ट्विटर ने बैन किए 46,000 से ज्यादा भारतीय अकाउंट्स, जल्दी चेक कर लें अपना खाता

रविवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार, Google इंडिया ने बाल यौन शोषण और हिंसक चरमपंथी कंटेंट जैसी हानिकारक सामग्री के प्रसार को रोकने के लिए मई में 3,93,303 खराब कंटेंट को ठीक किया।

Twitter banned more than 46000 Indian users accounts in May
यूजर्स ने दिशानिर्देशों का किया उल्लंघन, तो ट्विटर ने बैन कर दिए 46,000 अकाउंट्स (Pic: iStock) 

नई दिल्ली। माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter) ने हजारों भारतीयों के अकाउंट्स को बैन कर दिया है। मई में ट्विटर ने दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने की वजह से 46,000 से भी ज्यादा भारतीय यूजर्स के अकाउंट्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस संदर्भ में प्लेटफॉर्म ने अपनी मासिक अनुपालन रिपोर्ट में कहा कि ट्विटर ने बाल यौन शोषण, गैर-सहमति से न्यूडिटी और इसी तरह के कंटेंट की वजह से प्लेटफॉर्म से 43,656 अकाउंट्स को हटा दिया है। वहीं आतंकवाद को बढ़ावा देने की वजह से कंपनी ने 2,870 अकाउंट पर बैन लगा दिया है।

एक महीने में मिलीं 1,698 शिकायतें
दरअसल 26 अप्रैल 2022 से 25 मई 2022 के बीच माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर को अपने स्थानीय शिकायत तंत्र के माध्यम से भारत में 1,698 शिकायतें मिलीं। इनमें ऑनलाइन दुर्व्यवहार या उत्पीड़न की 1,366, घृणित कंडक्ट की 111, गलत सूचना और हेरफेर मीडिया की 36, संवेदनशील एडल्ट कंटेंट की 28, आदि शिकायतें शामिल हैं।

Twitter पर लंबे पोस्ट डालना जल्द हो सकता है संभव, कंपनी इस नए फीचर की कर रही है टेस्टिंग

यूनिफॉर्म रिसोर्स लोकेटर्स के खिलाफ कार्रवाई
इस अवधि के दौरान 1,621 यूनिफॉर्म रिसोर्स लोकेटर (URL) के खिलाफ कार्रवाई भी की गई। इसमें ऑनलाइन उत्पीड़न (1,077 मामले), घृणित आचरण (362 मामले) और संवेदनशील एडल्ट कंटेंट (154 मामले) मानदंडों का उल्लंघन करने वाले यूआरएल शामिल हैं। इसके अलावा ट्विटर ने 115 शिकायतों की भी कार्रवाई की, जिसमें अकाउंट सस्पेंशन की अपील की गई थी।

व्हाट्सएप ने लगाया 19 लाख से ज्यादा अकाउंट्स पर प्रतिबंध
शुक्रवार को मेटा (Meta) के स्वामित्व वाले व्हाट्सएप (WhatsApp) ने भी घोषणा की कि उसने नए आईटी नियम 2021 के तहत मई के महीने में भारत में 19 लाख से ज्यादा खराब अकाउंट्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। प्लेटफॉर्म ने अप्रैल महीने में भारत में 16.6 लाख से ज्यादा खराब अकाउंट्स पर प्रतिबंध लगा दिया था। कंपनी को देश के भीतर मई में 528 शिकायतें मिली थीं।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर