Chandigarh Suicide: चंडीगढ़ में डॉक्टर ने एनेस्थीसिया में उपयोग होने वाली दवा का इंजेक्शन लगाकर किया सुसाइड

Chandigarh Suicide: चंडीगढ़ के सेक्टर-34 स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में डॉक्टर ने खुद को एनेस्थीसिया का इंजेक्‍शन देकर सुसाइड कर लिया। सुसाइट से पहले मृतक ने अपनी मां को फोन कर पैसे और जरूरी समानों के बारे में जानकारी दी थी। पुलिस मृतक का मोबाइल व आईपैड जब्‍त कर जांच कर रही है।

doctor committed suicide
डॉक्‍टर ने एनेस्थीसिया का इंजेक्शन लगाकर किया सुसाइड  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • डॉक्‍टर ने खुद को एनेस्थीसिया का इंजेक्‍शन देकर किया सुसाइड
  • सुसाइड करने के लिए लगाए एनेस्थीसिया के चार इंजेक्‍शन
  • मृतक ने सुसाइड से पहले अपनी मां को फोन कर दी थी अहम जानकारी

Chandigarh Suicide: चंडीगढ़ से सटे मोहाली के फेज-2 स्थित किराये के मकान में रहने वाले एक डॉक्टर ने खुद को एनेस्थीसिया (एट्राक्यूरिम) का इंजेक्शन देकर खुदकुशी कर ली। मृतक डॉक्‍टर की पहचान 32 वर्षीय संदीप सिंह के रूप में हुई है। संदीप चंडीगढ़ सेक्टर-34 स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में डॉक्टर के पद पर प्रैक्टिस कर रहा था और यहां पर पिछले तीन महीने से किराये पर अकेला रहता था। घटना की जानकारी मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव को बाहर निकाला। फेज-1 थाने के एसएचओ सुमित मोर ने बताया कि डॉक्टर संदीप सिंह मूल रूप से कनाट कालोनी रोपड़ के रहने वाले थे।

पुलिस के अनुसार घटना स्‍थल की जांच के दौरान मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। पुलिस ने मृतक डॉक्‍टर की मां के बयान दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल फेज-6 की मोर्चरी में रखवा दिया है। अब पुलिस इस सुसाइट के कारणों का पता लगाने में जुटी है। पुलिस की एक टीम डॉक्‍टर के हॉस्पिटल में भी पूछताछ के लिए भेजी गई है। साथ ही पुलिस ने मृतक का मोबाइल व आइपैड जब्त कर उसकी भी जांच कर रही है।

मां को पैसों व जरूरी समानों की जानकारी देकर किया सुसाइड

एसएचओ सुमित मोर ने बताया कि डॉक्‍टर संदीप शादीशुदा नहीं थे। मृतक के मां के द्वारा दर्ज कराए गए बयान के अनुसार मंगलवार को दिन में करीब 11 बजे संदीप ने अपनी मां से फोन पर बात की थी। इस दौरान उसने अपनी मां को बताया कि उसने अपने पैसे कहां रखे हैं। उसने कुछ अन्य सामान के बारे में भी अपनी मां को जानकारी दी थी। उसने मां से कहा था कि उसे संभालकर रख ले। बेटे के इन बातों से मां को शक हुआ और वह रोपड़ से फेज-2 पहुंच गई, लेकिन तब तक देर हो गई थी। दरवाजा अंदर से बंद होने पर पुलिस को बुलाया गया। पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो अंदर बेड पर संदीप सिंह का शव पड़ा था। पुलिस को मौके से एनेस्थीसिया इंजेक्शन का रैपर बरामद हुआ है। इसमें से चार इंजेक्‍शन खाली थे। वहीं संदीप के दाहिने हाथ में ग्लूकोज की बोतल और सिरिंज थी, जिसे पुलिस ने कब्जे में ले लिया है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर