख्स होंगे होगा। बता दें कि द्रविड़ टीम इंडिया के साथ श्रीलंका दौरे पर बतौर हेड कोच गए हैं। टीम की कमान शिखर धवन के हाथों में हैं। दोनों टीमों की सीमित ओवरों की सीरीज का आगाज 13 जुलाई से होगा।
 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर