बेंगलुरू का स्टार्टअप 'बाउंस' लॉन्च करेगा इलेक्ट्रिक स्कूटर, खरीदार किराये पर भी ले सकेंगे बैटरी

ऑटो
रामानुज सिंह
Updated Nov 08, 2021 | 19:22 IST

बेंगलुरू का एक स्टार्टअप, बाउंस भारत में एक नया इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करने जा रहा है। हालांकि कंपनी ने अभी तक इसके नाम का खुलासा नहीं किया है।

After Ola, now Bounce is going to launch electric scooter in India
बेंगलुरू का स्टार्टअप, बाउंस भारत में लॉन्च करेगा इलेक्ट्रिक स्कूटर (तस्वीर-istock) 

भारत में तेजी इलेक्ट्रिक वाहन बाजार बढ़ रहा है। जल्द ही देश में रिटेल के लिए उपलब्ध इलेक्ट्रिक वाहनों की लिस्ट में एक और नाम जुड़ जाएगा। बेंगलुरू का एक स्टार्टअप, बाउंस, भारत में एक नया इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है। बाउंस एक स्कूटर रेंटल कंपनी के रूप में सामने आया, जो अब देश के तेजी से बढ़ते इलेक्ट्रिक वाहन बाजार में उतरने के लिए तैयार हो रही है। कंपनी ने अभी तक आगामी इलेक्ट्रिक स्कूटर के नाम की घोषणा नहीं की है या यहां तक कि लॉन्च की तारीख भी शेयर नहीं की है। बहरहाल, हम आपको इस नए स्कूटर बहुत-कुछ बताने जा रहे हैं। 

बाउंस का आगामी इलेक्ट्रिक स्कूटर एक स्वैपेबल बैटरी सिस्टम (swappable battery system) से लैस होगा। स्कूटर के खरीदार भी स्कूटर खरीद के साथ-साथ उन्हें खरीदने के बजाय कंपनी से किराए पर बैटरी ले सकेंगे। यह उतना जटिल नहीं है जितना लगता है। वैसे भी, इलेक्ट्रिक स्कूटर की बैटरी खरीदने के बजाय किराए के विकल्प की पेशकश करने का उद्देश्य स्कूटर की अग्रिम लागत को कम करना और उस लागत में से कुछ को सब्सक्रिप्शन बेस्ड चार्ज से रिप्लेश करना है। कंपनी का यह भी कहना है कि ई-स्कूटर की बैटरी सेल भारत में नहीं बनेगी; इसके बजाय, उन्हें एलजी केम और पैनासोनिक से सोर्स किया जाएगा।

अब अगला बड़ा सवाल है कि खरीदार अपने बाउंस इलेक्ट्रिक स्कूटर की डिलीवरी कब ले पाएंगे? 

कंपनी का कहना है कि वह जनवरी 2022 में खरीदारों को स्कूटर सौंपना शुरू कर देगी। हमें वास्तव में उम्मीद है कि कंपनी घोषित समयसीमा पर टिकी रहेगी। 

अभी तक ओला एक कंपनी है जिसने हाल ही में भारत के ईवी बाजार में प्रवेश किया है, जो इसे भारी मांग के कारण थोड़ा संघर्ष कर रही है। जहां कंपनी ओला एस1 और एस1 प्रो की डिलीवरी निर्धारित समय के अनुसार शुरू होने का आश्वासन देती है, वहीं ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर के लिए दूसरी खरीद विंडो को अब तक कई बार पीछे ले जा चुका है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर