Twitter ने ठीक की अपनी तकनीकी 'खामी', असुविधा के लिए खेद जताया

Twitter की सेवाओं में गुरुवार को दुनिया भर में दिक्कत सामने आई। हजारों यूजर्स ने कहा कि उन्हें टाइमलाइन एक्सेस करने में परेशानी हुई। ट्विटर का कहना है कि वह इस खामी को दूर कर रहा है।

 Twitter services Down? Many Users complain Trouble in Accessing Timelines
दुनिया भर में Twitter की सेवाओं में आई 'दिक्कत'। 

नई दिल्ली : ट्विटर ने कहा है कि अपनी सेवा में आई तकनीकी खामी को उसने ठीक कर लिया है। अपने एक ट्वीट में ट्विटर सपोर्ट ने गुरुवार को कहा, 'और हम वापस आ गए। ट्विटर की सेवाएं यूजर्स को अब उम्मीद के मुताबिक मिलनी चाहिए। असुविधा के लिए हम खेद जताते हैं।' इसके पहले माइक्रोब्लागिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर की सेवाओं में तकनीकी दिक्कत सामने आई। ट्विटर के कई यूजर्स ने शिकायत की कि उन्हें पोस्टिंग, सर्चिंग और कंटेंट शेयर करने में परेशानी हो रही है।

ट्विटर पर सर्च करने पर साइट पर 'समथिंग वेंट रॉन्ग, ट्राय रि-लोडिंग' का संदेश दिखाई दिया। इस तकनीकी दिक्कत पर ट्विटर ने कहा, 'वेब पर कुछ लोगों के लिए प्रोफाइल ट्वीट्स लोड करने में दिक्कत हो रही होगी। हम इस खामी को दूर करने में जुटे हैं। हमसे जुड़े रहने के लिए आपका धन्यवाद!'   

अप्रैल महीने में भी आई थी परेशानी
निगरानी करने वाली वेबसाइट डाउनडिटेक्टर के मुताबिक 6000 ज्यादा यूजर्स ने शिकायत की कि उन्हें परेशानी हुई। इनमें से 93 प्रतिशत शिकायतें ट्विटर की वेबसाइट से जुड़ी थीं। ट्विटर की सेवाओं में परेशानी इस साल के अप्रैल महीने में भी आई थी। 

भारत सरकार के साथ ट्विटर का विवाद
भारत में सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के नए नियमों को लेकर ट्विटर और सरकार के बीच पिछले कुच महीनों से तनातनी चल रही है। ट्विटर का कहना है कि नए नियमों के पालन करने पर लोगों की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता बाधित होगी जबकि सरकार का कहना है कि राष्ट्रीय हित एवं लोगों के अधिकारों की सुरक्षा के लिए सोशल मीडिया कंपनियों को उसके इन नियमों का पालन करना जरूरी है। 

'कानूनी संरक्षण' का दर्जा खो चुका है ट्विटर
सरकार ने अपने नए नियमों का पालन करने के लिए 50 लाख से ज्यादा यूजर्स वाली सोशल मीडिया कंपनियों को 25 मई तक का समय दिया था। ट्विटर ने अभी तक नए नियमों का पूरी तरह से पालन नहीं किया है। नियमों का पालन नहीं करने पर ट्विटर का 'कानूनी संरक्षण' का दर्जा समाप्त हो गया है। यह दर्जा समाप्त होने के बाद आपत्तिजनक एवं हिंसा से जुड़े सामग्रियों के लिए ट्विटर के खिलाफ भारत में चार केस दर्ज हुए हैं। आईटी के नए नियमों के तहत सोशल मीडिया कंपनियों को भारत में शिकायत निवारण, अनुपालन एवं नोडल अधिकारियों की नियुक्ति करनी है। 
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर