LIC Bachat Plus Plan: 90 दिन के बच्चे का भी करा सकते हैं बीमा, जानें कैसे है फायदेमंद

LIC Bachat Plus Plan: एलआईसी बचत प्लस प्लान में प्रीमियम के लिए दो प्लान उपलब्ध हैं- सिंगल प्रीमियम और लिमिटेड प्रीमियम। इन दोनों विकल्पों के तहत 'मृत्यु पर सम एश्योर्ड' के लिए भी दो-दो विकल्प हैं।

LIC Bachat Plus Plan
LIC बचत प्लस प्लान (Pic: iStock) 
मुख्य बातें
  • एलआईसी बचत प्लस प्लान के तहत आपको सुरक्षा तो मिलेगी ही, साथ ही आप सेविंग्स भी कर सकेंगे।
  • योजना के तहत आप मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर किस्तों में भी प्रीमियम भर सकते हैं।
  • इसके तहत पॉलिसीधारक लोन की भी सुविधा मिलती है।

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी सरकारी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) की कई योजनाएं उपलब्ध हैं। इन्हीं में से एक है बचत प्लस प्लान (LIC Bachat Plus Plan), जिसमें ग्राहकों को सुरक्षा के साथ-साथ सेविंग्स का भी फायदा होता है। LIC के बचत प्लस प्लान में बेसिक सम एश्योर्ड एक लाख रुपये है। वहीं अधिकतम सम एश्योर्ड की कोई सीमा नहीं है। 

LIC Bachat Plus Plan प्रीमियम का भुगतान

इस योजना के तहत, प्रीमियम का भुगतान या तो एकमुश्त (सिंगल प्रीमियम) के रूप में किया जा सकता है या पांच साल की प्रीमियम भुगतान अवधि के साथ लिमिटेड प्रीमियम के रूप में किया जा सकता है। आप मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर केवल राष्ट्रीय स्वचालित क्लियरिंग हाउस (NACH) के जरिए प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं। मालूम हो कि अगर आप बिना किसी एजेंट के ऑनलाइन पॉलिसी खरीदते हैं, तो रिबेट भी लागू है। यह सिंगल प्रीमियम विकल्प में प्रीमियम का दो फीसदी और लिमिटेड प्रीमियम विकल्प में प्रीमियम का सात फीसदी रहेगा।

मृत्यु पर सम एश्योर्ड

दोनों सिंगल प्रीमियम और लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट के तहत 'मृत्यु पर सम एश्योर्ड' के लिए दो-दो विकल्प हैं-
सिंगल प्रीमियम

  • चुने गए मूल सम एश्योर्ड के लिए टैब्युलर प्रीमियम का 10 गुना 
  • चुने गए मूल सम एश्योर्ड के लिए टैब्युलर प्रीमियम का 1.25 गुना 

लिमिटेड प्रीमियम

  • चुने गए मूल सम एश्योर्ड के लिए टैब्युलर प्रीमियम प्लस मॉडल लोडिंग के 10 गुना से ज्यादा या मैच्योरिटी पर गारंटीड सम एश्योर्ड, यानी बेसिक सम एश्योर्ड से ज्यादा
  • चुने गए मूल सम एश्योर्ड के लिए टैब्युलर प्रीमियम प्लस मॉडल लोडिंग के सात गुना से ज्यादा या मैच्योरिटी पर गारंटीड सम एश्योर्ड यानी बेसिक सम एश्योर्ड से ज्यादा

यहां टैब्युलर प्रीमियम का अर्थ है चुने गए विकल्प और बेसिक सम एश्योर्ड के लिए सिंगल प्रीमियम या लिमिटेड प्रीमियम।

कौन ले सकता है बचत प्लस प्लान?

  • सिंगल प्रीमियम: दोनों विकल्पों के तहत कम से कम जन्म के 90 दिन पूरे हो चुके बच्चों के लिए खरीदे जा सकते हैं। वहीं अधिकतम आयु सीमा की बात करें, तो यह पहले विकल्प के तहत 44 साल और दूसरे विकल्प के तहत 70 साल है।
  • लिमिटेड प्रीमियम: पहले विकल्प के तहत यह जन्म के 90 दिन पूरे हो चुके बच्चों के लिए खरीद सकते हैं। दूसरे के तहत न्यूनतम आयु 40 साल होनी चाहिए। वहीं अधिकतम आयु सीमा की बात करें, तो यह पहले विकल्प के तहत 60 साल और दूसरे विकल्प के तहत 65 साल है।

मैच्योरिटी पर ऐसे होगा लाभ

पॉलिसीधारक को मैच्योरिटी अमाउंट का भुगतान किया जाएगा। मैच्योरिटी अमाउंट, बेसिक सम एश्योर्ड के बराबर होगा। इसके अलावा अगर कोई लॉयल्टी एडिशन है, तो उसका भुगतान भी किया जाता है। पॉलिसीधारक के पास मैच्योरिटी बेनिफिट को एकमुश्त या पांच, 10, 15 साल की अवधि में किस्तों में लेने का विकल्प है। वे डेथ बेनिफिट भी एकमुश्त या 5, 10, 15 साल की अवधि में किस्तों में ले सकते हैं।

लोन की भी मिलती है सुविधा 

इसके तहत पॉलिसीधारक लोन की भी सुविधा मिलती है। सिंगल प्रीमियम विकल्प में तीन महीने माह पूरे होने के बाद या फिर फ्री लुक पीरियड पूरा होने के बाद लोन लिया जा सकता है। वहीं लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट विकल्प में दो साल तक प्रीमियम भरने के बाद लोन मिल सकता है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर