गौतम गंभीर ने याद किए धोनी के साथ कमरे में बिताए वो दिन, इस बारे में होती थी बातें

Gautam Gambhir on MS Dhoni as his room mate: पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर ने उन दिनों के बारे में बताया है जब वो और धोनी एक रूम को शेयर कर रहे थे और उस दौरान क्या बातें होती थीं।

MS Dhoni and Gautam Gambhir
एम एस धोनी और गौतम गंभीर 

मुख्य बातें

  • गौतम गंभीर ने बयां किए धोनी के साथ कमरे में बिताए वो दिन
  • जब धोनी और गंभीर होते थे रूम मेट
  • गंभीर ने बताया कि युवा धोनी से किस बारे में होती थी बातें

टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के पूरी दुनिया में करोड़ों समर्थक हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो उनकी आलोचना करने वालों में गिने जाते हैं। दिग्गजों की बात करें तो उनमें पूर्व ओपनर गौतम गंभीर का नाम भी आता है। अपने बेबाक बयानों के लिए आए दिन चर्चा में रहने वाले गंभीर ने बहुत बार धोनी की तारीफ की है लेकिन कई मौकों पर सीधे तौर पर ना सही पर धोनी पर निशाना साधा ही है। इस बार उन्होंने धोनी से जुड़ी कुछ हल्की-फुल्की बातें भी की हैं। उन्होंने उस समय को बयां किया है जब वो दोनों एक ही कमरे में ठहरे थे। 

बाएं हाथ के पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ एक ही कमरे में बिताए गए दिनों को याद किया है। गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के शो पर कहा, 'हम एक महीने से ज्यादा के समय के लिए रूम मेट थे और हम सिर्फ बालों के बारे में बात करते थे क्योंकि तब उनके लंबे बाल हुआ करते थे। वो कैसे इन बालों को संभालते हैं, इसी तरह की बातें होती थीं।'

जमीन पर सोने वाले दिन याद हैं

गंभीर ने कहा, 'हमें जमीन पर सोने वाले दिन याद हैं, क्योंकि कमरा काफी छोटा था और पहले सप्ताह हम सोच रहे थे कि इस कमरे को बड़ा कैसे बनाया जाए। इसलिए हमने बेड को कमरे से बाहर कर दिया और हम जमीन पर गद्दा डाल के सोने लगे। वो अच्छे दिन थे क्योंकि हम दोनों उस समय युवा थे।'

हाल ही में दिया था ये बयान

विश्व कप 2011 के फाइनल मुकाबले में भारत को एक शानदार छक्के के साथ जीत दिलाने वाले पूर्व कप्तान धोनी के उस खास पल पर भी गंभीर निशाना साध चुके हैं। हाल ही में गंभीर ने कहा था कि धोनी भाग्यशाली थे क्योंकि उनको दिग्गजों का साथ मिला। गंभीर के मुताबिक जहीर खान और सौरव गांगुली जैसे दिग्गजों की इसमें बड़ी भूमिका थी कि धोनी एक अच्छे कप्तान बन सके। गंभीर के मुताबिक सौरव गांगुली की कड़ी मेहनत और उनके द्वारा तैयार की गई टीम ही वो वजह थी जिसके दम पर माही ने इतने बड़े-बड़े खिताब टीम को जिताने में सफलता हासिल की।

अगली खबर