सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर इन 5 भारतीय बल्‍लेबाजों का रहा बोलबाला, कंगारुओं को याद दिलाई नानी

India vs Australia: भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर 7 जनवरी से तीसरा टेस्‍ट खेला जाएगा। चलिए आपको बताते हैं कि किन 5 भारतीय बल्‍लेबाजों का यहां बोलबाला रहा है।

sachin tendulkar and cheteshwar pujara
सचिन तेंदुलकर और चेतेश्‍वर पुजारा 

मुख्य बातें

  • भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच सिडनी में 7 जनवरी से शुरू होगा मैच
  • सिडनी में भारतीय बल्‍लेबाजों का दमदार प्रदर्शन रहा है, देखिए टॉप-5 यहां
  • टीम इंडिया का इस मैदान पर आंकड़ों के लिहाज से प्रदर्शन फीका रहा है

नई दिल्‍ली: टीम इंडिया और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच मौजूदा चार मैचों की सीरीज का तीसरा टेस्‍ट सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा। इस समय दोनों टीमों सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं। ऑस्‍ट्रेलिया ने एडिलेड में भारत को उसके सबसे छोटे टेस्‍ट स्‍कोर पर ऑलआउट करके 8 विकेट से मैच जीता। फिर भारत ने अजिंक्‍य रहाणे के नेतृत्‍व में ऑस्‍ट्रेलिया को 8 विकेट से ही मात दी।

वैसे, भारत का सिडनी के मैदान पर अच्‍छा रिकॉर्ड नहीं है। उसने 12 में से यहां केवल एक जीत दर्ज की। हालांकि, इस शानदार मैदान पर भारतीय खिलाड़‍ियों ने कई व्‍यक्तिगत यादगार प्रदर्शन किए हैं। भारतीय बल्‍लेबाजों का एससीजी पर बोलबाला रहा है। इस मैदान पर 14 शतक तो भारतीय बल्‍लेबाजों ने ही जमाए हैं। महान सचिन तेंदुलकर और टीम इंडिया के मौजूदा हेड कोच रवि शास्‍त्री ही दो ऐसे बल्‍लेबाज हैं, जिन्‍होंने सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर दोहरे शतक जमाए हैं।

एससीजी पर 5 भारतीय बल्‍लेबाजों की यादगार पारियां

सचिन तेंदुलकर - 241 (2004)

सचिन तेंदुलकर सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में सर्वाधिक व्‍यक्तिगत स्‍कोर का रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले भारतीय बल्‍लेबाज हैं। तेंदुलकर ने जनवरी 2004 में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ 241 रन की उम्‍दा पारी खेली थी। तेंदुलकर ने इस पारी में 33 बार गेंद को सीमा रेखा के पार भेजा था। यह उनकी सबसे अनुशासनात्‍मक पारी मानी जाती है, जिसमें उन्‍होंने अपना पसंदीदा शॉट कवर ड्राइव नहीं लगाया था। तेंदुलकर की यह पारी वाकई यादगार है।

रवि शास्‍त्री - 206 (1992)

टीम इंडिया के मौजूदा कोच रवि शास्‍त्री ऑस्‍ट्रेलियाई जमीन पर भारत के लिए सबसे ज्‍यादा रन बनाने वाले बल्‍लेबाजों में से एक हैं। टेस्‍ट क्रिकेट में ऑस्‍ट्रेलिया में शास्‍त्री दोहरा शतक जमाने वाले पहले भारतीय बल्‍लेबाज थे। उन्‍होंने 17 चौके और दो छक्‍के की मदद से 206 रन बनाए थे। रवि शास्‍त्री को शेन वॉर्न ने आउट किया था। यह वॉर्न का पहला टेस्‍ट शिकार भी था।

चेतेश्‍वर पुजारा - 193 (2019)

भारत ने 2018-19 में ऐतिहासिक टेस्‍ट सीरीज जीत दर्ज की थी। विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली भारतीय टीम ने ऑस्‍ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर 2-1 से मात दी थी। यह टेस्‍ट इतिहास में पहला मौका था जब भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया में सीरीज जीती। पुजारा ने सिडनी में 193 रन की उम्‍दा पारी खेली, जिसकी मदद से भारत ने पहली पारी में 622 रन बनाए। यह मुकाबला बारिश के कारण ड्रॉ पर समाप्‍त हुआ। पुजारा इस सीरीज में सबसे ज्‍यादा रन बनाने वाले बल्‍लेबाज थे। भारत ने 2-1 से सीरीज अपने नाम की थी।

वीवीएस लक्ष्‍मण - 178 (2004)

सचिन तेंदुलकर ने जहां 241 रन की पारी खेली, उसी में वीवीएस लक्ष्‍मण ने 178 रन का योगदान दिया था। सचिन और लक्ष्‍मण की पारियों की बदौलत भारत ने 705 रन का स्‍कोर बनाया था। इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 353 रन की साझेदारी की थी। लक्ष्‍मण ने 298 गेंदों की अपनी पारी में 30 चौके जमाए थे।

सुनील गावस्‍कर - 172 (1986)

सुनील गावस्‍कर ने 1986 में सिडनी में खेले गए टेस्‍ट में 172 रन की उम्‍दा पारी खेली थी। इस मैच में तीन भारतीय बल्‍लेबाजों ने शतक जमाए थे। गावस्‍कर के अलावा के श्रीकांत (116) और मोहिंदर अमरनाथ (138) ने भी सैकड़े पूरे किए थे। भारत ने 600 रन बोर्ड पर लगाए थे। रवि शास्‍त्री के 1992 में रिकॉर्ड तोड़ने से पहले ऑस्‍ट्रेलियाई जमीन पर सर्वश्रेष्‍ठ व्‍यक्तिगत टेस्‍ट स्‍कोर का रिकॉर्ड सुनील गावस्‍कर के नाम ही दर्ज था।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर