इलेक्ट्रिक वाहनों को तेजी से अपनाए जनता इसके लिए जरूरी है बेहतर टेक्नोलॉजीः नीति आयोग

ऑटो
अंशुमन साकल्ले
अंशुमन साकल्ले | Senior Special Correspondent
Updated Jun 29, 2022 | 20:01 IST

Niti Aayog सरकार का थिंक टैंक है और इलेक्ट्रिक वाहनों को तेजी से अपनाए जाने के लिए लंबे समय से काम कर रहा है. नीति आयोग ने अपने ताजा सुझाव में कहा है कि EV को प्रोत्साहन देने के लिए बेहतर तकनीक जरूरी है.

Niti Aayog On EVs Technology
इस संस्था ने एक और सुझाव इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए दिया है जिससे तेजी से इन्हें अपनाया जा सके (MG Motor) 
मुख्य बातें
  • EV को प्रोत्साहन के लिए बेहतर तकनीक जरूरी
  • नीति आयोग ने कहा इससे EV को बढ़ावा मिलेगा
  • बड़ी संख्या में चार्जिंग पॉइंट लगाने से भरोसा मिलेगा

Niti Aayog On Electric Vehicles: भारत सरकार के थिंक टैंक नीति आयोग इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए लंबे समय से कई जोरदार सुझाव देते आ रहा है। अब इस संस्था ने एक और सुझाव इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए दिया है जिससे तेजी से इन्हें अपनाया जा सके। नीति आयोग ने कहा है कि देश में इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों को बढ़ावा देने के लिये प्रौद्योगिकी में सुधार तथा अन्य प्रोत्साहन जरूरी हैं। यह सुझाव नीति आयोग की ‘भारत में इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों की पैठ का पूर्वानुमान: एक विस्तृत विश्लेषण’ शीर्षक से मंगलवार को जारी रिपोर्ट में दिया गया है।

EVs को लेकर ग्राहकों के बीच सकारात्मक रुख

इसमें कहा गया है कि बेहतर प्रौद्योगिकी और अन्य हस्तक्षेप के माध्यम से इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के पर्याप्त अवसर हैं। रिपोर्ट के अनुसार, इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर ग्राहकों के बीच सकारात्मक रुख है। हाल में पेट्रोल और डीजल के दाम में वृद्धि ने ग्राहकों को इसकी ओर आकर्षित किया है। लोगों के बीच इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर जागरूकता बढ़ी है।

महत्वपूर्ण मुद्दा वाहन की विनिर्माण लागत

नीति आयोग की रिपोर्ट में कहा गया है कि मांग प्रोत्साहन से दोपहिया इलेक्ट्रिक वाहनों की पैठ बढ़ती है। लेकिन महत्वपूर्ण मुद्दा वाहन की विनिर्माण लागत है और इसका कारण बैटरी की ऊंची कीमत है। इसमें कहा गया है कि इलेक्ट्रिक वाहनों के उपकरणों के आयात पर निर्भरता कम होने के साथ अन्य नीतिगत उपाय घरेलू विनिर्माण क्षमता बढ़ाने के मामले में महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं।

ये भी पढ़ें : Volkswagen की ये कार बिना पेट्रोल-डीजल के पहुंचा देगी दिल्ली से कटरा, दिखने में सुपर हॉट

बड़ी संख्या में ‘चार्जिंग पॉइंट’लगाने की जरूरत

शुरुआती चरणों में ग्राहकों में भरोसा बढ़ाने को लेकर इलेक्ट्रिक वाहनों के लिये बड़ी संख्या में ‘चार्जिंग पॉइंट’लगाने की जरूरत है। रिपोर्ट के अनुसार, इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिये नीति और बुनियादी ढांचा संबंधित मुद्दों के अलावा प्रौद्योगिकी की बाजार में महत्वपूर्ण भूमिका है। प्रौद्योगिकी बैटरी और अन्य कलपुर्जों की लागत में कमी लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर