सचिन तेंदुलकर के आउट होने पर फूट-फूटकर रोता था यह स्‍टार क्रिकेटर, टीवी कर देता था बंद

Hanuma Vihari on Sachin Tendulkar: भारतीय टेस्‍ट टीम के मिडिल ऑर्डर बल्‍लेबाज हनुमा विहारी ने सचिन तेंदुलकर के प्रति अपनी दीवानगी का खुलासा किया है। विहारी ने अब तक 9 टेस्‍ट में भारत का प्रतिनिधित्‍व किया।

sachin tendulkar
सचिन तेंदुलकर 

मुख्य बातें

  • हनुमा विहारी भारतीय टेस्‍ट टीम में महत्‍वपूर्ण खिलाड़ी बन चुके हैं
  • विहारी ने बताया कि उन्‍होंने सचिन तेंदुलकर को देखकर क्रिकेट खेलना शुरू किया
  • विहारी ने बताया कि तेंदुलकर के आउट होने के बाद वह क्‍या-क्‍या करते थे

हैदराबाद: टीम इंडिया के महान बल्‍लेबाज सचिन तेंदुलकर को किसी परिचय की जरुरत नहीं है। पूर्व बल्‍लेबाज ने दो दशक से ज्‍यादा क्रिकेट जगत पर राज किया है। क्रिकेट फैंस ने सचिन तेंदुलकर को 'क्रिकेट का भगवान' की उपाधि दी। अब भारतीय टेस्‍ट टीम के मिडिल ऑर्डर बल्‍लेबाज हनुमा विहारी ने अपने करियर में सचिन तेंदुलकर का महत्‍व बताया है। तेंदुलकर के बारे में यह तो सभी अच्‍छे से जानते हैं कि उन्‍होंने युवाओं को कितना प्रेरित किया है। विहारी भी उन्‍हीं में से एक हैं।

तेंदुलकर किसी गेंदबाज के लिए बुरे सपने से कम नहीं थे। ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न ने स्‍वीकार किया था कि सचिन तेंदुलकर उन्‍हें रात में सपनों में आकर भी डराते थे। तेंदुलकर तकनीकी रूप से काफी मजबूत बल्‍लेबाज थे और वसीम अकरम, वकार यूनिस, इमरान खान और अन्‍य तेज गेंदबाजों का भी डटकर मुकाबला करते थे। इसमें कोई शक नहीं है कि तेंदुलकर ही वो शख्‍स हैं, जिन्‍होंने भारत में क्रिकेट का स्‍तर बढ़ाया। युवाओं ने तेंदुलकर की राह पर चलते हुए क्रिकेट खेलना शुरू किया और कई लोग अपना करियर बनाने में सफल भी रहे।

46 साल के तेंदुलकर ने नवंबर 2013 में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट से संन्‍यास लिया। तेंदुलकर के संन्‍यास को 6 साल हो गए हैं और अब भी बल्‍लेबाजी के कई रिकॉर्ड्स उनके नाम दर्ज हैं। मास्‍टर ब्‍लास्‍टर दुनिया के एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्‍होंने 200 टेस्‍ट और 100 अंतरराष्‍ट्रीय शतक जमाए हो।

तेंदुलकर को देखकर क्रिकेट खेलना शुरू किया

हाल ही में हनुमा विहारी ने अपने बचपन के आदर्श सचिन तेंदुलकर से जुड़े किस्‍से का खुलासा किया। विहारी ने बताया कि उनकी बढ़ती उम्र में तेंदुलकर की महत्‍वपूर्ण भूमिका रही। भारतीय बल्‍लेबाज के मुताबिक उन्‍होंने सचिन तेंदुलकर को देखकर ही क्रिकेट खेलना शुरू किया। इसमें कोई शक नहीं कि सचिन तेंदुलकर हर बच्‍चे के लिए प्रेरणा थे, जो भारतीय टीम में आना चाहते थे। 

रोना शुरू कर देते थे विहारी

हनुमा विहारी को शुरुआत से ही सचिन तेंदुलकर की बल्‍लेबाजी देखना बेहद पसंद था। विहारी उस पल को याद करते हैं कि सचिन तेंदुलकर के आउट होते ही वह गुस्‍से में टीवी बंद कर दिया कर देते थे और फूट-फूटकर रोने लगते थे। एक चैट शो में हनुमा विहारी ने कहा, 'सचिन सर मेरे आदर्श हैं। मेरे क्रिकेट शुरू करने का कारण ही वही हैं। जब मैं जवाब था तो उन्‍हें बल्‍लेबाजी करते देखना पसंद करता था और मुझे उनकी बल्‍लेबाजी से प्‍यार था। 90 के दशक में वह बल्‍लेबाजों के राजा लगते थे। जब भी वह आउट हो जाते थे तो मैं खूब रोता था और टीवी बंद करने जैसी चीजें करता था।'

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर