क्रेडिट कार्ड ड्यू पर मोरेटोरियम लेने वाले रखें इन बातों का ध्यान, नहीं तो होगी ये परेशानी

Moratorium on credit card due : पैसे न होने पर, क्रेडिट कार्ड ड्यू पर मोरेटोरियम लेने से कुछ समय की राहत मिल सकती है और इन छः महीने में आपके क्रेडिट स्कोर पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। लेकिन...

Keep these things in mind when taking Moratorium on credit card due
क्रेडिट कार्ड ड्यू पर मोरेटोरियम लेने से पहले इन बातों का ध्यान रखें  |  तस्वीर साभार: BCCL

Moratorium on credit card due : क्रेडिट कार्ड्स, थोड़े जटिल पेमेंट टूल्स हैं। ये तब फायदेमंद होते हैं जब इनका इस्तेमाल जिम्मेदारी के साथ किया जाता है। लेकिन, लापरवाही से इस्तेमाल करने पर, आपके फाइनेंस को नुकसान हो सकता है। अब इस कोविड-19 संकट में भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी रिटेल लोन EMI के साथ-साथ क्रेडिट कार्ड ड्यू पर भी मोरेटोरियम दिया है। यानी, अब आप मोरेटोरियम की मदद से, 1 मार्च 2020 के बाद जमा हुए क्रेडिट कार्ड ड्यू का पेमेंट 31 अगस्त 2020 तक टाल सकते हैं। पैसे न होने पर, क्रेडिट कार्ड ड्यू पर मोरेटोरियम लेने से कुछ समय की राहत मिल सकती है और इन छः महीने में आपके क्रेडिट स्कोर पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। लेकिन, इससे आपका ड्यू सिर्फ टलेगा, माफ नहीं होगा। बाकी अमाउंट पर इंटरेस्ट लगता रहेगा और मोरेटोरियम पीरियड पूरा होते ही यानी 31 अगस्त 2020 के बाद निर्धारित तारीख को इंटरेस्ट सहित सम्पूर्ण बाकी अमाउंट का पेमेंट करना होगा। इसलिए, यदि आप क्रेडिट कार्ड ड्यू पर मोरेटोरियम लेने जा रहे हैं या ले चुके हैं तो यह जानना जरूरी है कि यह कैसे काम करता है।

मोरेटोरियम के काम करने का तरीका जानें

आम तौर पर, क्रेडिट कार्ड के माध्यम से खर्च करने पर, उसे चुकाने के लिए 50 दिन तक का इंटरेस्ट-फ्री समय मिलता है। आपका ड्यू डेट इस इंटरेस्ट-फ्री पीरियड के अंत में पड़ता है। ड्यू डेट तक पेमेंट न करने पर, बाकी अमाउंट पर इंटरेस्ट और लेट पेमेंट चार्ज लगता है और आपके क्रेडिट स्कोर पर बुरा असर पड़ता है। क्रेडिट कार्ड कंपनियां, “मिनिमम अमाउंट ड्यू" का पेमेंट करने का ऑप्शन भी देती हैं जो "टोटल आउटस्टैंडिंग ड्यू" का एक हिस्सा - आम तौर पर 5% - होता है। सिर्फ मिनिमम अमाउंट ड्यू का पेमेंट करने पर, आपका कार्ड अकाउंट एक्टिव रहता है और लेट पेमेंट चार्ज नहीं लगता है। लेकिन, बाकी बचे अमाउंट पर इंटरेस्ट लगता है।

मोरेटोरियम के मामले में, अधिकांश क्रेडिट कार्ड कंपनियों ने इन छः महीनों में मिनिमम अमाउंट ड्यू देने की जरूरत पर छूट दी है। बाकी अमाउंट का पेमेंट न करने पर आपके क्रेडिट स्कोर पर भी कोई असर नहीं पड़ेगा। लेकिन, आपके बाकी अमाउंट पर इंटरेस्ट लगता रहेगा जब तक आप उसे पूरी तरह चुका नहीं देते। इस पर चक्रवृद्धि दर से इंटरेस्ट लिया जाता है, यानी हर महीने बाकी अमाउंट में अनपेड इंटरेस्ट जोड़ने के बाद निकलने वाले अमाउंट के आधार पर अगले महीने का इंटरेस्ट कैलकुलेट किया जाता है। इस तरह बाकी अमाउंट बढ़ता रहता है जब तक आप उसे पूरी तरह चुका नहीं देते।

अपनी क्रेडिट कार्ड कंपनी से उनके मोरेटोरियम फैसिलिटी देने के तरीके के बारे में पूछें

कोई भी फैसला लेने से पहले यह जानना जरूरी है कि आपको यह मोरेटोरियम फैसिलिटी कैसे दी जा रही है। कुछ मामलों में, आप मंथली ड्यू डेट को बस अपने कार्ड पेमेंट को स्किप करके मोरेटोरियम फैसिलिटी ले सकते हैं। यदि यह इस तरह काम कर रहा है और आप यह फैसिलिटी लेना चाहते हैं तो अपने कार्ड ड्यू पर ऑटो-डेबिट वाले स्टैंडिंग इंस्ट्रक्शन को बंद करना न भूलें। अन्य मामलों में, आपको अपने बैंक को बताना पड़ सकता है कि आप यह फैसिलिटी लेना चाहते हैं। लेकिन याद रखें कि आपकी क्रेडिट कार्ड कंपनी आपको यह फैसिलिटी नहीं भी दे सकती है यदि आपने 1 मार्च 2020 से पहले अपने सभी कार्ड ड्यू का पेमेंट नहीं किया है।

अपनी क्रेडिट नीति और रिस्क समझ के आधार पर, अलग-अलग बैंक अलग-अलग क्रेडिट कार्ड कस्टमर को अलग-अलग तरह से मोरेटोरियम दे सकते हैं। इसलिए, मोरेटोरियम का इस्तेमाल करने का फैसला करने से पहले अपने बैंक से इन सबके बारे में अच्छी तरह जान लें।

तो, क्या आपको अपने क्रेडिट कार्ड ड्यू पर मोरेटोरियम फैसिलिटी लेनी चाहिए?

मोरेटोरियम फैसिलिटी लेने पर, बाकी अमाउंट पर हर महीने 3-4% इंटरेस्ट लगेगा, इसलिए आपको ऐसा करने से पहले अच्छी तरह सोच लेना चाहिए। पैसे की तंगी होने पर और बाकी अमाउंट का पेमेंट करने में कठिनाई होने पर आपको उसे टालने से पहले उसे चुकाने के दूसरे तरीके ढूँढने चाहिए। जैसे, आप अपने इमरजेंसी फंड का इस्तेमाल कर सकते हैं या अपने EPF अकाउंट से पैसे निकाल सकते हैं या गैर-जरूरी इन्वेस्टमेंट को रोककर/तोड़कर पैसों का इंतजाम कर सकते हैं। आप अपने दोस्तों या परिवार के लोगों से उधार ले सकते हैं। इन सबसे काम न चलने पर, आप अंत में मोरेटोरियम की मदद ले सकते हैं, लेकिन 31 अगस्त 2020 से पहले बाकी अमाउंट का पूरा पेमेंट करने का प्लान बना लें। क्योंकि और देरी करने पर इंटरेस्ट बढ़ता रहेगा, लेट पेमेंट चार्ज भी लगेगा, क्रेडिट स्कोर भी ख़राब होगा, और सबसे जरूरी चीज, कर्ज चुकाना मुश्किल हो जाएगा।

कुल मिलाकर, मोरेटोरियम की मदद लिए बिना समय पर क्रेडिट कार्ड ड्यू का पेमेंट करने की कोशिश करें। इस मुश्किल समय में फुल क्रेडिट लिमिट और फुल एक्सेस वाले फुल्ली फंक्शनल क्रेडिट कार्ड का होना काफी मददगार साबित हो सकता है। आपका क्रेडिट कार्ड एक सुविधाजनक पेमेंट टूल, और इमरजेंसी में काफी मददगार होने के साथ-साथ आसान EMI जैसी सुविधाओं के माध्यम से किसी जरूरी बड़ी खरीदारी को छोटी-छोटी किस्तों में बदलने में भी मददगार हो सकता है।

अच्छे पेमेंट ट्रैक रिकॉर्ड वाले क्रेडिट कार्ड यूजर्स को क्रेडिट कार्ड लिंक्ड प्रीअप्रूव्ड लोन ऑफर भी मिलते हैं जिसके लिए किसी पेपरवर्क की जरूरत नहीं पड़ती और जो तुरंत मिल जाते हैं जिससे किसी फाइनेंसियल परेशानी का सामना करने में बड़ी आसानी होती है।

इसके अलावा, यदि आपने मोरेटोरियम की मदद लिए बिना अपने कार्ड ड्यू का फुल पेमेंट कर दिया है लेकिन निकट भविष्य में अपने फाइनेंस को लेकर निश्चिन्त नहीं हैं तो अब आपको बड़ी सावधानी के साथ क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना चाहिए जब तक आपका फाइनेंस ठीक नहीं हो जाता।

(इस लेख के लेखक, BankBazaar.com के CEO आदिल शेट्टी हैं)
(डिस्क्लेमर: यह जानकारी एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी जा रही है। बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं, इसलिए निवेश के पहले अपने स्तर पर सलाह लें।) ( ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

अगली खबर