RBI Retail Direct Scheme: क्या है RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम और इसके फायदे? जानें विशेषज्ञों की राय

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Nov 12, 2021 | 14:00 IST

RBI Scheme Launch: RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम (RBI Retail Direct Scheme) से रिटेन निवेशक ऑनलाइन सरकारी बॉन्ड खरीद पाएंगे।

RBI Retail Direct Scheme
RBI Retail Direct Scheme (Pic: iStock) 
मुख्य बातें
  • आज पीएम मोदी नरेंद्र मोदी ने RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम लॉन्च की।
  • छोटे निवेशक अब बिना किसी शुल्क के आरबीआई के साथ Gilt Securities Account खोल सकते हैं।
  • इसके जरिए रिटेल निवेशक सीधे जी-सेक में निवेश कर पाएंगे।

RBI Scheme Launch: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम (RBI Retail Direct Scheme) का शुभारंभ किया। यह योजना खुदरा निवेशकों (Retail Investors) को ऑनलाइन सरकारी बॉन्ड (Government Bond) खरीदने और बेचने की अनुमति देती है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने फरवरी 2021 में इसकी घोषणा की थी। सरकारी बॉन्ड की खरीद और बिक्री के लिए पोर्टल (rbiretaildirect.org.in) का इस्तेमाल किया जा सकता है।

क्या है RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम (RBI Retail Direct Scheme)?

आरबीआई रिटेल डायरेक्ट स्कीम के तहत खुदरा निवेशक प्राइमरी और सेकेंडरी बाजारों में गवर्नमेंट सेक्योरिटीज (जी-सेक) को ऑनलाइन खरीद और बेच सकेंगे। आरबीआई द्वारा उपलब्ध जानकारी के अनुसार, छोटे निवेशक अब आरबीआई के साथ गिल्ट सिक्योरिटीज खाता (Gilt Securities Account) खोलकर सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश कर सकते हैं। इन खातों को रिटेल डायरेक्ट गिल्ट (RDG) खाता कहा जाएगा।

अर्थशास्त्री आकाश जिंदल ने बताया रिटेल निवेशकों को कैसे होगा फायदा
अर्थशास्त्री आकाश जिंदल ने टाइम्स नाउ नवभारत को बताया कि, 'इससे रिटेल निवेशकों को जी-सेक बाजार में डायरेक्ट एक्सेस मिल जाएगा। ये गवर्नमेंट सेक्योरिटीज दो तरह की होंगी- केंद्र सरकार द्वारा इश्यू की गईं और राज्य सरकार द्वारा इश्यू की गईं। इसमें ऑनलाइन पोर्टल के जरिए बिना किसी शुल्क के आरबीआई के साथ रिटेल डायरेक्ट गिल्ट खाता खुलेगा, जिसके जरिए रिटेल निवेशक सीधे जी-सेक में निवेश कर पाएंगे। इसका बड़ा फायदा यह है कि गवर्नमेंट सेक्योरिटीज में पैसा काफी हद तक सुरक्षित होता है। रिटेल निवेशकों को जी-सेक में निवेश का एक नया जरिया मिलेगा। ये बेहद आसान होगा क्योंकि निवेश एक पोर्टल के जरिए होगा। यह आम आदमी को गवर्नमेंट सेक्योरिटीज में जोड़ने का एक अच्छा प्रयास है। विदेश में ऐसे कईं फाइनेंशल इंजीनियरिंग के मकैनिज्म इस्तेमाल होते हैं जहां आम आदमी को इसका एक्सेस दिया जाता है। तकनीक का अच्छा इस्तेमाल होगा। मेरे हिसाब से रिटेल निवेशकों को इसमें भाग लेना चाहिए।'

खुदरा निवेशकों के लिए निवेश का अच्छा अवसर- रवि सिंह
Share India Securities के उपाध्यक्ष और हेड ऑफ रिसर्च रवि सिंह ने बताया कि, 'रिटेल डायरेक्ट स्कीम खुदरा निवेशकों के लिए गवर्नमेंट सेक्योरिटीज सॉवरेन बांड आदि में निवेश करने का एक अच्छा माध्यम है। आरबीआई द्वारा दी जाने वाली खुदरा प्रत्यक्ष योजना खुदरा निवेशकों के लिए सरकारी प्रतिभूतियों, सॉवरेन बांड आदि में निवेश करने का एक अच्छा अवसर है। ऐसा भारत में पहली बार हुआ है जब खुदरा निवेशकों को सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश के लिए आसान और डायरेक्ट चैनल मिला हो। सरकारी प्रतिभूतियां इक्विटी या एसेट में निवेश की तुलना में कम जोखिम और कम रिटर्न प्रदान करती हैं। मेरी सलाह यह है कि खुदरा निवेशकों को अपने निवेश में विविधता लानी चाहिए और बेहतर व सुरक्षित रिटर्न पाने के लिए इसका लाभ उठाना चाहिए।'

कौन खोल सकता है आरडीजी खाता (RDG account)?
आरबीआई द्वारा 12 जुलाई, 2021 को जारी अधिसूचना के अनुसार, खुदरा निवेशक आरडीजी खाता खोल सकते हैं। इसके लिए निम्नलिखित चीजें अनिवार्य हैं-

  • बचत बैंक
  • आयकर विभाग द्वारा जारी पैन कार्ड
  • KYC के लिए कोई भी आधिकारिक वैध दस्तावेज जैसे- आधार कार्ड, वोटर आईडी, आदि
  • ईमेल आईडी
  • मोबाइल नंबर

ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण कैसे करें?
निवेशक ऑनलाइन फॉर्म भरकर ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते हैं। इसके लिए आपको पंजीकृत मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर प्राप्त ओटीपी का इस्तेमाल करना होगा। पंजीकरण होने पर, 'रिटेल डायरेक्ट गिल्ट अकाउंट' खोला जाएगा और ऑनलाइन पोर्टल तक पहुंचने के लिए SMS या ई-मेल के माध्यम से जानकारी दी जाएगी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर