चार अंतरिक्ष यात्रियों के साथ अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन के लिए रवाना हुआ SpaceX रॉकेट

फ्लोरिडा के कैनेडी स्पेस सेंटर से रविवार को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए चार अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर स्पेसएक्स रॉकेट (SpaceX rocket) रवाना हुआ।

SpaceX launches four astronauts to International Space Station
4 अंतरिक्ष यात्रियों के साथ ISS के रवान हुआ स्पेसएक्स रॉकेट 

मुख्य बातें

  • नासा और स्पेसएक्स ने चार अंतरिक्ष यात्रियों के साथ शुरू किया अपना पहला वाणिज्यिक परिचालन
  • स्पेसएक्स रॉकेट ने अमेरिका के कैनेडी स्पेस सेंटर से भरी उड़ान
  • राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडने ने दी बधाई

फ्लोरिडा (अमेरिका): अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (NASA)और स्पेसएक्स (SpaceX) ने फ्लोरिडा में नासा के कैनेडी स्पेस सेंटर से अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर चार अंतरिक्ष यात्रियों के साथ अपना पहला वाणिज्यिक परिचालन चालक दल मिशन शुरू कर दिया है।  यह स्पेसएक्स की दूसरी मानव सहित उड़ान है। स्पेसएक्स एक स्पेस कंपनी है जो नासा के अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेस में ले जाने का काम करती है।  अमेरिका की उम्मीद है कि इस एक सफल परीक्षण उड़ान के बाद कई नियमित मिशन आगे भी जारी रहेंगे।

रूस पर निर्भरता हुई खत्म

तीन अमेरिकी नागरिक- माइकल हॉपकिंस, विक्टर ग्लोवर और शैनन वॉकर - और जापान के सोइची नोगुची ने फ्लोरिडा के केनेडी स्पेस सेंटर से रॉकेट में उड़ान भरी। इसके उड़ान भरने के साथ ही रूस पर अंतर्राष्ट्रीय निर्भरता का लगभग एक दशक समाप्त हो गया।

ट्रंप और बिडेन ने दी प्रतिक्रिया

अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन ने ट्विटर पर इस लॉन्च को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'विज्ञान की शक्ति का परीक्षण और हम अपने नवाचार, सरलता और दृढ़ संकल्प का उपयोग करके क्या हासिल कर सकते हैं।' जबकि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इसे "महान" कहा। उपराष्ट्रपति माइक पेंस, जिन्होंने अपनी पत्नी करेन के साथ लॉन्च में भाग लिया उन्होंने इसे 'अमेरिका में मानव अंतरिक्ष अन्वेषण में नया युग' कहा।

रॉकेट के दूसरे चरण से कैप्सूल सफलतापूर्वक अलग हो गया और, स्पेसएक्स टीम के एक सदस्य ने रेडियो पर बात करते हुए कहा कि सामान्य ऑरबिट प्रवेश कर गया है। जिसका अर्थ है कि रॉकेट अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (आईएसएस) तक पहुंचने के लिए फिलहाल सही राह पर है।

पहले पूरा हो चुका है डेमो मिशन

इससे पहले मई में, स्पेसएक्स ने एक डेमो मिशन पूरा किया था जिसमें दिखाया गया था कि वह अंतरिक्ष यात्रियों को आईएसएस में ले जा सकता है और उन्हें सुरक्षित रूप से वापस भी ला सकता है। इसके बाद एक ऐतिहासिक फैसला हुआ जब अमेरिका को एक बार फिर अपनी शक्ति के तहत अंतरिक्ष स्टेशन की यात्रा शुरू करने की अनुमति दी गई।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर