Reliance Retail: रिलायंस रिटेल ने 24,713 करोड़ में खरीदा फ्यूचर ग्रुप का कारोबार

reliance acquires future group retail business:रिलायंस रिटेल की सहायक आरआरवीएल ने कामयाबी के एक और झंडे गाड़े हैं। फ्यूचर समूह के रिटेल और थोक व्यापार को खरीद लिया है।

Reliance Retail:रिलायंस रिटेल 24,713 करोड़ रुपये में फ्यूचर समूह के खुदरा और थोक कारोबार का अधिग्रहण करेगी
आरआरवीएल के हाथ एक और कामयाबी 

मुख्य बातें

  • फ्यूचर ग्रुप के रिटेल और थोक व्यापार को रिलायंस रिटेस की आरआरवीएन ने किया अधिग्रहण
  • 24,713 करोड़ में हुआ सौदा,डील के तहत फ्यूचर ग्रुप कुछ कंपनियों को फ्यूचर एंटरप्राइजेज लिमिटेड (एफईएल) में मर्ज कर रहा है
  • 'फ्यूचर ग्रुप के प्रसिद्ध ब्रांडों के साथ-साथ उसके व्यावसायिक ईको सिस्टम को संरक्षित करने में हमें प्रसन्नता होगी'

नयी दिल्ली।  मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड ने फ्यूचर ग्रुप का रिटेल, होलसेल लॉजिस्टिक्स और वेयरहाउस बिजनेस 24 हजार 7 सौ 13 करोड़ में खरीद लिया है। इस मेगा डील से कंपनी की रिटेल कारोबार में स्थिति और भी मजबूत हो जाएगी। भारतीय ई-कॉमर्स बाजार में अमेज़ॅन जैसे दिग्गज खिलाड़ियों को टक्कर देने के लिए रिलायंस रिटेल अपने पांव मजबूत कर रहा है।

24,713 करोड़ में सौदा
डील के तहत फ्यूचर ग्रुप कुछ कंपनियों को फ्यूचर एंटरप्राइजेज लिमिटेड (एफईएल) में मर्ज कर रहा है। इस योजना के अंतर्गत  रिटेल और होलसेल उपक्रम को रिलायंस रिटेल एंड फैशन लाइफस्टाइल लिमिटेड (RRFLL) में स्थानांतरित किया जा रहा है। यह RRVL की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है; लॉजिस्टिक्स और वेयरहाउसिंग अंडरटेकिंग को आरआरवीएल को हस्तांतरित किया जा रहा है। 

आधुनिक रिटेल के इतिहास में बनेगा नजीर
रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड की निदेशक ईशा अंबानी ने कहा: " फ्यूचर ग्रुप के प्रसिद्ध ब्रांडों के साथ-साथ उसके व्यावसायिक ईको सिस्टम को संरक्षित करने में हमें प्रसन्नता होगी। भारत में आधुनिक रिटेल के विकास में यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। हमे आशा है कि छोटे व्यापारियों, किराना स्टोर्स और बड़े उपभोक्ता ब्रांडों की सहभागिता के दम पर रिटेल सेक्टर में विकास की गति बनी रहेगी, हम देश भर में अपने उपभोक्ताओं को बेहतर मूल्य प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

मुकेश अंबानी का 12 करोड़ किसानों को जोड़ने का लक्ष्य
रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी ने रिटेल बिजनेस में 3 करोड़ किराना मालिकों और 12 करोड़ किसानों को जोड़ने का लक्ष्य रखा था। फ्यूचर समूह के खुदरा व्यापार, थोक और सप्लाई चेन व्यवसाय के अधिग्रहण से रिलायंस अपनी स्थिती मजबूत कर रहा है।रिलायंस रिटेल वेंचर्स की निदेशक, ईशा अंबानी ने कहा, "इस लेनदेन के साथ, हम फ्यूचर ग्रुप के प्रसिद्ध प्रारूपों और ब्रांडों को एक घर प्रदान करने के साथ-साथ अपने व्यावसायिक पारिस्थितिकी तंत्र को संरक्षित करने की कृपा कर रहे हैं, जिन्होंने आधुनिक के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। भारत में खुदरा। हम छोटे व्यापारियों और किरानियों के साथ-साथ बड़े उपभोक्ता ब्रांडों के साथ सक्रिय सहयोग के अपने अनूठे मॉडल के साथ खुदरा उद्योग की वृद्धि की गति को जारी रखने की उम्मीद करते हैं। हम देश भर में अपने उपभोक्ताओं को मूल्य प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। ''

अधिग्रहण सेबी, सीसीआई और दूसरी एजेंसियों के अनुमोदन के अधीन
यह अधिग्रहण सेबी, सीसीआई, एनसीएलटी, शेयरधारकों, लेनदारों और अन्य अपेक्षित अनुमोदन के अधीन है।फ्यूचर ग्रुप के ग्रुप सीईओ, किशोर बियानी ने एक बयान में कहा, “इस पुनर्गठन और लेन-देन के परिणामस्वरूप, फ्यूचर ग्रुप कोविड  और वृहद आर्थिक वातावरण के कारण उत्पन्न चुनौतियों का समग्र समाधान प्राप्त करेगा। यह लेन-देन अपने सभी हितधारकों के हित को ध्यान में रखता है, जिसमें ऋणदाताओं, शेयरधारकों, लेनदारों, आपूर्तिकर्ताओं और सभी व्यवसायों को निरंतरता देने वाले कर्मचारी शामिल हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर