Exclusive: चोकसी के लापता होने से दो दिन पहले डोमिनिका के होटल में रूके थे दो भारतीय

डोमिनिका में हिरासत में लिए गए भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को लेकर स्थानीय मीडिया में कई दावे किए जा रहे हैं। टाइम्स नाउ ने इन दावों की पुष्टि के लिए उस होटल के मैनेजर से बात की जहां दो भारतीय ठहरे थे।

Two Indians were staying a hotel in Dominica for two days before Mehul Choksi went missing
तो चोकसी के लिए डोमिनिका के होटल में रूके थे दो भारतीय? 

मुख्य बातें

  • डोमिनिका के एक अस्पताल में भर्ती है इस समय मेहुल चोकसी
  • स्थानीय मीडिया का दावा- चोकसी को लेने आए दो भारतीय डोमिनिका के होटल में रूके थे
  • टाइम्स नाउ ने की उस होटल के मैनेजर से बात, की भारतीयों के रहने की पुष्टि

नई दिल्ली: कर्ज धोखाधड़ी के मामले में वांछित भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को लेकर तमाम तरह की बातें हो रही है। चोकसी एंटीगुआ एंड बारबुडा से रहस्यमयी परिस्थितियों में लापता हो गया था औब बाद में उसे डोमिनिका में ‘अवैध रूप से प्रवेश’ करने पर हिरासत में लिया गया था। वहीं चोकसी के वकीलों ने दावा किया कि उनके मुक्किल का अपहरण कर डोमिनिका लाया गया। यहां समुद्र किनारे स्थित 'होटल फोर्ट यंग' में दो भारतीय रह रहे थे जो चोकसी के लिए आए थे। 

होटल में रूके थे दो भारतीय
इसके बाद जब 'टाइम्स नाउ' ने जब डोमानिका के पोर्ट यंग होटल के मैनेजर से बात की तो उन्होंने इस बात की पुष्टि की कि यहां पिछले हफ्ते दो भारतीय लोग ठहरे हुए थे। 'टाइम्स नाउ' के संवाददाता सिद्धांत ने होटल के मैनेजर से बात की तो उन्होंने इस बाद की पुष्टि करते हुए कहा कि दो भारतीय इस होटल में रूके थे। मैनेजर ने कहा कि वो दो दिन तक यहां रहे थे। 

स्थानीय मीडिया का दावा
स्थानीय मीडिया ने दावा किया था कि चोकसी के लापता होने से पहले दो भारतीय 'होटल फोर्ट यंग' में रूके थे जो चोकसी को वापस ले जाने के लिए आए थे लेकिन इससे पहले ही खबर लीक हो गई। इससे पहले चोकसी के वकील ने दावा किया था कि एंटीगुआ में जॉली बंदरगाह में एक जहाज में ‘जबर्दस्ती’  बैठाया गया और डोमिनिका लाया गया। वकील ने कहा कि भारतीय और डोमिनिका के पुलिसकर्मियों की तरह दिखने वाले लोगों ने यह किया।

वहीं एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने पूर्व में दावा किया था कि भगोड़ा मेहुल चोकसी मुख्य विपक्षी यूनाइटेड प्रोग्रेसिव पार्टी को फंडिंग कर रहा था। उन्होंने एक रेडियो शो पर आरोप लगाते हुए कहा कि फंडिंग की वजह  से ही विपक्ष ने चोकसी के समर्थन में बयान जारी किया है। हालांकि विपक्ष ने सारे आरोपों को बेबुनियाद बताया है।

अस्पताल में भर्ती हुआ मेहुल
इसके बाद जब मामला अदालत तक पहुंचा तो कोर्ट ने चोकसी को कहीं और भेजने पर रोक लगा दी। जैसे ही मेहुल चोकसी की चोट के निशान वाली तस्वीर लीक हुई तो उसे हिरासत  से बाहर निकालकर तुरंत डोमनिका-चाइना फ्रेंडशिप अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां फिलहाल उसका इलाज चल रहा है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर