Sensex Today: थम गया शेयर बाजार में आई तेजी का सिलसिला, सेंसेक्स 536 अंक टूटा, रुपया भी गिरा

BSE/NSE Sensex Today: फ्रैंकलिन टेंपलेटन द्वारा अचानक छह बांड योजनाओं को बंद करने की घोषणा से वित्तीय और बैंकिंग कंपनियों के शेयरों में जबर्दस्त बिकवाली से सेंसेक्स 536 अंक टूट गया।

Stock market declined again
शेयर बाजार में फिर आई गिरावट 

मुख्य बातें

  • फ्रैंकलिन टेम्पलटन की ओर से 6 म्यूचुअल फंड योजनाओं को बंद करने का दिखा असर
  • कोरोना वायरस की संभावित वैक्सीन का टेस्ट फेल होने की रिपोर्ट ने भी डाला प्रभाव
  • वैश्विक बाजार का असर- सेंसेक्स में दर्ज की गई 536 अंक की गिरावट

नई दिल्ली: संकट के बीच बीते दिनों शेयर मार्केट में तेजी देखने को मिली थी। बीते समय में कई दिनों तक निराशाजनक प्रदर्शन के बाद शेयर बाजार का ग्राफ ऊपर की तरफ गया था हालांकि यह तेजी का सिलसिला ज्यादा देर तक कायम नहीं रह सका और एक बार फिर गिरावट देखने को मिली है। शुक्रवार को भारतीय शेयर तेजी से कम हुए, वैश्विक बाजारों के साथ-साथ बैंकिंग शेयरों में बिकवाली देखी गई। लगातार फैल रहे कोरोना संक्रमण के बीच बीएसई सेंसेक्स 535.86 अंक या 1.68% गिरकर 31,327.22 पर और निफ्टी 50 इंडेक्स159.50 अंक या 1.71% गिरकर 9,154.40 पर बंद हुआ।

फ्रैंकलिन टेंपलेटन कंपनी की ओर से अचानक छह म्यूचुअल फंड बॉन्ड योजनाओं को बंद करने की घोषणा से वित्तीय और बैंकिंग कंपनियों के शेयरों में जबर्दस्त बिकवाली से सेंसेक्स 536 अंक टूट गया। डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट और वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख से भी यहां असर देखने को मिला।

भारत में कोरोनोवायरस संक्रमण के मामले गुरुवार तक 23,000 के पार हो गए। विश्व स्तर पर भी संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने मोतीलाल ओसवाल सिक्योरिटीज़ के प्रमुख सिद्धार्थ खेमका के हवाले से कहा, 'वैश्विक संकेत नकारात्मक हैं, वैक्सीन की संभावनाएं कम हो गई हैं और कई मामलों में चिंता बढ़ रही है।'

किसको फायदा, किसे नुकसान: बाजार में घाटे में सबसे ज्यादा भूमिका बैंकिंग और एनबीएफसी शेयरों की रही। निफ्टी बैंक, एनएसई का बैंकिंग उप-सूचकांक 3.36% गिर गया। निफ्टी शेयरों में बजाज फाइनेंस 9.03% नीचे रहा। विश्लेषकों को उम्मीद है कि चालू वित्त वर्ष के लिए कंपनी की कमाई में भारी गिरावट आएगी।

निफ्टी में नुकसान झेलने वाली कंपनियों में भारती इंफ्राटेल, एक्सिस बैंक, बजाज फिनसर्व, एचडीएफसी, जेएसडब्ल्यू स्टील, अल्ट्राटेक सीमेंट, टेक महिंद्रा प्रमुख रहे।

इस बीच, निफ्टी में ब्रिटानिया सबसे ज्यादा बढ़त में रही, कंपनी ने गुरुवार को 3.89% की बढ़त के साथ 35 रुपए प्रति शेयर के अंतरिम लाभांश की घोषणा की। निफ्टी में रिलायंस इंडस्ट्रीज, सिप्ला, सन फार्मा, हीरो मोटोकॉर्प, एलएंडटी, पावरग्रिड कॉर्प, बजाज ऑटो भी प्रमुख लाभार्थी रहे, जो 0.77% से 3.36% के बीच रहे।

रुपया: अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया आज 40 पैसे की गिरावट के साथ प्रति डॉलर के मुकाबले 76.46 पर पहुंच गया। जिससे घरेलू इक्विटी कमजोर हुई और विदेशों में मजबूती आई। विदेशी मुद्रा व्यापारियों ने कहा कि कोरोनो वायरस के लिए एक संभावित एंटी वायरल दवा का परीक्षण फेल होने के बाद बाजार की धारणा कमजोर हो गई।

वैश्विक बाजार: अन्य जगहों पर, अधिकांश अन्य एशियाई शेयर 0.30% से 1.5% के बीच नुकसान के साथ बंद हुए। यूरोपीय शेयरों ने भी घाटे के साथ कारोबार किया। शाम 4 बजे तक, DAX 0.93%, लंदन का FTSE 100 इंडेक्स 0.81%, जबकि CAC 40 इंडेक्स 0.82% नीचे रहा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर