'नई प्राइवेट पॉलिसी पर 'चालाकी' कर रही वाट्सएप' नोटिफिकेशन भेजने से रोकें, केंद्र की कोर्ट से अपील 

हाई कोर्ट में दायर अपने हलफनामे में केंद्र सरकार ने दावा किया कि अपनी नई प्राइवेट पॉलिसी पर यूजर्स की सहमति पाने के लिए फेसबुक की स्वामित्व वाला मैसेजिंग एप 'एंटी यूजर्स तरीकों' का इस्तेमाल कर रहा है।

Centre urges Delhi HC to issue direction to WhatsApp to desist from 'push notifications'
वाट्सएप के नई प्राइवेट पॉलिसी पर केंद्र का हलफनामा। 

मुख्य बातें

  • वाट्सएप की नई प्राइवेट पॉलिसी पर दिल्ली हाई कोर्ट में केंद्र सरकार का हलफनामा
  • केंद्र सरकार ने कहा कि यूजर्स की सहमति पाने के लिए 'चालाकी' कर रही वाट्सएप
  • सरकार ने कोर्ट से कहा है कि वह पुश नोटिफिकेशन न भेजने के लिए वाट्सअप को निर्देश दे

नई दिल्ली : वाट्सएप की नई प्राइवेट पॉलिसी पर खड़ा विवाद थमता नहीं दिख रहा है। इस नई प्राइवेट पॉलिसी को लेकर केंद्र सरकार और वाट्सएप पिछले कुछ समय से आमने-सामने हैं। अब केंद्र सरकार दिल्ली हाई कोर्ट पहुंची है। हाई कोर्ट में दायर अपने नए हलफनामे में केंद्र सरकार ने गुरुवार को कहा कि वाट्सएप अपनी अपडेटेड प्राइवेट पॉलिसी पर यूजर्स की सहमति पाने के लिए 'चालाकी' कर रही है। केंद्र ने वाट्सएप पर 'एंटी-यूजर्स तरीका' अपनाने का आरोप लगाया है। वाट्सएप ने गत जनवरी में अपनी नई प्राइवेट पॉलिसी पेश की जिसके बाद केंद्र के साथ उसका विवाद चल रहा है। 

यूजर्स की सहमति पाने के लिए वाट्सअप कर रही 'चालाकी'
हाई कोर्ट में दायर अपने हलफनामे में केंद्र सरकार ने दावा किया कि अपनी नई प्राइवेट पॉलिसी पर यूजर्स की सहमति पाने के लिए फेसबुक की स्वामित्व वाला मैसेजिंग एप 'एंटी यूजर्स तरीकों' का इस्तेमाल कर रहा है। सरकार ने आरोप लगाया है कि नई पॉलिसी को यूजर्स से स्वीकार कराने के लिए वाट्सएप अपनी डिजिटल विशेषज्ञता का इस्तेमाल कर रही है।

affidavit
सरकार का कहना है कि इस नई प्राइवेट पॉलिसी पर भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग के 24 मार्च 2021 के आदेश के खिलाफ कंपनी यूजर्स को नोटिफिकेशन भेज रही है और उनसे अपनी प्राइवेट पॉलिसी स्वीकार करने के लिए कह रही है। 

नोटिफिकेशन भेजने पर रोक लगाए कोर्ट
केंद्र ने दिल्ली हाई कोर्ट से अनुरोध किया है कि वह वाट्सअप को निर्देश दे कि वह अपनी 2021 की अपडेटेड प्राइवेट पॉलिसी पर यूजर्स को 'पुश नोटिफिकेशन' मत भेजे। सरकार का कहना है कि वाट्सअप बढ़ी संख्या में रोजाना यूजर्स को नोटिफिकेशन भेज रही है।  

क्या है वाट्सएप की नई प्राइवेट पॉलिसी
अपनी प्राइवेट पॉलिसी पर वाट्सएप ने जो अपडेट किया है। अब उसके अनुसार कंपनी  अपने प्लेटफॉर्म पर होने वाले 'बिजनेस बातचीत' का इस्तेमाल विज्ञापन के लिए सोशल नेटवर्किंग कंपनियों के साथ करेगी। कंपनी का कहना है कि 'आप जब फोन, ई-मेल अथवा वाट्सएप के जरिए बिजनेस की कोई बातचीत करेंगे तो उसकी इस पर पहुंच होगी और वह इस बातचीत का इस्तेमाल अपने विज्ञापन उद्देश्यों के लिए कर सकती है।' वाट्सअप की दलील है कि दोस्तों और परिवार के साथ बातचीत कारोबार से अलग होती है। 

वाट्सअप ने कहा है कि वह अकाउंट डिलीट नहीं केरगी
वाट्सअप की इस नई प्राइवेट पॉलिसी पर सरकार और लोगों को आपत्ति है। कुछ दिनों पहले वाट्सअप ने कहा कि जो यूजर्स उसकी इस नई पॉलिसी को स्वीकार नहीं करेंगे, उनका अकाउंट वह डिलीट नहीं करेगी। इस नई प्राइवेट पॉलिसी को स्वीकार करने के बारे में याद दिलाने के लिए वाट्सअप यूजर्स को नोटिफिकेशन भेज रही है। कंपनी का कहना है कि यूजर्स यदि वाट्सएप के सभी फीचर्स का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो उन्हें नई प्राइवेट पॉलिसी को स्वीकार करना होगा। 

 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर