पिच कॉन्ट्रोवर्सी: युवराज सिंह के विवादित ट्वीट पर गौतम गंभीर ने किया रिएक्ट, 'डीआरएस फेक्टर' को किया हाईलाइट

Gautam Gambhir on Yuvraj Singh Tweet: युवराज सिंह ने अहमदाबाद टेस्ट के दो दिन में खत्म होने के बाद पिच को लेकर सवाल उठाए थे। भारत ने यह मैच 10 विकेट से जीता था।

Gautam Gambhir Yuvraj Singh
गौतम गंभीर और युवराज सिंह। 

मुख्य बातें

  • भारत और इंग्लैंड के बीच डे-नाइट टेस्ट खेला गया
  • भारत ने यह मुकाबला 10 विकेट अपने नाम किया
  • नरेंद्र मोदी स्टेडियम में हुआ यह टेस्ट दो दिन चला

भारत और इंग्लैंड के बीच अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला गया तीसरा टेस्ट दो दिन में खत्म हो गया। भारत ने 10 विकेट से यह डे-नाइट टेस्ट जीता और सीरीज में 2-1 से बढ़त बना ली। मैच जल्द समाप्त होने से पिच को लेकर जमकर बहस हो रही है। हाल ही में पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह ने अहमदाबाद की पिच की आलोचना करते हुए ट्वीट किया था, जिसपर काफी हंगामा हुआ। उनके ट्वीट पर कई लोगों ने जहां सहमति जताई तो कइयों ने कहा कि एक भारतीय खिलाड़ीय को ऐसा नहीं बोलना चाहिए।

'कुंबले-हरभजन इसपर 1000 और 800 विकेट लेते'

तीसरे टेस्ट के बाद युवी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, 'मैच दो दिन में समाप्त हो गया, पक्के तौर पर नहीं कह सकता कि यह टेस्ट क्रिकेट के लिये अच्छा है। अगर अनिल कुंबले और हरभजन सिंह इस तरह के विकेट पर गेंदबाजी करते तो उनके नाम पर 1000 और 800 विकेट दर्ज होते। फिर भी अक्षर क्या स्पैल था। बधाई। अश्विन, इशांत को बधाई।' युवराज के विवादित ट्वीट पर पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज और कमेंटेटर गौतम गंभीर ने रिएक्ट किया है। उन्होंने 'डीआरएस फेक्टर' को हाईलाइट किया है। 
डीआरएस का भारत में काफी अहम किरदार

गौतम गंभीर ने युवी के दावों पर ईएसपीएन क्रिकइन्फो के 'रनऑर्डर' शो में कहा कि हां, विकेट अलग है, लेकिन डिसीजन रिव्यू सिस्टम (डीआरएस) आज बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। जब अनिल कुंबले, हरभजन सिंह बॉलिंग कर रहे थे तब क्या डीआरएस था। कुंबले को लगभग 1000 और हरभजन को करीब 700 विकेट मिले होंगे क्योंकि डीआरएस की भारत में विशेष रूप से अहम भूमिका है, जहां काफी इनसाइड एज होती है और गेंद पैड्स से बहुत लगती है। 

गंभीर ने आगे कहा कि उस दृष्टिकोण से मैं युवराज सिंह से सहमत हूं, लेकिन इस दृष्टिकोण से कि अगर वे इस प्रकार की पिचों पिचों पर खेलते तो विकेटों की झड़ी लगा देते। शायद ऐसा नहीं होता। क्योंकि आप देखें विकेट सभी के लिए समान है। रविचंद्रन अश्विन ने इस तरह के विकेटों को बनाने के लिए नहीं कहा है। टीम प्रबंधन ऐसी मांग करता है। जब आप इस तरह के विकेट तैयार करते हैं तो अश्विन पर खुद को साबित करने का और अधिक दबाव होता है।'

बचाव में आगे आए गावस्कर और पीटरसन

गौरतलब है कि भारत के सबसे सफल स्पिनर अनिल कुंबले और हरभजन सिंह ने अभी तक तीसरे टेस्ट की पिच के संबंध में कोई टिप्पणी नहीं की है। वहीं, क्रिकेट जगह में अहमदाबाद पिच को लेकर लगातार चर्चा हो रही है। तीसरे टेस्ट मैच के बाद से कई पूर्व क्रिकेटर्स की पिच को लेकर राय बंटी हुई है। पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर, केविन पीटरसन, ग्रीम स्वान, विव रिचर्ड्स आदि ने पिचा का बचाव किया है जबकि शोएब अख्तर, एलिस्टर कुक, डेविड लॉयड, माइकल वॉन ने पिच की कड़ी आलोचना की है। भारत और इंग्लैंड के बीच चौथा और अंतिम टेस्ट 4 मार्च से अहमदबादा में ही होगा।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर