UPI Autopay Feature: बिजली बिल और म्यूचुअल फंड जैसे पेमेंट अब हो जाएंगे अपने आप, NPCI ने लॉन्च किया नया फीचर

Npci launches new feature: एक्सिस बैंक, पेयू इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा जैसे कई संस्थान अब अपने ग्राहकों को सब्सक्रिप्शन, मासिक और वार्षिक भुगतान के लिए UPI AutoPay का ऑप्शन प्रदान करेगा।

NPCI Launches UPI AutoPay
NPCI ने लॉन्च किया नया फीचर 

मुख्य बातें

  • NPCI ने UPI AutoPay फीचर को लॉन्च कर दिया है।
  • UPI AutoPay में मिलेगा 'ई-मेंडेट' का ऑप्शन।
  • इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए यूपीआई पिन से अकाउंट को करना होगा प्रमाणित।

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने बुधवार को ग्लोबल फिनटेक फेस्ट के एक वर्चुअल इवेंट में UPI AutoPay को लॉन्च किया है। यह फीचर रिकरिंग पेमेंट के लिए के लाया गया है, जहां ग्राहक अब आसानी से पेमेंट कर सकते हैं। बता दें कि UPI ऐप्लीकेशन का इस्तेमाल कर के ग्राहक रिकरिंग पेमेंट जैसे बिजली का बिल, मोबाइल बिल,एंटरटेनमेंट/ओटीटी सब्सक्रिप्शन, इंश्योरेंस, म्यूचुअल फंड EMI भुगतान और लोन पेमेंट आदि के लिए रिकरिंग ई-मेंडेट को इनेबल कर सकते हैं। इसके अलावा ग्राहक 2000 रुपये तक ट्रांजेक्शन के लिए अपनी UPI ID या फिर QR स्कैन के जरिए ई-मैंडेट क्रिएट कर सकते हैं। अगर 2000 से ऊपर का ट्रांसजेक्शन हैं तो उसके लिए पेमेंट को प्रमाणित करने के लिए UPI पिन की आवश्यकता होगी।
 
मिलेगा 'ई-मेंडेट' सेक्शन का ऑप्शन
किसी भी UPI- इनेबल एप्लिकेशन में 'मेंडेट' का एक सेक्शन होगा, जिसके जरिए से ग्राहक ऑटो डेबिट मेंडेट क्रिएट कर सकते हैं उसे अप्रव्यू, मॉडिफाई, या फिर रोक भी सकते हैं। मेंडेट सेक्शन ग्राहकों को उनके संदर्भ और रिकॉर्ड के लिए अपने पिछले मेंडेट को देखने की अनुमति देगा। ऑटो डेबिट मेंडेट के लिए पैटर्न को रिकरिंग पेमेंट पर ग्राहकों के खर्च को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। मेंडेट एक बार के लिए, दैनिक, साप्ताहिक, पाक्षिक, मासिक, द्वि-मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक और वार्षिक रूप से निर्धारित किए जा सकते हैं

यूपीआई पिन से अकाउंट को करना होगा प्रमाणित
मेंडेट के आने से यूजर्स और व्यापारियों दोनों को इस सुविधा से लाभ हो सकता है। मेंडेट तुरंत जनरेट होता है, और पेमेंट अधिकृत तारीख पर स्वयं काट लिया जाता है। इसके लिए ग्राहकों को एक बार के लिए यूपीआई पिन के जरिए अपने अकाउंट को प्रभाणित करना होगा।

इससे बाद में मासिक भुगतान अपने आप से डेबिट हो जाएंगे। कुछ बैंक, व्यापारी और एग्रीगेटर पहले ही UPI AutoPay के साथ लाइव हो चुके हैं। इसमें एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, एचडीएफसी बैंक, एचएसबीसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीएफसी बैंक, रेजरपे , पेटीएम पेमेंट्स बैंक, ऑटोपे-दिल्ली मेट्रो, पेटीएम, पेयू जैसे आदि शामिल हैं। NPCI के मुताबिक जियो पेमेंट्स बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और येस बैंक जल्द ही UPI AutoPay के साथ लाइव होंगे।
 

अगली खबर