WhatsApp new terms and policy: नए अपडेट पर हामी भरने के लिए 8 फरवरी की तारीख तय

व्हाट्सऐप की सेवाओं को जारी रखने के लिए यूजर्स को कुछ अतिरिक्त काम करने होंगे। इसके लिए 8 फरवरी अंतिम तारीख के तौर पर मुकर्रर की गई है।

WhatsApp new terms and policy: नए बदलावों पर हामी भरने के लिए 8 फरवरी की तारीख तय
WhatsApp की निजता नीति में बदलाव,यूजर्स को देनी होगी जानकारी 

मुख्य बातें

  • सर्विस की नई शर्तों और प्राइवेसी पॉलिसी को व्हाट्सऐप ने किया अपडेट
  • यूजर्स को नए अपडेट पर सहमति देने के लिए 8 फरवरी का वक्त
  • सहमति ना देने पर व्हाट्सऐप काम करना बंद कर देगा।

मैसेजिंग प्लेटफॉर्म के तौर पर  व्हाट्सऐप आज भी नंबर वन है। बदलते समय के साथ और कुछ चुनौतियों की वजह से आधिकारिक तौर पर अपनी सर्विस की नई शर्तों और प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट किया है। खास बात यह है कि अगर कोई यूजर इन अपडेट पर सहमति नहीं देगा तो वो इस मैसेजिंग प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल नहींक कर पाएगा। इसके लिए  8 फरवरी 2021 तक का समय है। खास बात यह है कि जो लोग नई शर्तों से इत्तेफाक नहीं रखेंगे तो उन्हें अकाउंट्स को डिलीट करना होगा। नए अपडेट में व्हाट्सऐप सर्विस और यह आपके डेटा को कैसे प्रोसेस करता है इसके बारे में विस्तृत जानकारी मुहैया कराई गई है। नई प्राइवेसी पॉलिसी में यह भी दिया गया है कि व्हाट्सऐप फेसबुक के साथ कैसे काम करके एक दूसरे को इंटीग्रेट कर सकता है। 

इस्तेमाल के लिए व्हाट्सऐप पॉलिसी को मानना जरूरी
मैसेजिंग ऐप में जाकर नई पॉलिसी के पॉप अप को आप सभी ने देखा होगा। यूजर्स के लिए व्हाट्सऐप मैसेज के आखिर में लिखा गया है, अगर आप सहमति यानी की एग्री पर टैप करते हैं, तो आप  नई शर्तों और प्राइवेसी पॉलिसी पर अपनी सहमति प्रदान करेंगे जो  जो 8 फरवरी 2021 से अमल में आने वाली है।  इस तारीख के बाद व्हाट्सऐप का इस्तेमाल जारी रखने के लिए आपको अपडेट को स्वीकार करना होगा। अगर आप अकाउंट को डिलीट करना या उससे अधिक जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो हेल्प सेंटर का रुख करना होगा 

नई प्राइवेसी पॉलिसी में कुछ खास जानकारी
नई प्राइवेसी पॉलिसी में जानकारी दी गई है कि फेसबुक के साथ व्हाट्सऐप किस तरह जानकारी साझा करता है, जो पहले के वर्जन में नहीं थी।  थर्ड पार्टी सर्विस प्रोवाइडर्स के बारे में व्हाट्सऐप की प्राइवेसी पॉलिसी में अब अन्य फेसबुक कंपनियां आता है।इनमें तकनीकी इंफ्रास्ट्रक्चर, डिलीवर और दूसरे सिस्टम उपलब्ध कराना, उनके लिए सर्वे और रिसर्च करना, यूजर्स और अन्य की सुरक्षा करना और कस्टम सर्विस का सहयोग करना शामिल है।  

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर