आपके काम की बात, 1 अप्रैल से इन बैंकों के चेकबुक और पासबुक नहीं कर पाएंगे इस्तेमाल

आपका अकाउंट इन सरकारी बैंकों में है तो आप 1 अप्रैल 2021 से चेकबुक और पासपुक का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। साथ ही आपका अकाउंट नंबर समेत कई चीजें बदल जाएंगी। 

Checkbooks and passbooks of these banks will not be able to use from 1 April, 2021
सरकारी बैंकों का अलर्ट  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्ली: देना बैंक, विजया बैंक, कॉरपोरेशन बैंक, आंध्रा बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक और इलाहाबाद बैंक का विलय 1 अप्रैल, 2020 को हो गया। इन बैंकों के चेकबुक और पासबुक का इस्तेमाल अब भी किया जा रहा है लेकिन 1 अप्रैल, 2021 से आप इसका इस्तेमाल नहीं जाएंगे। यानी आप 1 अप्रैल से पुराने चेकबुक और पासबुक का अमान्य हो जाएंगे। बैंकों के विलय के बाद आपको नए चेक बुक और पासबुक बैंकों से प्राप्त करना होगा।

इन बैंकों के ग्राहकों की खाता संख्या भी बदलेगी

1 अप्रैल से इन बैंकों के ग्राहकों की खाता संख्या, जो पिछले दो वर्षों में अन्य बड़े बैंकों के साथ विलय कर दी गई थी, बदल जाएगी। चेकबुक के साथ-साथ IFSC और MICR कोड, ऐसे बैंकों के ब्रांच के एड्रेस भी बदल जाएंगे। जिनके अन्य बड़े बैंको के साथ विलय 1 अप्रैल, 2019 और 1 अप्रैल, 2020 से प्रभावी हो गया है उनके अनुसार बैंकों के एड्रेस हो जाएंगे।

इन सरकारी बैंकों हुआ विलय

गौर हो कि ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का विलय पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के साथ हुआ, इसके बाद सिंडिकेट बैंक का विलय कैनरा बैंक के साथ, आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक का यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया में विलय और इलाहाबाद बैंक का विलय इंडियन बैंक के साथ हुआ।

चेकबुक और खाता को लेकर अलर्ट

पीएनबी और बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपने ग्राहकों को सचेत करते हुए कहा कि ओबीसी, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, विजया बैंक और देना बैंक की मौजूदा चेकबुक 1 अप्रैल से बंद हो जाएंगी, क्योंकि वे सिर्फ 31 मार्च, 2021 तक वैध हैं। इसी तरह, मर्ज किए गए बैंकों के खाता धारक भी 1 अप्रैल से अपनी मौजूदा चेकबुक और पासबुक का उपयोग नहीं कर पाएंगे।

ग्राहकों को क्या करने की जरुरत है?

अगर आप इनमें से किसी भी बैंक के ग्राहक हैं, तो आपको अपने डिटेल जैसे कि अपना मोबाइल नंबर, पता, नॉमनी के नाम इत्यादि को अपडेट करना होगा। आपके बैंकों का विलय जिस बैंक में हुआ है उस बैंक से नया चेकबुक और पासबुक लेना होगा। इसलिए आप अपना पुराना पासबुक और चेकबुक तब तक संभाल कर रखें जब तक आप नया चेकबुक और पासबुक प्राप्त नहीं कर लेते हैं। 

नई चेकबुक, और पासबुक प्राप्त करने के बाद, आपको विभिन्न वित्तीय साधनों- म्युचुअल फंड, ट्रेडिंग खाते, जीवन बीमा पॉलिसी, आयकर खाता, फिक्स्ड डिपॉजिट या रेकरिंग डिपॉजिट, भविष्य निधि (पीएफ) खाते  और अन्य जरूरी बैंकिंग डिटेल को अपडेट करना होगा। अगर आपका सिंडिकेट बैंक में खाता है, तो आप 30 जून तक अपनी मौजूदा चेकबुक का उपयोग कर सकते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर