Petrol, diesel prices Today: दिल्ली में पहली बार पेट्रोल से महंगा हो गया डीजल, जानें आज क्या है भाव

Petrol and diesel prices Today 24 June, लगातार 18वें दिन डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। लेकिन आज (24 जून) पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी नहीं है और यह स्थिर है।

Diesel becomes costlier than petrol for first time in Delhi, know what are rates today 24  June 2020
पेट्रोल से महंगा हुआ डीजल 

मुख्य बातें

  • सात जून से लगातार पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है
  • लेकिन 24 जून को पेट्रोल के दाम स्थिर रहे और सिर्फ डीजल की कीमत में बढ़ोतरी हुई
  • कांग्रेस पार्टी ने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन किया जाएगा

Petrol and diesel prices Today 24 June 2020 : दिल्ली में पहली बार पेट्रोल के मुकाबले डीजल महंगा हो गया है। राज्य द्वारा संचालित तेल मार्केटिंग कंपनियों ने आज (24 जून) लगातार 18वें दिन डीजल की कीमत में वृद्धि की जबकि पेट्रोल की कीमत में बदलाव नहीं हुआ। लेटेस्ट मूल्य अधिसूचना के अनुसार, पेट्रोल की कीमत अभी 79.76 प्रति लीटर है जबकि डीजल की कीमत 48 पैसे की बढ़ोतरी के बाद  79.88 रुपए प्रति लीटर हो गया है।

तेल कंपनियां देशभर में एक साथ दाम बढ़ाती है लेकिन राज्यों में इनके अलग-अलग रेट होते हैं इसकी वजह है इस पर लगने वाले सेल टैक्स या मूल्य वर्धित कर (VAT) अलग-अलग राज्यों के अलग होते हैं। इसलिए प्रदेशों में इनके खुदरा दाम बदल जाते हैं। कहीं ज्यादा हो जाता है तो कहीं कम।

दिल्ली में, डीजल की कीमत पेट्रोल से अधिक है क्योंकि दिल्ली सरकार ने पिछले महीने डीजल पर वैट 16.75% से बढ़ाकर 30% कर दिया था और पेट्रोल पर भी 27% से बढ़ाकर 30% तक कर दिया था। इससे पेट्रोल पर 1.67 लीटर की बढ़ोतरी हुई जबकि डीजल पर 7.10 रुपए अधिक हुआ। 

पेट्रोल, डीजल के दाम आज प्रमुख शहरों में इस प्रकार हैं:-

  1. मुंबई में पेट्रोल 86.54 रुपए प्रति लीटर है वहीं डीजल 78.22 रुपए प्रति लीटर है। 
  2. चेन्नई में पेट्रोल 83.04 रुपए प्रति लीटर और डीजल 77.17 रुपए प्रति लीटर है। 
  3. कोलकाता में पेट्रोल 81.45 रुपए प्रति लीटर और डीजल 75.06 रुपये प्रति लीटर है। 
  4. बेंगलुरु में पेट्रोल 82.35 रुपए और डीजल 75.96 रुपए प्रति लीटर है।
  5. हैदराबाद में पेट्रोल 82.79 रुपये प्रति लीटर और डीजल 78.06 रुपये प्रति लीटर है। 

सामान्य तौर पर कम टैक्स की वजह से डीजल का दाम पेट्रोल से 18 से 20 रुपए प्रति लीटर कम रहता है। लेकिन हाल के वर्षों में डीजल पर कर बढ़ने की वजह से यह अंतर कम होता जा रहा है। गौर हो कि सात जून से पेट्रोलयम मार्केटिंग कंपनियों ने बुधवार तक लगातार 18 दिन डीजल कीमतों में बढ़ोतरी की है। इसी तरह पेट्रोल के दाम लगातार 17 दिन बढ़ाए गए हैं। इससे पहले 82 दिन तक कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई थी। 18 दिन में डीजल कीमतों में 10.49 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। वहीं 17 दिन में पेट्रोल 8.5 रुपए प्रति लीटर महंगा हुआ है।

उधर कांग्रेस ने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमत में लगातार हो रही बढ़ोतरी के खिलाफ वह जल्द ही राष्ट्रव्यापी आंदोलन करेगी। पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि कोरोना वायरस संकट सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए यह आंदोलन किया जाएगा। इसकी तारीखों के बारे में जल्द घोषणा की जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने लगातार की कीमत में बढ़ोतरी की है जिससे आम लोगों को बहुत नुकसान का सामना करना पड़ा है।

सात जून से पेट्रोल और डीजल में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। अप्रैल 2002 में पेट्रोल, डीजल के दाम नियंत्रण मुक्त किए जाने के बाद लगातार यह सबसे बड़ी वृद्धि है। तेल कंपनियों ने अप्रैल 2002 में पेट्रोल, डीजल के दाम में हर पखवाड़े बदलाव करने की शुरुआत की थी। ये दाम अंतरराष्ट्रीय बाजार में होने वाले उतार चढ़ाव के हिसाब से तय किए जाते हैं। उसके बाद से किसी एक पखवाड़े में इनके दाम में यह सबसे बड़ी वृद्धि हुई है। कंपनियों ने मई 2017 से पेट्रोल, डीजल के दाम में रोजाना बदलाव की शुरुआत की।

अगली खबर