Forbes 10 richest billionaires 2021: मुकेश अंबानी पहले- गौतम अडानी दूसरे नंबर पर,अमीरों की सूची में जलवा बरकार

फोर्ब्स ने 2021 के लिए 10 अरबपतियों की सूची जारी की है जिसमें आरआईएल चेयरमैन मुकेश अंबानी को पहला स्थान और गौतम अडानी दूसरे नंबर पर हैं।

Forbes 10 richest billionaires 2021: मुकेश अंबानी पहले- गौतम अडानी दूसरे नंबर पर,अमीरों की सूची में जलवा बरकार
रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन हैं मुकेश अंबानी 

मुख्य बातें

  • मुकेश अंबानी की नेट वर्थ 84.5 बिलियन डॉलर
  • गौतम अडानी की नेट वर्थ 50.5 बिलियन डॉलर
  • फोर्ब्स द्वारा जारी लिस्ट 2021 में मुकेश अंबानी पहले और गौतम अडानी दूसरे नंबर पर

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने फोर्ब्स की 10 सबसे अमीर अरबपतियों की 2021 सूची में पहला स्थान हासिल किया है। इसके साथ ही  अडानी समूह के अध्यक्ष गौतम अदानी दूसरे स्थान पर हैं। 84.5 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ मुकेश अंबानी को फोर्ब्स की भारत के सबसे अमीर अरबपतियों की सूची में सबसे ऊपर जबकि अदानी को 50.5 बिलियन डॉलर के साथ दूसरे स्थान पर रखा।

भारत के लिए गर्व का मौका
अरबपतियों की संपत्ति में अभूतपूर्व उछाल शेयर बाजार में तेजी से बढ़ने के बावजूद कायम है। देश भर में कोविड -19 मामले बढ़ रहे हैं। पिछले एक साल में बेंचमार्क सेंसेक्स 75% बढ़ा है। फोर्ब्स के अनुसार अरबपतियों की संख्या पिछले साल 102 से बढ़कर 140 हो गई और उनकी सामूहिक संपत्ति पिछले साल के दौरान दोगुनी होकर 596 अरब डॉलर हो गई। शीर्ष तीन सबसे अमीर भारतीयों ने सामूहिक रूप से महामारी में $ 100 बिलियन जुटा है। 

मुकेश अंबानी ने अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया
अंबानी ने जियो के लिए $ 35 बिलियन का निवेश किया और 2021 तक कंपनी के शुद्ध ऋण स्तर को शून्य पर लाने का लक्ष्य भी हासिल किया। एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति ने पिछले एक साल में अधिग्रहण और धन उगाही के साथ अपने साम्राज्य को प्रौद्योगिकी और खुदरा क्षेत्रों में विविधता भी प्रदान की।अंबानी ने टेलीकॉम यूनिट जियो की एक तिहाई वैश्विक मार्की निवेशकों जैसे कि फेसबुक, गूगल और अन्य को बेची और रिलायंस रिटेल के 10% निजी इक्विटी फर्मों जैसे केकेआर और जनरल अटलांटिक में उतार दिए। फोर्ब्स ने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 7.3 बिलियन डॉलर के शेयर जारी किए।

दूसरे नंबर पर गौतम अडानी
भारत के दूसरे सबसे अमीर अरबपति अडानी की संपत्ति में 42 बिलियन डॉलर की वृद्धि हुई, क्योंकि समूह की कंपनियों अदानी ग्रीन और अदानी एंटरप्राइजेज के शेयरों में आसमान छू गया। इन्फ्रास्ट्रक्चर टाइकून ने समूह के व्यवसायों को भी विविधता प्रदान की और भारत के हवाई अड्डे के प्रबंधन और संचालन व्यवसाय में विस्तार किया।अडानी ग्रुप ने इससे पहले सितंबर 2020 में देश के दूसरे सबसे व्यस्त मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट में 74% की हिस्सेदारी हासिल की थी। उसने अपनी सूचीबद्ध नवीकरणीय कंपनी अडानी ग्रीन एनर्जी में 20% हिस्सा $ 2.5 बिलियन में फ्रेंच एनर्जी दिग्गज को बेच दिया।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर