RBI Schemes Launch: खुदरा निवेशकों को तोहफा, पीएम मोदी ने लॉन्च की दो खास योजनाएं

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Nov 12, 2021 | 12:24 IST

RBI Schemes Launch: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छोटे निवेशकों को बड़ा तोहफा दिया है। पीएम मोदी ने RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम' और एकीकृत लोकपाल योजना लॉन्च की।

PM Modi launched RBI Schemes
RBI Schemes Launch: पीएम मोदी ने लॉन्च की दो खास योजनाएं  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्रीय बैंक की इन दोनों योजनाओं से देश में निवेश के दायरे का विस्तार होगा।
  • इससे निवेशकों को लाभ होगा और साथ ही पारदर्शिता भी आएगी।
  • आज लॉन्च की गई दोनों योजनाएं मील का पत्थर साबित होंगी।

RBI Schemes Launch: छोटे निवेशकों को सरकारी प्रतिभूतियों (Government Securities) में निवेश करने का एक नया अवसर मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की दो उपभोक्ता केंद्रित योजनाओं- RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम' (RBI Retail Direct Scheme) और एकीकृत लोकपाल योजना (Integrated Ombudsman Scheme) की शुरुआत की है। इस मौके पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) और आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) भी मौजूद रहे। अब खुदरा निवेशकों के लिए भारत सरकार और राज्य सरकारों द्वारा जारी प्रतिभूतियों में सीधे निवेश करने का रास्ता खुल गया है।

निवेश के दायरे का होगा विस्तार- PM मोदी
इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि, 'रिटेल डायरेक्ट स्कीम से देश में छोटे निवेशकों को गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में निवेश का आसान और सुरक्षित माध्यम मिल गया है। इसी प्रकार, एकीकृत लोकपाल योजना से बैंकिंग सेक्टर में एक राष्ट्र-एक लोकपाल (One Nation, One Ombudsmen System) ने आज साकार रूप लिया है। आज जिन दो योजनाओं को लॉन्च किया गया है, उससे देश में निवेश के दायरे का विस्तार होगा।'

7 सालों में 19 गुणा बढ़ी डिजिटल ट्रांजेक्शंस
आगे पीएम मोदी ने कहा कि, 'बैंकिंग सेक्टर को और मजबूत करने के लिए सहकारी बैंकों को भी RBI के दायरे में लाया गया। इससे इन बैंकों की गवर्नेंस में सुधार आ रहा है और जो लाखों ग्राहकों का विश्वास मजबूत हो रहा है। 6 से 7 साल पहले तक भारत में बैंकिंग, पेंशन, इंश्योरेंस, ये सब कुछ एक एक्सक्लूसिव क्लब जैसा हुआ करता था। देश का सामान्य नागरिक, गरीब परिवार, किसान, छोटे व्यापारी-कारोबारी, महिलाएं, दलित-वंचित-पिछड़े, इन सबके लिए ये सब सुविधाएं बहुत दूर थीं। जिन लोगों पर सुविधाओं को गरीब तक पहुंचाने की जिम्मेदारी थी उन्होंने भी इस पर कभी ध्यान नहीं दिया। UPI ने बहुत ही कम समय में डिजिटल ट्रांजेक्शंस के मामले में दुनिया का अग्रणी देश बना दिया है। सिर्फ 7 सालों में भारत ने डिजिटल ट्रांजेक्शंस के मामले में 19 गुणा की छलांग लगाई है। 

आज 24 घंटे, सातों दिन और 12 महीने देश में कभी भी, कहीं भी हमारा बैंकिंग सिस्टम चालू रहता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमें देश की, देश के नागरिकों की जरूरतों को केंद्र में रखना होगा और निवेशकों के भरोसे को लगातार मजबूत करते रहना होगा।

क्या है RBI रिटेल डायरेक्ट स्कीम?
योजना के तहत खुदरा निवेशक ऑनलाइन सरकारी सिक्योरिटी मार्केट में निवेश कर सकते हैं। अब निवेशक आरबीआई में अपना सरकारी सिक्योरिटीज अकाउंट (Gilt Account) खोल सकेंगे। इसके लिए कोई शुल्क नहीं लेगा। आरबीआई रिटेल डायरेक्ट स्कीम किसी निवेशक द्वारा सरकारी  सिक्योरिटीज में निवेश के लिए एक वन-स्टॉप सल्यूएंशन है। मालूम हो कि इससे आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने इसे 'प्रमुख संरचनात्मक सुधार' कहते हुए फरवरी में नीति समीक्षा में हरी झंडी दिखाई थी। जुलाई में आऱबीआई ने कहा था कि निवेशकों के पास निगोशिएटेड डीलिंग सिस्टम ऑर्डर मैचिंग (Negotiated Dealing System-Order Matching Segment) या NDS-OM में निवेश करने की पहुंच होगी।

क्या है एकीकृत लोकपाल योजना?
एकीकृत लोकपाल योजना का लक्ष्य शिकायतों को दूर करने वाली प्रणाली में सुधार लाना है। अब संस्थाओं के खिलाफ ग्राहकों की शिकायतों को दूर करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक नियम बना सकेगा। इस योजना की थीम 'एक राष्ट्र-एक लोकपाल' की अवधारणा पर आधारित है। इसके तहत एक पोर्टल, एक ई-मेल और एक पता होगा, जहां ग्राहक अपनी शिकायत दायर करा सकते हैं। टोल-फ्री नंबर के जरिए शिकायतों का समाधान करने और शिकायतें दायर करने के बारे में सभी जरूरी जानकारी उपलब्ध होगी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर