India's youngest billionaire : ये दो हैं भारत के सबसे कम उम्र के अरबपति, जिनकी संपत्ति है 22.3 हजार करोड़ रुपए

फोर्ब्स इंडिया रिच लिस्ट 2020 अरबपतियों में सबसे कम उम्र के ये दो अरबपति हैं। जिनकी संपत्ति 2,23,50,59,82,500 करोड़ रुपए के बराबर है।

Divya Gokulnath, Byju Raveendran
दिव्या गोकुलनाथ, बायजू रवींद्रन 

नई दिल्ली: फोर्ब्स ने हाल ही में भारत की सबसे अमीर लिस्ट 2020 जारी की है। इस लिस्ट के अनुसार ग्लोबल अर्थव्यवस्था में उतार-चढ़ाव के बीच भारत के सबसे अमीर लोग अपनी संपत्ति को बचाकर रखने में कामयब हुए हैं।  रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी लगातार 13वें साल सबसे अमीर भारतीय बने रहे, उनकी कुल संपत्ति 37.3 अरब डॉलर रही। वैक्सीन बनाने वाली कंपनी के मालिक साइरस पूनावाला ने लिस्ट में छठे नंबर पर पहुंच कर टॉप 10 में प्रवेश किया। क्योंकि सभी की निगाहें एंटीडोट पर केंद्रित हैं। बायोकॉन की किरण मजूमदार शॉ प्रतिशत के मामले में सबसे अधिक धन प्राप्त करने वाली बन गई। सभी दवा अरबपतियों की संपत्ति में बढ़ोतरी हुई। कम अरबपतियों की संपत्ति साल 2019 की तुलना में इस साल कम हुई है।

लिस्ट में शामिल सभी अरबपतियों में, सबसे कम उम्र के 39 और 34 आयु वर्ग के हैं जिनकी कुल संपत्ति 3.05 बिलियन डॉलर है जो 2,23,50,59,82,500 करोड़ रुपए (22.3 हजार करोड़ रुपए) के बराबर है। फोर्ब्स इंडिया रिच लिस्ट 2020 के अनुसार, क्रमशः 39 और 34 साल की उम्र में बायजू रवींद्रन (Byju Raveendran) और दिव्या गोकुलनाथ ( Divya Gokulnath) भारत के सबसे कम उम्र के अरबपति हैं।

39 साल के टैक्नोलॉजी उद्यमी और भारत के फेमस लर्निंग ऐप BYJU's के सीईओ,  बायजू रवींद्रन एक पूर्व गणित ट्यूटर हैं, जिन्होंने 2011 में ऑनलाइन एड-टेक कंपनी की स्थापना की थी। जनवरी 2020 में कंपनी के आखिरी फंडिंग राउंड का मूल्य करीब 8 अरब डॉलर था। BYJU के निवेशकों में मार्क जुकरबर्ग और टेनसेंट शामिल हैं। कंपनी के प्रमुख ऐप, जिसका लक्ष्य क्लास एक से 12 तक के स्कूली बच्चों को शिक्षित करना है।  BYJU ऐप अब तक 42 मिलियन डाउनलोड हुए हैं।

एक इंजीनियरिंग स्नातक रवींद्रन ने दोस्तों को गणित पढ़ाना शुरू किया और जो कोई भी एक शिपिंग कंपनी में दो साल बिताने के बाद सीखना चाहता था। वह छात्रों को सामान्य प्रवेश परीक्षा (कैट) की तरह प्रवेश परीक्षा की तैयारी में मदद करता था। 2003 में वह खुद कैट परीक्षा में शामिल हुआ और 100% स्कोर किया। दो साल बाद, उन्होंने कैट को क्रैक करने में कुछ अन्य लोगों की मदद की। उसके बाद फिर फूल टाइम टीचिंग का फैसला किया। शुरुआत में वह कुछ दोस्तों को पढ़ाना लगे। लेकिन छात्र बढ़ने लगे फिर बड़े ऑडिटोरियम में सैकड़ों छात्रों को पढ़ाने लगे। उसके बाद सेटेलाइट कॉम्युनिकेशन के जरिए क्लास लेने लगे। 2015 में अपना मुख्य ऐप लॉन्च करने से पहले ऑनलाइन क्लास के लिए उन्होंने 2011 में थिंक एंड लर्न की स्थापना की। 2018 में, रवींद्रन ने ईवाई एंटरप्रेन्योर ऑफ द ईयर अवॉर्ड (स्टार्टअप कटैगरी) जीता।

रवींद्रन की पत्नी और BYJU की सह-संस्थापक दिव्या गोकुलनाथ सिर्फ 34 साल की उम्र में अरबपति बन गईं। वह रवींद्रन के शुरुआती छात्रों में से एक थीं और अब वह उन्हें कंपनी चलाने में मदद करती हैं और बोर्ड में भी बैठती हैं। बेंगलुरु में आरवी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से बायोटेक्नोलॉजी में अपनी इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद, दिव्या मास्टर की पढ़ाई के लिए विदेश में विश्वविद्यालयों में आवेदन करने की योजना बना रही थीं। जीआरई को क्रैक करने के लिए, वह अपने गणित स्किल को सुधारना चाहती थी। जब उसने एक दोस्त से बायूज रवींद्रन की क्लासेस के बारे में सुना।

एक वेब पोर्टल के साथ बातचीत में, गोकुलनाथ ने बताया कि अपनी जीआरई परीक्षा देने के बाद उसने रवींद्रन को यह कहने के लिए बुलाया कि वह लिखित परीक्षा दी है। वह रिजल्ट का इंतजार कर रही थी। इसलिए उसने सुझाव दिया कि उसे पढ़ाने की कोशिश करनी चाहिए और कक्षा लेनी चाहिए। इसलिए, उसने मैथ्स, अंग्रेजी और रीज़निंग में कई कक्षाएं लीं। उसने बताया कि जब उसके रिजल्ट प्रकाशित हुए, तो उसे पता चला कि उसने अमेरिका में कुछ विश्वविद्यालयों के लिए सेलेक्ट किया गया है लेकिन उसने वहीं रहने का फैसला किया और अमेरिका नहीं गईं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर