शानदार ऑफर: सरकार ने आज से पांच दिनों तक दिया सस्ता सोना खरीदने का मौका, इतनी है कीमत

Sovereign Gold Bond Scheme: निवेशक आज से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में वर्चुअली निवेश कर सकते हैं। यह वर्चुअल यानी इलेक्ट्रॉनिक रूप में होता है, इसलिए इसके तहत गोल्ड की शुद्धता पर संदेह की गुंजाइश नहीं होती।

Sovereign Gold Bond
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (iStock) 
मुख्य बातें
  • केंद्र सरकार ने दिवाली से पहले निवेशकों को सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने का शानदार मौका दिया है।
  • यह एक सरकारी योजना है, जो आज से पांच दिनों तक खुली है।
  • इस सरकारी योजना के तहत निवेशकों को न सिर्फ ब्याज का लाभ मिलेगा, बल्कि स्रोत पर कर कटौती (TDS) पर छूट भी मिलेगी।

Sovereign Gold Bond Scheme: सोना चाहे कितना भी महंगा हो जाए, लेकिन भारत के लोगों का सोने के प्रति प्रेम किसी से छुप नहीं सकता है। ऐसे में दिवाली से पहले केंद्र सरकार ने निवेशकों को सस्ती दरों पर सोना खरीदने का सुनहरा मौका दिया। सरकार ने 25 अक्टूबर यानी आज से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond) में निवेश का मौका दिया है। आइए जानते हैं इसके तहत सोने की क्या कीमत होगी।

सब्सक्रिप्शन अवधि से पहले के सप्ताह के अंतिम तीन दिनों के लिए इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन (IBJA) लिमिटेड जो 999 शुद्धता वाले सोने की कीमत जारी करता है, उसी के आधार पर बॉन्ड की कीमत तय होती है। योजना के तहत एक ग्राम सोने की कीमत 4,765 रुपये तय की गई है। यानी निवेशकों को 10 ग्राम सोना 47,650 रुपये में मिलेगा। लेकिन अगर निवेशक ऑनलाइन माध्यम से इसमें पैसे लगाते हैं, तो उन्हें एक ग्राम सोने पर 50 रुपये की छूट मिलेगी। यानी उनके लिए इसकी कीमत 4,715 रुपये प्रति ग्राम होगी। 

आपके लिए कैसे लाभदायक है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना?

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना के तहत निवेशकों को सालाना 2.5 फीसदी ब्याज मिलता है। इतना ही नहीं, योजना के तहत मिलने वाला ब्याज टैक्स स्लैब के अनुरूप कर योग्य होता है, लेकिन इस पर स्रोत पर कर कटौती यानी TDS नहीं होता। इसलिए यह योजना निवेश के लिए बेहद आकर्षक है।

कब तक कर सकते हैं निवेश?
यह सरकारी योजना सिर्फ पांच दिनों के लिए ही खुली है। इसकी शुरुआत 25 अक्टूबर 2021 यानी आज से हो गई है। वहीं इसकी अंतिम तिथि 29 अक्टूबर 2021 है। वहीं योजना के तहत बॉन्ड दो नवंबर को जारी किए जाएंगे। 

कहां से कर सकते हैं निवेश?
अगर आप भी सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना में निवेश का प्लान बना रहे हैं, तो मासूम हो कि यह भारत सरकार की ओर से भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा जारी किए जाते हैं। इसे बैंकों (छोटे वित्त बैंकों और भुगतान बैंकों के अतिरिक्त), स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, क्लियरिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, पोस्ट ऑफिस और शेयर बाजारों- नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के माध्यम से बेचा जाता है। 

कितने निवेश की अनुमति?
निवेशकों को योजना में कम से कम एक ग्राम सोने के लिए निवेश करना होता है। कोई भी व्यक्ति और हिंदू अविभाजित परिवार (HUF) ज्यादा से ज्यादा चार किलोग्राम मूल्य तक का बॉन्ड खरीद सकते हैं। लेकिन ट्रस्ट व समान संस्थाओं के लिए योजना में निवेश की अधिकतम सीमा 20 किलोग्राम है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर