चंडीगढ़ में मनचलों का परिवार पर जानलेवा हमला, बेटी से छेड़छाड़ पर टोका तो तलवार से काट डाला, पुलिस ने दर्ज नहीं किया मामला

Chandigarh Police: चंडीगढ़ की मलोया थाना पुलिस का शर्मनाक चेहरा सामने आया है। पुलिस ने छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवकों द्वारा परिवार पर किए हमले के मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है। मलोया पुलिस पर सवाल उठ रहे हैं।

Chandigarh Deadly Attack On Family
चंडीगढ़ में मनचलों का परिवार पर जानलेवा हमला  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • चंडीगढ़ की मलोया थाना पुलिस का शर्मनाक चेहरा
  • छेड़छाड़ और मारपीट का वीडियो आया सामने
  • बेटियों को बचाने आए परिवार पर हमला करने वाले आरोपियों पर मुकदमा नहीं

Chandigarh Molestation Case: चंडीगढ़ से हैरान करने वाली खबर सामने आई है। यहां बेटी से छेड़छाड़ करने का विरोध करने पर आरोपियों ने उसके परिवार पर जानलेवा हमला किया गया है। आरोपियों के हमले में लड़की की मां-बाप और मामा घायल हुए। मलोया के ईडब्ल्यूएस फ्लैट्स के पास यह वारदात हुई। दिनदहाड़े बेखौफ 18 से 25 साल के युवकों ने हाथों में डंडे और तलवारें लहराते हुए परिवार पर हमला किया। मारपीट के दौरान कुछ लोगों ने बीच-बचाव कराने का प्रयास किया, उन्हें भी हल्की चोट आई है, घटना की सूचना मिलते ही पीसीआर मौके पर पहुंची और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। 

वहीं, हमले का वीडियो भी वायरल हो गया है। वीडियो सामने आने के बाद मलोया थाना पुलिस को यह पूरा मामला फर्जी लग रहा है। पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया है कि, मुकदमा दर्ज करने की बजाय पुलिस कह रही है कि उन्होंने खुद ही अपने आप को चोट पहुंचाईं है। 

पुलिस ने नहीं दर्ज की एफआईआर

पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया है कि, पुलिस का कहना है कि, किसी ने उनके साथ कोई मारपीट नहीं की। घटना के 20 घंटे से ज्यादा बीतने के बाद भी पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की है। जबकि पीसीआर ही घायलों को अस्पताल ले पहुंची थी। मलोया थाना से कोई पुलिसकर्मी पीड़ित परिवार के बयान दर्ज करने नहीं पहुंचा है। मामले में मलोया थाना के एसएचओ सतनाम ने चुप्पी साध रखी है। आपको बता दें कि, चंडीगढ़ में स्माल फ्लैट्स, मलोया के मकान नंबर 524 के सामने यह पूरी घटना घटी। परिवार के सदस्य कमलेश के मुताबिक, करीब दर्जन भर युवक डंडे और तलवारें लेकर यहां हमला करने आए। उनमें से तीन लड़कों के नाम की उसे जानकारी है। उनमें अनिल, रिंकू, धीरज शामिल हैं, ये तीनों कॉलोनी के ही रहने वाले हैं।

छेड़छाड़ का विरोध करने पर आरोपियों ने किया हमला

कमलेश के अनुसार, आरोपी युवक धीरज और रिंकू पिछले काफी दिन से दोनों बेटियों से छेड़खानी कर रहे थे। कभी राह चलते उनका हाथ पकड़ लेते थे तो कभी रात में घर का दरवाजा खटखटाते थे। दोनों बहनें चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एरिया में नौकरी करती हैं। मौसा ने लड़कों का रविवार सुबह विरोध किया तो उन्होंने उन्हें धमकाया। इसके बाद रविवार शाम करीब साढ़े 4 बजे आरोपी युवकों ने अपने साथियों के साथ हमला बोल दिया। 46 वर्षीय मौसी पर भी डंडों से हमला किया। इनके अलावा, घायलों में राम भुज, कल्पनाथ यादव और लीलावती यादव भी शामिल हैं। वहीं, पुलिस ने अब तक मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर