रक्षा मंत्रालय ने पहली बार 3 प्राइवेट बैंकों को दी विदेशी खरीद के लिए सर्विस प्रदान करने की अनुमति

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Jul 07, 2022 | 16:32 IST

मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस ने सैन्य सामान की विदेशों में खरीद से संबंधित फाइनेंशियल सर्विस मुहैया कराने के लिए प्राइवेट सेक्टर के तीन बैंकों को मंजूरी दे दी है।

MoD some private banks for financial services for overseas procurement by govt agencies
3 बैंकों को मिली सैन्य खरीद के लिए सर्विस देने की अनुमति  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्ली। रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को प्राइवेट सेक्टर के तीन बैंकों को सरकारी एजेंसियों द्वारा विदेशी खरीद के लिए फाइनेंशियल सर्विस प्रदान करने की मंजूरी दे दी है। रक्षा मंत्रालय ने अब एचडीएफसी बैंक लिमिटेड, आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक को मंत्रालय द्वारा विदेशी खरीद के लिए लेटर ऑफ क्रेडिट और डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर बिजनेस प्रदान करने की अनुमति दी है।

इस संदर्भ में रक्षा मंत्रालय ने कहा कि फाइनेंशियल सर्विस विभाग द्वारा प्राइवेट सेक्टर के बैंकों को सरकारी व्यवसाय के आवंटन को आगे बढ़ाने के क्रम में, MoD ने मंत्रालय द्वारा विदेशी खरीद के लिए ऋण पत्र और प्रत्यक्ष बैंक हस्तांतरण प्रदान करने का जिम्मा तीन निजी क्षेत्र के बैंक - एचडीएफसी बैंक लिमिटेड, आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक को दिया है।।

मंत्रालय पहले ही तीन निजी बैंकों के साथ समझौते पर हस्ताक्षर कर चुका है। अब तक सिर्फ ऑथराइज्ड सरकारी बैंकों को ही मंत्रालय को ये सेवाएं प्रदान करने की अनुमति थी।

एलन मस्क के जुड़वा बच्‍चों का खुलासा, अब 7 नहीं, 9 बच्चों के पिता हैं दुनिया के सबसे रईस शख्स

पहली बार प्राइवेट बैंकों को मिली इसकी अनुमति
इस संबंध में MoD की ओर से PCDA, नई दिल्ली द्वारा हाल ही में इन तीनों बैंकों के साथ MoU पर हस्ताक्षर किए गए हैं। इसके साथ ही अब पहली बार तीन निजी बैंकों को भी रक्षा मंत्रालय द्वारा विदेशी खरीद के लिए वित्तीय सेवाएं प्रदान करने की अनुमति दी गई है।

रक्षा मंत्रालय ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि, 'कुछ बैंकों को 2,000 करोड़ के LC कारोबार की मंजूरी दी जा सकती है। इसमें प्रत्येक बैंक एक साल के लिए पूंजी और राजस्व दोनों ही मोर्चों पर 666 करोड़ रुपये आवंटित कर सकता है।' मंत्रालय ने कहा कि इन बैंकों के प्रदर्शन की नियमित रूप से निगरानी की जाएगी, ताकि आगे के कदम उठाए जा सकें।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर