16 जून से 31 जुलाई के बीच व्हाटसएप ने तीस लाख से अधिक खातों पर लगाया बैन, यह है वजह

व्हाट्सएप का कहना है कि उसकी तरफ से 16 जून से लेकर 31 जुलाई की अवधि में तीस लाख से अधिक खातों पर बैन लगाया गया है।

whatsapp account, whatsapp account ban. whatsapp content, whatsapp account number, whatsapp content ban
16 जून से 31 जुलाई के बीच व्हाटसएप में ने तीस लाख से अधिक खातों पर लगाया बैन, यह है वजह 

मुख्य बातें

  • 30 लाख से अधिक खातों पर व्हाटसएप की कार्रवाई
  • प्लेटफार्म के जरिए आपत्तिजनक संदेशों को भेजने के मामले में कार्रवाई
  • नए आईटी नियमों के तहत सोशल मीडिया कंपनियों को ऐहतियात बरतने की है हिदायत

व्हाट्सएप ने 16 जून से 31 जुलाई 2021 तक 46 दिनों की अवधि में मैसेजिंग सेवा पर 30 लाख से अधिक भारतीय खातों पर प्रतिबंध लगा दिया, फर्म ने नए सूचना प्रौद्योगिकी नियम, 2021 के तहत अपनी दूसरी अनुपालन रिपोर्ट में कहा। मैसेजिंग क्षेत्र में  दिग्गज व्हाट्सएप ने रिपोर्ट में कहा कि उसे खाता समर्थन के लिए 137 रिपोर्ट मिलीं, जिनमें से एक पर कार्रवाई की गई, और खातों पर प्रतिबंध लगाने के लिए 316 से अधिक आग्रह किए गए  जिनमें से 73 पर कार्रवाई की गई। रिपोर्ट की गई अवधि में इसने कुल 3,027,000 खातों पर प्रतिबंध लगा दिया।

आपत्तिजनक कंटेट मामले में एक्शन
व्हाट्सएप द्वारा इन खातों पर बैन लगाने के पीछे नुकसानदेह कंटेंट शेयर करना बताया है। बैन किए गए खाते  स्पैम फैलाते थे।  इसके साथ ही उन खातों पर भी कार्रवाई की गई है जिसे लेकर शिकायत की गई थी। कुछ खातों को आपत्तिजनक संदेश की वजह से बैन किया गया।
वैसे तो व्हाट्सएप की पहले से ही प्राइवेसी पॉलिसी हैं। लेकिन आईटी नियम के सख्त होने के बाद कार्रवाई की रफ्तार में भी बढ़ोतरी हुई है। अगर कोई शख्स दूसरे यूजर्स को  स्पैम मैसेज भेजते हैं तो अकाउंट पर प्रतिबंध लग सकता है।  इसके साथ ही अगर हिंसा भड़काने वाले या संदेशों के खिलाफ भी सख्त कदम उठाए जाने का प्रावधान है। 

खाते को रखना है सुरक्षित तो आपत्तिजनक कंटेंट से बचें
अगर कोई शख्स इस प्लेटफॉर्म पर किसी को डराने या धमकाने का काम करता है तो भी खाते पर बैन लगाया जा सकता है। अपने खाते को सेफ रखने के लिए या बैन से बचाने के लिए यह सुनिश्चित करें कि आप किसी तरह के भड़काऊं संदेशों को स्थान ना दें। किसी भी यूजर को गैर जरूरी मैसेज न भेंजे। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर