हैकर्स ने क्रिप्टो प्लेटफॉर्म का फायदा उठाकर 54 करोड़ डॉलर की ठगी की, जानें कैसे?

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि हैकर्स ने 'रेनब्रिज' का उपयोग कम से कम 54 करोड़ डॉलर की क्रिप्टो संपत्ति को लूटने के लिए किया है। रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि रेनब्रिज उन लोगों के बीच विशेष रूप से लोकप्रिय हो गया है जो चोरी की आय को लूटना चाहते हैं।

Photo For Representation
Photo Credit- iStock 

11 अगस्त: 2020 के बाद से चोरी, धोखाधड़ी, रैंसमवेयर और अन्य विभिन्न प्रकार की आपराधिक गतिविधियों से उत्पन्न क्रिप्टो संपत्ति में आधा अरब डॉलर से अधिक का शोधन किया गया है। एक नई रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है। ब्लॉकचैन विश्लेषण समूह एलिप्टिक की रिपोर्ट में कहा गया है कि विशेष रूप से एक क्रॉस-चेन ब्रिज 'रेनब्रिज' का उपयोग हैकर्स और धोखेबाजों द्वारा क्रिप्टो संपत्ति में कम से कम 54 करोड़ डॉलर को लूटने के लिए किया गया है।

क्रॉस-चेन ब्रिज क्रिप्टो एक्सचेंज जैसे केंद्रीकृत सेवा से गुजरे बिना, क्रिप्टो संपत्ति को ब्लॉकचेन के बीच स्थानांतरित करने की अनुमति देता है।

पोर्टल, सीब्रिज और साइनेप्स जैसी ब्रिज सेवाओं का उपयोग करके - बिटकॉइन, एथेरियम और अन्य ब्लॉकचेन के बीच अरबों डॉलर की संपत्ति हस्तांतरित की गई है।

रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है, "रेनब्रिज उन लोगों के बीच विशेष रूप से लोकप्रिय हो गया है जो चोरी की आय को लूटना चाहते हैं।"

पिछले दो वर्षो में रेनब्रिज के माध्यम से एक्सचेंजों और विकेन्द्रीकृत वित्त (डीएफआई) सेवाओं से कम से कम 26.72 करोड़ डॉलर की चोरी की गई क्रिप्टो संपत्ति को लॉन्डर किया गया है।

इसमें अगस्त 2021 में जापानी क्रिप्टो एक्सचेंज लिक्विड से 3.38 करोड़ डॉलर की चोरी शामिल है। रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्तर कोरिया से जुड़े हमले में कुल 9.7 करोड़ डॉलर की चोरी हुई।

कभी-कभी, ये चुराए गए फंड दूसरे क्रॉस-चेन ब्रिज से आते हैं।

टीम ने कहा, "अभी कुछ दिन पहले, नोमैड ब्रिज से 15.6 करोड़ डॉलर की चोरी हुई थी, एक बग की खोज के बाद जिसका कई लोगों ने शोषण किया था।"

घंटों बाद, चोरी किए गए धन को रेनब्रिज के माध्यम से भेज रहे थे।

अब तक, नोमैड से चुराई गई क्रिप्टो संपत्ति में 24 लाख डॉलर रेनब्रिज के माध्यम से भेजे गए हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है, "रेनब्रिज रूस से जुड़े रैंसमवेयर गिरोहों के लिए भी एक महत्वपूर्ण सूत्रधार है, जिसकी सेवा के माध्यम से आज तक 15.3 करोड़ डॉलर से अधिक की फिरौती का भुगतान किया गया है।"

रेनब्रिज जैसे ब्लॉकचैन ब्रिज नियामकों के लिए एक चुनौती है, क्योंकि कोई केंद्रीय सेवा प्रदाता नहीं है जो इन क्रॉस-चेन लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर