सेमीकंडक्टर की कमी का वाहनों के उत्पादन पर असर, बिक्री में 41% की गिरावट

ऑटो
भाषा
Updated Oct 14, 2021 | 16:14 IST

ऑटो उद्योग के संगठन सियाम ने कहा कि सेमीकंडक्टर की कमी के चलते वाहनों के उत्पादन पर बुरा असर पड़ा है। भारत में यात्री वाहनों की बिक्री भारी गिरावट हुई है।

Semiconductor shortage affects vehicle production, sales fall by 41 percent
चीप की कमी का वाहनों के उत्पादन पर असर  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • पिछले महीने यात्री वाहनों की बिक्री 1,60,070 यूनिट रही थी।
  • एक साल पहले की इसी अवधि में 2,72,027 यूनिट थी।
  • मोटरसाइकिल की रवानगी में 22 प्रतिशत की गिरावट हुई।

नई दिल्ली : ऑटो उद्योग के संगठन सियाम ने गुरुवार को कहा कि ऑटोमोबाइल विनिर्माता सेमीकंडक्टर की कमी के कारण पर्याप्त इकाइयों का उत्पादन करने के लिए जूझ रहे हैं, जिसके चलते भारत में यात्री वाहनों की थोक बिक्री में सितंबर में सालाना आधार पर 41 फीसदी की गिरावट हुई। पिछले महीने यात्री वाहनों की बिक्री 1,60,070 इकाई रही थी, जो एक साल पहले की इसी अवधि में 2,72,027 इकाई थी।

सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सियाम) के ताजा आंकड़ों के अनुसार डीलरों को दोपहिया वाहनों की रवानगी भी सितंबर 2020 में 17 प्रतिशत गिरावट के साथ 15,28,472 इकाई रही, जो सितंबर 2020 में 18,49,546 इकाई थी। इस दौरान मोटरसाइकिल की रवानगी में 22 प्रतिशत की गिरावट हुई।

सियाम के अध्यक्ष केनिची आयुकावा ने कहा कि भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग को नई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। जहां एक ओर हम वाहनों की मांग में सुधार देख रहे हैं, वहीं दूसरी ओर सेमीकंडक्टर चिप्स की कमी उद्योग के लिए एक बड़ी चिंता का कारण बन रही है। कई सदस्यों ने अपनी उत्पादन योजनाओं में कटौती की है। उन्होंने कहा कि त्योहारी सत्र की मांग के साथ कुछ लोकप्रिय मॉडलों के लिए ग्राहकों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर