सरकार का अलर्ट: फोन करते समय मर्ज की कॉल, तो खाली हो सकता है बैंक अकाउंट

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Jan 14, 2022 | 11:35 IST

Government Alert Merge call: किसी अंजान से फोन पर बात करते समय कॉल मर्ज करने पर भी आप धोखाधड़ी के शिकार हो सकते हैं।

Government Alert Merge call: bank account may become empty
Government Alert Merge call: फोन करते समय मर्ज की कॉल, तो खाली हो सकता है बैंक अकाउंट (Pic: iStock) 
मुख्य बातें
  • साइबर क्रिमिनल नए-नए तरीकों से लोगों को चूना लगा रहे हैं।
  • सरकार समय-समय पर लोगों को चेतावनी देती रहती है
  • गृह मंत्रालय ने साइबर दोस्त के जरिए लोगों को सचेत किया है।

Government Alert Merge call: आजकल फ्रॉड के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। सरकार और बैंकों द्वारा कड़े नियमों के बावजूद जालसाज ठगी का कोई न कोई विकल्प ढूंढ ही लेते हैं। ऐसे में जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए सरकार और बैंक समय-समय पर अलर्ट जारी करते रहते हैं। अब सरकार ने एक और चेतवानी जारी की ही, जो आपके लिए जानना बेहद आवश्यक है।

ओटीपी फ्रॉड को लेकर चेतावनी
भारत के गृह मंत्रालय ने लोगों को ओटीपी फ्रॉड (OTP Fraud) को लेकर चेतावनी जारी की है। गृह मंत्रालय ने अपने ट्विटर हैंडल 'साइबर दोस्त' (Cyber Dost) के जरिए लोगों को सचेत किया है। सरकार ने कहा है कि, 'कभी भी किसी अंजान से फोन पर बात करते समय कॉल मर्ज नहीं करें, इससे आपका ओटीपी जानकर, साइबर अपराधी दुरुपयोग कर सकते हैं।'

Debit Card Fraud Protection: डेबिट कार्ड से कैसे होते हैं फ्रॉड? जानें इससे बचने के 10 टिप्स

हैक हो सकता है सोशल मीडिया अकाउंट
किसी अंजान व्यक्ति से फोन पर बात करते समय कॉल को मर्ज करने पर आपका सोशल मीडिया अकाउंट हैक हो सकता है। इसके जरिए साइबर क्रिमिनल आपके बैंक खाते तक पहुंच सकते हैं। इसलिए आपको सतर्क रहने की जरूरत है।

PF Account: पीएफ खातों से निकल गए 21 करोड़, फ्रॉड से बचने के लिए करें ये काम

धोखाधड़ी का शिकार होने पर क्या करें?
बढ़ते अपराधों से बचने के लिए आपको जागरुक रहना चाहिए। फ्रॉड का शिकार होने पर आप अपनी शिकायत cybercrime.gov.in पर दर्ज कर सकते हैं। इसके अलावा धोखाधड़ी का शिकार होने पर आप हेल्पलाइन नंबर 155260 पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

इन बातों का रखें ध्यान
आजकल देश में डिजिटल बैंकिंग का खूब उपयोग होता है। मालूम हो कि डिजिटल बैंकिंग या अन्य जरूरी काम के लिए आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी यानी वन टाइम पासवर्ड आता है। ओटीपी दर्ज करने के बाद ही आपकी लेनदेन पूरी होती है। आपको अपना ओटीपी नंबर किसी से के  साथ शेयर नहीं करना चाहिए।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर